दिल्ली के जंतर मंतर पर पहलवानों की प्रेस कॉन्फ्रेंस
दिल्ली के जंतर मंतर पर पहलवानों की प्रेस कॉन्फ्रेंसSocial Media

दिल्ली के जंतर मंतर पर पहलवानों की प्रेस कॉन्फ्रेंस और दिया यह बयान

दिल्ली के जंतर मंतर पर पहलवानों का धरना प्रदर्शन रूक ही नहीं रहा है, इस बीच अब विरोध कर रहे पहलवानों की ओर से प्रेस कॉन्फ्रेंस कर दिया यह बयान...

दिल्ली, भारत। दिल्ली के जंतर मंतर पर भारतीय कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह पर यौन शोषण और तानाशाही रवैया अपनाने के आरोप के बाद से पहलवानों का धरना प्रदर्शन रूक ही नहीं रहा है, इस बीच अब विरोध कर रहे पहलवानों की ओर से प्रेस कॉन्फ्रेंस की गई है।

प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान खिलाड़ियों ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि, ''हम देश के लिए खेलते हैं ना कि किसी जाति के लिए। हम ट्रायल में प्रूफ करके खेलने जाते है। प्रदर्शन कर रहे पहलवान देश के लिए मेडल लाने वाले खिलाड़ी हैं। हमारी मांगे सभी खिलाड़ियों के हितों के लिए है। हम कानून का सहारा लेकर चलेंगे।''

यह है पहलवानों की मांग :

दरअसल, पहलवानों द्वारा यह मांग की गई है कि, ''हम देश के लिए लड़ते हुए मेडल लाने में सक्षम हूं तो हम अपने हक के लिए भी लड़ सकते है। हम कानून के दायरे में रहते हुए चल रहे है। हमारी मांग सिर्फ फेडरेशन को भंग किए जाने की है। हम भी प्रदर्शन को खत्म करना चाहते है।''

हमारे यहां बैठने से हमारी ट्रेनिंग खराब हो रही है। हम यहां बैठना नहीं चाहते है। खिलाड़ियों के लिए ये वर्ष बहुत अहम है। फेडरेशन के अध्यक्ष इस मामले को राजनीतिक रंग देने की कोशिश में लगे हैं, मगर हम कोई राजनीतिकरण नहीं चाहते। हमारी सिर्फ फेडरेशन से लड़ाई है ना कि सरकार से। हमारा प्रधानमंत्री, खेल मंत्री और गृह मंत्री से निवेदन है कि, हमारी मांगों को जल्दी सुना जाए।

बजरंग पुनिया

  • हमने अपनी मांगों को सरकार के सामने रख दिया है। सरकार की तरफ से हमें आश्वासन मिला है।

  • हमारी मांगे पूरी होते ही हम यहां से उठकर चले जाएंगे। हम खिलाड़ी हैं, हमारी मांगों में किसी तरह की राजनीति नहीं है बल्कि खिलाड़ियों के हितों की बात है।

  • विरोध कर रहे पहलवानों ने शुक्रवार को भारतीय ओलंपिक संघ से भारतीय कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष के खिलाफ यौन उत्पीड़न के आरोपों की जांच के लिए जांच समिति के गठन की मांग की है।

बता दें कि, इसी के एक दिन पहले पहलवानों ने खेल प्रशासक के खिलाफ कई एफआईआर दर्ज कराने की धमकी देते हुए आईओए अध्यक्ष पीटी उषा को पत्र लिख कर पहलवानों ने कहा कि, "उनके कई युवा साथियों ने उन्हें बृज भूषण शरण सिंह के हाथों यौन उत्पीड़न का सामना करने के बारे में सूचित किया है।" इस पत्र पर 5 पहलवानों के हस्ताक्षर हैं, जिसमें टोक्यो ओलंपिक के पदक विजेता रवि दहिया और बजरंग पूनिया भी शामिल हैं।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस यूट्यूब चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। यूट्यूब पर @RajExpressHindi के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co