UP Balrampur Gang Rape Case
UP Balrampur Gang Rape Case|Social Media
भारत

UP: बलरामपुर में मनचलों ने की छात्रा के साथ मनमानी, हुई पीड़िता की मौत

अभी हाथरस के मामले के आरोपियों को सजा मिल भी नहीं पाई है और अब UP के ही बलरामपुर से 22 साल की कॉलेज दलित छात्रा के साथ एक अन्य गैंगरेप का मामला सामने आगया है।

Kavita Singh Rathore

Kavita Singh Rathore

उत्तर प्रदेश। आज उत्तर प्रदेश तो मानों अपराधों का अड्डा बनता जा रहा है। अभी हाथरस में हुए रेप मामले में अपराधियों को सजा मिल भी नहीं पाई थी कि, अब UP के ही बलरामपुर से एक अन्य गैंगरेप का मामला सामने आगया है। इस मामले में एक 22 साल की कॉलेज दलित छात्रा के साथ 2 आरोपियों ने दुष्कर्म किया।

बलरामपुर गेंग रेप का मामला :

दरअसल, हाथरस के बाद अब UP के बलरामपुर जिले के गैंसड़ी इलाके से एक गेंग रेप का मामला सामने आया है। यहां, 2 आरोपियों ने मिलकर पहले छात्रा को किडनैप कर किसी नशीले पदार्थ का इंजेक्शन दिया जिससे वह बेहोश हो गई। बेहोश हो जाने के बाद दोनों दरिंदो ने छात्र के साथ अपनी मन मर्जी चलाई। इन दोनों आरोपियों के द्वारा किये गए दुष्कर्म के चलते छात्र की हालत इतनी गंभीर हो गई थी, कि उसकी मौत हो गई। हालांकि, पुलिस ने घटना की जानकारी मिलते ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

क्या है मामला ?

खबरों के अनुसार, छात्र मंगलवार की सुबह करीब 10 बजे अपने कॉलेज की फीस जमा कराने के लिए घर से निकली थी। जब शाम तक वह घर नहीं लौटी तो, घरवालों ने परेशान होकर उसे फोन किया, जो कि बंद था। घर वाले परेशान होकर छात्रा की तलाश करने लगे तभी शाम क करीब 7 बजे युवती बुरी हालत में रिक्शे से घर पहुंची। जब घर वालों ने अपनी बेटी की हालत देखी तो वह भौंचक्का रह गए, क्योंकि बेटी के हाथ में कैनुला लगा था और वह बेहोशी के कारण सही से खड़ी तक नहीं हो पा रही थी। छात्रा के घर वाले तुरंत उसे पास के डॉक्टर के पास ले गए, लेकिन डॉक्टर ने छात्रा को लखनऊ रिफर कर दिया। लखनऊ ले जाते समय छात्रा की रस्ते में ही मौत हो गई।

दोनों आरोपी गिरफ्तार :

पुलिस ने इस मामले की जांच के दौरान दोषी पाए गए साहिल और शाहिद नाम के दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। फिहल यह पुलिस की कस्टडी में हैं और इनके खिलाफ गैंगरेप और हत्या का मामला दर्ज कर आगे की कार्यवाही की जा रही हैं। पुलिस ने बताया कि, आरोपियों ने गैंसड़ी गांव की एक किरणे की दुकान के पीछे बने एक कमरे में इस वारदात को अंजाम दिया है, छात्रा की सैंडल कमरे के बाहर पाई गई हैं।

दुकान मालिक ने बयाना था प्लान :

पुलिस के अनुसार किराना दुकान का मालिक के प्लान पर ही यह दुष्कर्म हुआ और जब आरोपियों द्वारा किए गए दुष्कर्म और मारपीट से लड़की बुरी तरह घायल हो गई तो वहीँ, पास के एक डॉक्टर को बुलाकर आरोपियों ने लड़की का इलाज करवाया और उसे रिक्शे में बिठा कर छोड़ दिया। पुलिस ने डॉक्टर का भी बयान दर्ज कर लिया हैं।

डॉक्टर का बयान :

डॉक्टर ने बताया कि, "साहिल नामक एक लड़के का करीब शाम 5 बजे फोन आया था। वहीं, मुझे शाहिद की दुकान ले गया और बोले फैमिली मेंबर को देख लीजिए। वहां, मैंने देखा कि, एक लड़की कमरे में अकेली थी इस पर मैंने पूछा यह कौन हैं तो, उन्होंने कहा कि, सरकारी सचिव की बेटी है। इस पर मैंने कहा कि, जब तक कोई महिला या बड़ा व्यक्ति नहीं आता, मैं इलाज नहीं कर सकता। उसके बाद उन्होंने मुझे कहा कि, ठीक हैं आप अपने क्लीनिक जाइए, हम सेक्रेटरी को फोन कर लड़की को वहीं पर ले आएंगे। उसके बाद मुझे पता नहीं वे कहां गए।"

पुलिस पर लग रहे मामला दबाने के आरोप :

खबरों के अनुसार, हाथरस के मामले की तरह ही इस मामले में भी पुलिस ने छात्रा के अंतिम संस्कार में जल्दबाजी दिखाई। बलरामपुर की पीड़िता का अंतिम संस्कार पुलिस के सामने ही मंगलवार की रात किया गया। इसी के चलते पुलिस पर मामला दबाने की कोशिश के आरोप लग रहे हैं।

लड़की की मां ने बताया :

लड़की की मां ने बताया कि, 'उनकी बेटी जब कॉलेज से लौट रही थी, तो रस्ते में ही कुछ लोगों ने से कार में अगवा कर लिया। उसके बाद उसे किसी नशीला पदार्थ का इंजेक्शन देकर उसके साथ मनमानी की। इन आरोपियों ने बेटी की कमर और पैर तोड़ दिए, जिससे वह न खड़ी हो पा रही थी और न ही कुछ सही से बोल पा रही थी। बेटी ने बस इतना कहा था कि, 'पेट में बहुत तेज जलन हो रही है, हम मर जाएंगे।'

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co