प्रधानमंत्री के जन्मदिन तक राज्य के 51 हजार घरों में पानी पहुंचाने का लक्ष्य : स्वतंत्रदेव सिंह
प्रधानमंत्री के जन्मदिन तक राज्य के 51 हजार घरों में पानी पहुंचाने का लक्ष्य : स्वतंत्रदेव सिंह Social Media

प्रधानमंत्री के जन्मदिन तक राज्य के 51 हजार घरों में पानी पहुंचाने का लक्ष्य : स्वतंत्रदेव सिंह

उत्तर प्रदेश राज्य के सिंचाई एवं जल संसाधन मंत्री स्वतंत्रदेव सिंह ने शुक्रवार को कहा कि प्रधानमंत्री के जन्मदिन 17 सितंबर को राज्य में 51 हजार घरों में नल से जल पहुंचाने का लक्ष्य विभाग ने लिया है।

झांसी। उत्तर प्रदेश की वीरांगना नगरी झांसी आये राज्य के सिंचाई एवं जल संसाधन मंत्री स्वतंत्रदेव सिंह ने शुक्रवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन 17 सितंबर को राज्य में 51 हजार घरों में नल से जल पहुंचाने का लक्ष्य विभाग ने लिया है। यहां सर्किट हाउस में सिंचाई विभाग की विभिन्न योजनाओं की समीक्षा के बाद संवाददाताओं से बातचीत में सिंचाई मंत्री ने कहा '' राज्य के अंदर 2024 सभी घरों में टोंटी लगाकर नल से शुद्ध जल देना है। प्रधानमंत्री नरेंद मोदी जी के द्वारा लायी गयी हर घर नल से जल योजना दुनिया की सबसे बड़ी योजना है । यह सपना साकार होगा, 17 सितंबर को प्रधानमंत्री मोदी का जन्मदिन है और हमारा प्रयास है कि इस दिन राज्य में कम से कम 51 हजार घरों में पानी पहुंचा दिया जाए । इसके लिए काम किया जा रहा है। उनका जन्मदिन सेवा समर्पण के रूप में मनाया जायेगा और इस दिन तक 51 हजार घरों में पानी पहुंचान का लक्ष्य विभाग द्वारा लिया गया है। ''

उन्होंने कहा कि बुंदेलखंड की जो महिलाएं पांच से दस-दस किलोमीटर से सिर पर मटका रख पानी लेकर आतीं थीं उनके लिए आज भी समस्याएं हैं, लेकिन इसे जल्द से जल्द दूर करने के लिए लगातार काम किया जा रहा है। रात दिन काम किया जा रहा है और कोशिश की जा रही है कि अधिक से अधिक घरों में 2022 में पानी पहुंचा दिया जाए और जो शेष बचे रहे वहां 2023 तक काम पूरा कर दिया जाए। उत्तर प्रदेश के सभी जिलों में से सबसे पहले बुंदेलखंड और विंध्य क्षेत्र में पानी पहुंचाएं जाने को लेकर लगातार प्रयास किये जा रहे हैं।

उन्होंने बताया कि जलापूर्ति के साथ साथ जलसंरक्षण के लिए भी सभी को काम करना चाहिए। पीने के लिए मंगाये गये पानी का आधा गिलास पीकर आधा छोडना या पानी की बोतल आधी फेंक देना यह सभी काम पानी के संरक्षण के संदर्भ में बहुत खराब हैं। लोगों का जलसंरक्षण के लिए छोटे छोटे उपाय करना बहुत जरूरी है। एक बूंद भी पानी बरबाद नहीं किया जाना चाहिए। वर्षा जल का संचय भी बहुत जरूरी है इसके लिए भी लोगों को अपने घर में उपाय करने चाहिए। खेत का पानी खेत में और घर का पानी घर में रोककर भूमिगत जलस्तर में सुधार किया जा सकता है। जिले में चल रही पेयजल योजनाओं की धीमी रफ्तार को लेकर पूछे गये सवाल के जवाब में श्री सिंह ने कहा '' हमारे सिंचाई विभाग की जल जीवन मिशन के तहत जो भी ग्रामीण पेयजल योजनाएं चल रहीं हैं वह लगभग समय से पूर्ण होंगी। कोरोना के कारण मजदूरों की कमी और कंपनियों को परेशानियों का सामना करना पड़ा, लेकिन एक बार फिर से सभी योजनाएं तेेजी से आगे बढ़ायी जा रहीं हैं।''

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co