मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथSocial Media

मुख्यमंत्री योगी ने सूखे की स्थिति के आकलन के लिए प्रदेश के सभी जनपदों के सर्वेक्षण के दिए निर्देश

लखनऊ, उत्तर प्रदेश : सभी जिलाधिकारियों द्वारा एक सप्ताह में सर्वेक्षण की रिपोर्ट प्रस्तुत की जाए, इसमें शिथिलता अथवा देरी होने पर जिलाधिकारी की जवाबदेही तय की जाएगी।

लखनऊ, उत्तर प्रदेश। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सूखे की स्थिति के आकलन के लिए प्रदेश के सभी जनपदों के सर्वेक्षण के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि सर्वेक्षण कार्य के लिए सभी 75 जनपदों में 75 टीमें लगायी जाएं। सभी जिलाधिकारी सम्बन्धित जनपदों में टीम गठित करें। जनपद के एक अपर जिलाधिकारी, जिला कृषि अधिकारी, जिला उद्यान अधिकारी तथा एक तहसील स्तरीय अधिकारी टीम में सम्मिलित किये जाएं। सभी जिलाधिकारियों द्वारा एक सप्ताह में सर्वेक्षण की रिपोर्ट प्रस्तुत की जाए। इस कार्य में शिथिलता अथवा देरी होने पर जिलाधिकारी की जवाबदेही तय की जाएगी।

प्रदेश के 62 जनपदों में औसत से कम बारिश, इन परिस्थितियों में अन्नदाता किसानों को अतिरिक्त सहायता देकर राहत पहुंचाना आवश्यक है।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

मुख्यमंत्री आज यहां अपने सरकारी आवास पर एक उच्चस्तरीय बैठक में प्रदेश में मानसून की स्थिति की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रदेश के 62 जनपदों में औसत से कम बारिश हुई है। इन परिस्थितियों में अन्नदाता किसानों को अतिरिक्त सहायता देकर राहत पहुंचाना आवश्यक है। इसलिए प्रभावित जनपदों में अग्रिम आदेशों तक भू-राजस्व एवं राजकीय नलकूपों से सिंचाई की वसूली स्थगित रखी जाए। किसानों के ट्यूबवेल के बिजली कनेक्शन भी नहीं काटे जाएं।

मुख्यमंत्री ने कहा है कि किसानों को दलहन, तिलहन और सब्जी के बीज उपलब्ध कराए जाएं। उन्होंने सिंचाई विभाग को नहरों में पानी की उपलब्धता बनाए रखने तथा बिजली विभाग को ग्रामीण क्षेत्रों में विद्युत आपूर्ति बढ़ाने के भी निर्देश दिए हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co