UP के CM योगी ने छात्र-छात्राओं के अभिभावकों के खाते में धनराशि की ट्रांसफर

UP के CM योगी ने छात्र-छात्राओं को ड्रेस, स्वेटर, स्कूल बैग, जूता-मोजा एवं स्टेशनरी क्रय हेतु धनराशि अभिभावकों के बैंक खाते में DBT के माध्यम से अंतरण प्रक्रिया का शुभारंभ किया।
UP के CM योगी ने अभिभावकों के खाते में धनराशि की ट्रांसफर
UP के CM योगी ने अभिभावकों के खाते में धनराशि की ट्रांसफरSocial Media

उत्‍तर प्रदेश, भारत। उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने आज सोमवार को 1.91 करोड़ छात्र-छात्राओं को ड्रेस, स्वेटर, स्कूल बैग, जूता-मोजा एवं स्टेशनरी क्रय हेतु प्रति छात्र-छात्रा 1,200 रूपए की धनराशि उनके अभिभावकों के बैंक खाते में डीबीटी के माध्यम से अंतरण प्रक्रिया का शुभारंभ किया।

CM योगी का संबोधन :

बेसिक शिक्षा परिषद के विद्यालयों के छात्र-छात्राओं के अभिभावकों के बैंक खाते में DBT के जरिए 1,200 की धनराशि ट्रांसफर करने के बाद CM योगी आदित्‍यनाथ ने अपना संबोधन दिया और कहा- प्रदेश के 1.91 करोड़ बच्चों को उनके यूनिफॉर्म, बैग, स्टेशनरी, स्वेटर आदि के लिए DBT के माध्यम से धनराशि अंतरण के आज के इस कार्यक्रम के अवसर पर मैं सबसे पहले बेसिक शिक्षा परिषद को इस पूरे कार्यक्रम के लिए हृदय से धन्यवाद देता हूं।

अप्रैल माह के प्रथम सप्ताह में हम लोगों ने 'स्कूल चलो अभियान' प्रारंभ किया था। मुझे प्रसन्नता है कि इस अवसर पर मुझे एक आकांक्षात्मक जनपद श्रावस्ती में जाने का अवसर प्राप्त हुआ था। 'स्कूल चलो अभियान' के अच्छे परिणाम सामने आए हैं। हमने स्कूल चलो अभियान 2017 में शुरू किया था, हमने बेसिक और माध्यमिक शिक्षा परिषद के स्कूलों में 1,62,000 शिक्षकों की तैनाती की थी।

उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ

हम अच्छी शिक्षा प्राप्त करने के हकदार हैं :

CM योगी ने बताया कि, ''ऑपरेशन कायाकल्प में बहुत सारे विद्यालय दर्शनीय हुए हैं और आज बेसिक शिक्षा परिषद का हर छात्र-छात्रा इस बात पर गौरव की अनुभूति कर सकते हैं कि हम भी किसी पब्लिक, कान्वेंट स्कूल की तर्ज पर अच्छी शिक्षा प्राप्त करने के हकदार हैं।''

कोविड महामारी से प्रत्येक क्षेत्र प्रभावित हुआ है :

आगे उन्‍होंने अपने संबोधन में कोविड महामारी का जिक्र करते हुए यह बात भी कही कि, ''कोविड महामारी से प्रत्येक क्षेत्र प्रभावित हुआ है, लेकिन सर्वाधिक प्रभावित होने वाला क्षेत्र शिक्षा है और उसमें भी बेसिक शिक्षा। यद्यपि सरकार ने अपने स्तर पर प्रयास किया। दूरदर्शन के माध्यम से पाठ्यक्रम व कंटेंट प्रस्तुत किए गए।''

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co