हमने वचन निभाया और मंदिर वहीं बनाया, आज 'भव्य-नव्य-दिव्य' अयोध्या देखकर हर व्यक्ति अभिभूत: CM योगी

उत्तर प्रदेश विधानसभा के बजट सत्र 2024-25 के अंतर्गत राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के अभिभाषण (धन्यवाद प्रस्ताव) पर चर्चा के दौरान CM योगी आदित्यनाथ ने कही ये बातें...
हमने वचन निभाया और मंदिर वहीं बनाया, आज 'भव्य-नव्य-दिव्य' अयोध्या देखकरहर व्यक्ति अभिभूत: CM योगी
हमने वचन निभाया और मंदिर वहीं बनाया, आज 'भव्य-नव्य-दिव्य' अयोध्या देखकरहर व्यक्ति अभिभूत: CM योगीRaj Express
Submitted By:
Priyanka Sahu

हाइलाइट्स :

  • उत्तर प्रदेश विधानसभा के बजट सत्र के दौरान CM योगी का भाषण

  • आज देश और दुनिया का हर व्यक्ति उत्तर प्रदेश आने के लिए तैयार बैठा है: CM योगी

UP Yogi Budget 2024: उत्तर प्रदेश विधानसभा के बजट सत्र 2024-25 के अंतर्गत राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के अभिभाषण (धन्यवाद प्रस्ताव) पर चर्चा के दौरान मुख्‍यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा, महर्षि वेदव्यास जी ने कहा था...धर्म से ही अर्थ और काम की प्राप्ति होती है। इसलिए क्यों नहीं धर्म के मार्ग पर चलते हो। पर कोई मेरी सुनता ही नहीं। यह केवल वेदव्यास जी की पीड़ा नहीं थी। वर्ष 2014 के पहले पूरे देश की और वर्ष 2017 के पहले पूरे उत्तर प्रदेश की भी यही पीड़ा थी। आज देश और दुनिया का हर व्यक्ति उत्तर प्रदेश आने के लिए तैयार बैठा है।

CM योगी ने कहा कि, ''हमने वचन निभाया और मंदिर वहीं बनाया... आज 'भव्य-नव्य-दिव्य' श्री अयोध्या जी को देखकर के हर व्यक्ति अभिभूत है। 31 हजार करोड़ से अधिक के प्रोजेक्ट अयोध्या में चल रहे हैं। इसमें धर्मपथ, श्रीराम पथ, भक्ति पथ, जन्मभूमि पथ का निर्माण कार्य पूरा हो चुका है। सिंगल लेन की सड़कें 4 लेन की हो गई हैं। वहां पर रामघाट-नया घाट नए स्वरूप में आ चुके हैं।''

हमारी आस्था थी, नीति भी साफ थी और नीयत भी बहुत स्पष्ट थी... अगर मैं श्री अयोध्या जी व काशी गया हूं, तो नोएडा और बिजनौर भी गया हूं। श्री अयोध्या जी का भव्य दीपोत्सव जो आज राष्ट्रीय आयोजन बन चुका है, उसको शुरू करने का सौभाग्य हमारी UP सरकार को प्राप्त हुआ।

उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ

  • अयोध्या की गलियों में गोलियों की तड़तड़ाहट होती थी, परिक्रमाएं प्रतिबंधित होती थीं, कर्फ्यू लगता था। अयोध्या आने वाले देश के किसी व्यक्ति ने अगर रामनामी गमछा ओढ़ा होता था, तो उसे गिरफ्तार करके जेल में बंद कर दिया जाता था।

  • 2019 का प्रयागराज महाकुंभ आयोजित कराने का सौभाग्य हमारी सरकार को मिला था। 15 जनवरी से 4 मार्च 2019 तक 24 करोड़ से अधिक श्रद्धालुओं ने प्रयागराज कुंभ में आकर एक नया कीर्तिमान स्थापित किया।

  • 2017 से पहले उत्तर प्रदेश में जिन लोगों ने शासन किया, वे उत्तर प्रदेश को कहां लेकर गए? उन्होंने उत्तर प्रदेश वासियों के सामने पहचान का संकट खड़ा कर दिया था। यहां का नौजवान पहचान छिपाने के लिए मजबूर था... नौजवान कहीं जाता था तो नौकरी नहीं मिलती थी। किराए पर कमरे की बात तो दूर होटल और धर्मशालाओं में भी कमरे नहीं मिल पाते थे और आज उत्तर प्रदेश ने 22 जनवरी 2024 की घटना को भी देखा है।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

और खबरें

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co