लखनऊ के अंबेडकर पार्क से हाथी की मूर्ति चोरी, मायावती ने ट्वीट कर कहा- 'यह शर्मनाक है'

राजधानी लखनऊ (Lucknow) के अंबेडकर पार्क (Ambedkar Park) से हाथी की मूर्ति चोरी हो गई। इस मामले में पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। अब इस पर मायावती (Mayawati) ने अपनी प्रतिक्रिया दी है।
लखनऊ के अंबेडकर पार्क से हाथी की मूर्ति चोरी
लखनऊ के अंबेडकर पार्क से हाथी की मूर्ति चोरीSocial Media

लखनऊ, भारत। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ (Lucknow) से एक बड़ी खबर सामने आई है। लखनऊ के अंबेडकर पार्क (Ambedkar Park) से हाथी की मूर्ति चोरी हो गई। इस मामले में पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। चोरी की घटना होने से यहां हड़कंप मचा हुआ है। वहीं, इस घटना पर बहुजन समाज पार्टी (बसपा) सुप्रीमो मायावती (Mayawati) ने अपनी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने ट्वीट करते हुए इस घटना को शर्मनाक बताया।

CCTV लगे होने के बावजूद हुई चोरी:

बता दें कि, उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में अंबेडकर पार्क से हाथी की मूर्ति चोरी हो गई। हाईटेक सुरक्षा व्यवस्था के बावजूद चोरी की यह घटना हुई है। बता दें, पार्क के मेन गेट पर सीसीटीवी कैमरे लगे हुए हैं। इन कैमरों की फुटेज तलाशकर चोरी की पड़ताल की जा रही है। रोज दोनों समय हाथियों के मूर्ति की गिनती की जाती है। इसका रिकॉर्ड उच्चाधिकारियों को उपलब्ध कराया जाता है।

जानकारी के लिए बता दें कि, लखनऊ के गोमती नगर में 1090 चौराहा स्थित अंबेडकर पार्क के फौव्वारे में हाथियों की कई मूर्तियां लगी हैं। एडीसीपी सेंट्रल जोन राघवेंद्र मिश्रा के मुताबिक, हाथी की मूर्ति चोरी हुई है। इस मामले की गंभीरत से जांच की जा रही है। मौके पर लगे सीसीटीवी फुटेज भी खंगाला जा रहा है। जल्द ही चोर को गिरफ्तार किया जाएगा।

मायावती ने ट्वीट कर कही यह बात:

वहीं, चोरी की घटना मायावती ने ट्वीट करते हुए कहा कि, "देश में उपेक्षित/तिरस्कृत दलित व अन्य पिछड़े वर्ग में जन्मे महान संतों, गुरुओं, महापुरुषों के आदर-सम्मान में यूपी में बीएसपी सरकार द्वारा निर्मित भव्य डा. भीमराव अम्बेडकर सामाजिक परिवर्तन स्थल क्षेत्र जो पर्यटन का मुख्य केन्द्र है वहां लगी हाथी की मूर्ती का चोरी होना शर्म व चिन्ता की बात।"

मायावती ने अपने दूसरे ट्वीट में कहा कि, "पहले सपा और अब भाजपा सरकार में भी बसपा सरकार द्वारा निर्मित भव्य स्थलों और स्मारकों के सरंक्षण,सुरक्षा और रखरखाव में की जा रही उपेक्षा अति चिंतनीय है, जबकि ये पर्यटन आय का स्रोत हैं। श्रीकांशीराम स्मारक स्थल और अन्यत्र हो रहे कार्य भी काफी ढीले चल रहे हैं। सरकार ध्यान दे।"

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co