डिप्टी CM केशव प्रसाद मौर्य
डिप्टी CM केशव प्रसाद मौर्यRE

कांग्रेस द्वारा 'प्राण प्रतिष्ठा' के निमंत्रण को अस्वीकार करने पर बोले केशव प्रसाद- जनता उन्हें ठुकरा देगी

कांग्रेस द्वारा राम मंदिर 'प्राण प्रतिष्ठा' का निमंत्रण को अस्वीकार करने पर केशव प्रसाद मौर्य ने बयान जारी किया है। उन्होंने कहा कि, अगर उन्होंने निमंत्रण को ठुकराया है तो जनता उन्हें ठुकरा देगी।

हाइलाइट्स-

  • कांग्रेस ने अस्वीकार किया राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा का न्योता।

  • कांग्रेस द्वारा राम मंदिर 'प्राण प्रतिष्ठा' का निमंत्रण को अस्वीकार करने पर केशव प्रसाद मौर्य का बयान।

  • केशव प्रसाद मौर्य ने कहा- अगर उन्होंने निमंत्रण को ठुकराया है तो जनता उन्हें ठुकरा देगी।

लखनऊ, उत्तर प्रदेश। कांग्रेस ने राम मंदिर 'प्राण प्रतिष्ठा' कार्यक्रम में जाने का न्योता अस्वीकार कर दिया है। पार्टी की तरफ से बयान जारी किया गया है। इसमें कहा गया है कि, राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम का न्योता सम्मानपूर्वक अस्वीकार कर दिया है। 22 जनवरी को होने वाले इस कार्यक्रम में सोनिया गांधी और मल्लिकार्जुन खड़गे समेत कांग्रेस का कोई भी नेता अयोध्या नहीं जाएगा। जिसके बाद कांग्रेस द्वारा राम मंदिर 'प्राण प्रतिष्ठा' का निमंत्रण को अस्वीकार करने पर केशव प्रसाद मौर्य ने बयान जारी किया है।

केशव प्रसाद मौर्य ने कही यह बात:

कांग्रेस द्वारा राम मंदिर 'प्राण प्रतिष्ठा' के निमंत्रण को अस्वीकार करने पर उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि, "अगर उन्होंने निमंत्रण को ठुकराया है तो जनता उन्हें ठुकरा देगी। निमंत्रण भाजपा ने दिया है, श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने दिया है और उसे नकारने से उनका रामद्रोही आचरण प्रकट होता है। उनका ऐसा निर्णय निश्चित तौर से विनाशकाले विपरीत बुद्धि है।"

वहीं, कांग्रेस द्वारा राम मंदिर 'प्राण प्रतिष्ठा' के निमंत्रण को अस्वीकार करने पर कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री डीवी सदानंद गौड़ा ने कहा कि, "पहले दिन से हम कांग्रेस के लोगों को देख रहे हैं, वे देश भर में हिंदू धर्म और हिंदू गतिविधियों के खिलाफ हैं। अयोध्या के श्री राम किसी एक समुदाय के भगवान नहीं हैं। कांग्रेस पहले दिन से ही इसका विरोध कर रही थी, सुप्रीम कोर्ट में इसका विरोध करने से लेकर वे इन चीजों के बारे में टिप्पणी कर रहे थे, इसलिए हमें पता था कि वे कार्यक्रम में शामिल नहीं होंगे।"

वहीं, 500 किलो के नगाड़े को राम मंदिर प्रांगण में स्थापित किए जाने पर श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के महासचिव चंपत राय ने कहा कि, "यह भारत की एक कला है, हमारी कोशिश है कि यह जिंदा रहे और इसे प्रोत्साहन मिले, अब हम देखेंगे कि इसे प्रांगण में कहां स्थापित किया जाए।"

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co