बसपा सुप्रीमो मायावती
बसपा सुप्रीमो मायावतीSocial Media

यूनिफॉर्म सिविल कोड पर पहली बार मायावती की प्रतिक्रिया, ट्वीट कर कही यह बात

बसपा सुप्रीमो मायावती (Mayawati) ने भारतीय जनता पार्टी पर निशाना साधा है। उन्होंने यूनिफॉर्म सिविल कोड (Uniform Civil Code) पर अपनी प्रतिक्रिया दी।

राज एक्सप्रेस। गुजरात (Gujarat) में जल्द ही विधानसभा चुनाव (Gujarat Assembly Elections) होने वाले हैं। इससे पहले बीजेपी (BJP) सरकार ने वहां पर यूनिफॉर्म सिविल कोड (Uniform Civil Code) को लेकर बड़ा फैसला किया है। इसी बीच यूनिफॉर्म सिविल कोड को लेकर बसपा सुप्रीमो मायावती (Mayawati) ने अपनी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने ट्वीट करते हुए बीजेपी पर निशाना साधा है।

बसपा सुप्रीमो मायावती ने कही यह बात:

बसपा सुप्रीमो मायावती ने ट्वीट करते हुए कहा कि, "यूपी व अन्य राज्यों में भी रोजगार व विकास के बजाय बीजेपी द्वारा विवादित एवं विभाजनकारी मुद्दों की तरह समान नागरिक संहिता को चुनावी मुद्दा बनाना खास बात नहीं, किन्तु गुजरात में इसको चुनावी मुद्दा बनाने से इस आमचर्चा को बल मिलता है कि, वहाँ बीजेपी की हालत वास्तव में ठीक नहीं है।"

मायावती ने दूसरा ट्वीट करते हुए कहा कि, "जबकि केन्द्र ने अभी हाल में स्वंय माननीय सुप्रीम कोर्ट में कहा है कि, यूनिफार्म सिविल कोड के मामले पर कोई निर्णय अभी न किया जाए, क्योंकि इसे वह 22वें लॉ कमीशन को सौंपेगी, तो फिर गुजरात विधानसभा चुनाव में ऐसा क्या होने जा रहा है, जिससे बीजेपी विचलित है व झुक रही है।"

बसपा सुप्रीमो मायावती ने अपने अन्य ट्वीट में कहा कि, "साथ ही, चुनाव को प्रभावित करने के लिए जनता की नजर से अज्ञात श्रोतों से प्राप्त अकूत धन का इस्तेमाल कितना उचित? ताजा आँकड़े बताते हैं कि, गुजरात व हिमाचल विधानसभा आमचुनाव से पहले चुनावी बाण्ड की गुप्त फण्डिंग की मार्फत 545 करोड़ रुपये के चन्दे दिए गए हैं। यह धन कहां जा रहा है?"

जानकारी के लिए बता दें कि, गुजरात में जल्द ही विधानसभा चुनाव होने वाला है। आइए में गुजरात में बीजेपी सरकार ने उत्तराखंड की तर्ज पर समान नागरिक संहिता (यूनिफॉर्म सिविल कोड) के लिए कमेटी बनाने का ऐलान किया है। माना जा रहा है कि गुजरात चुनाव से पहले यह बीजेपी का बड़ा दांव है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co