फसल सुरक्षा पर घोषित धनराशि 'ऊंट के मुंह में जीरा' के समान:मायावती
फसल सुरक्षा पर घोषित धनराशि 'ऊंट के मुंह में जीरा' के समान:मायावतीSocial Media

फसल सुरक्षा पर घोषित धनराशि 'ऊंट के मुंह में जीरा' के समान : मायावती

मायावती ने किसान आबादी की बाहुलता वाले उत्तर प्रदेश में योगी सरकार द्वारा फसल सुरक्षा पर महज 38 करोड़ रुपये सालाना खर्च करने की घोषणा को 'ऊंट के मुंह में जीरा' बताया हैं।

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की अध्यक्ष मायावती ने किसान आबादी की बाहुलता वाले उत्तर प्रदेश में योगी सरकार द्वारा फसल सुरक्षा पर महज 38 करोड़ रुपये सालाना खर्च करने की घोषणा को 'ऊंट के मुंह में जीरा' बताते हुए सरकार से विकट परिस्थतियों से जूझ रहे किसानों की हर स्तर पर मदद करने की मांग की है।

मायावती ने गुरुवार को ट्वीट कर कहा, ''अपनी उपज का लाभकारी मूल्य व गन्ना बकाया आदि नहीं मिल पाने से यूपी का किसान समाज पहले से ही काफी दुखी व परेशान है तथा कमजोर मानसून ने अब उनकी चिन्ताएं और भी बढ़ा दी है। किसानों को ऐसी विकट स्थिति से निकालने हेतु सरकार हर स्तर पर उनकी मदद तत्काल शुरू करे, बीएसपी की यह माँग।"

उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने यह भी कहा, ''साथ ही, यूपी जैसे विशाल किसान समाज वाले प्रदेश में फसल सुरक्षा व भण्डारण आदि के लिए अगले पाँच वर्षों में 192 करोड़ अर्थात प्रति वर्ष मात्र करीब 38 करोड़ रुपए खर्च करने की ताजा घोषणा क्या ऊँट के मुँह में जीरा के बराबर नहीं लगती है, सरकार इनकी भी उपेक्षा करना बंद करे।"

गौरतलब है कि राज्य सरकार ने हाल ही में फसल सुरक्षा एवं कृषि उपज के भंडारण में किसानों की मदद के लिये अगले पांच साल में 192 करोड़ रुपये की राशि आवंटित करने की घोषणा की। विपक्षी दल इसे नाकाफी बताते हुए सरकार से इसे बढ़ाने की मांग कर रहे हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co