Pakistani Agent Arrested : मेरठ से पाकिस्तानी ISI एजेंट गिरफ्तार, मॉस्को में भारतीय दूतावास में करता था काम

Pakistani ISI Agent Arrested : इस व्यक्ति की पहचान सत्येन्द्र सिवाल के रूप में हुई है, हापुड का मूल निवासी है और विदेश मंत्रालय में एमटीएस (मल्टी-टास्किंग, स्टाफ) के रूप में काम किया।
Pakistani ISI Agent Arrested
Pakistani ISI Agent ArrestedRaj Express
Submitted By:
Deeksha Nandini

हाइलाइट्स

  • UP ATS ने एक पाकिस्तानी आईएसआई एजेंट को किया गिरफ्तार।

  • एजेंट ने विदेश मंत्रालय में एमटीएस (मल्टी-टास्किंग, स्टाफ) के रूप में किया काम।

Pakistani ISI Agent Arrested : मेरठ। उत्तर प्रदेश आतंकवाद निरोधक दस्ते (UP ATS) ने एक पाकिस्तानी इंटर-सर्विसेज इंटेलिजेंस (आईएसआई) एजेंट को गिरफ्तार किया है, जो मॉस्को में भारतीय दूतावास में तैनात था। यह जानकारी यूपी एटीएस द्वारा रविवार को सार्वजनिक की गई है। एक आधिकारिक बयान के अनुसार, आतंकवाद निरोधी दस्ते को अपने सूत्रों से मॉस्को में भारतीय दूतावास में सक्रिय एक जासूस के बारे में सूचना मिली थी। इस व्यक्ति की पहचान सत्येन्द्र सिवाल के रूप में हुई है, हापुड का मूल निवासी है और इसने विदेश मंत्रालय में एमटीएस (मल्टी-टास्किंग, स्टाफ) के रूप में काम किया।

दरअसल, एटीएस उ.प्र. को विभिन्न गोपनीय स्रोतों से आसूचना प्राप्त हो रही थी कि पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI के हैण्डलरों द्वारा कुछ व्यक्तियों से विदेश मंत्रालय भारत सरकार के कर्मचारियों को बहला फुसलाकर एवं धन का लालच देकर भारतीय सेना से सम्बंधित भारत की सामरिक व रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण, गोपनीय सूचनाएं प्राप्त की जा रही है। जिससे भारत की आन्तरिक एवं बाह्य सुरक्षा को बहुत बड़ा खतरा उत्पन्न होने की सम्भावना है।

ऐसे में एटीएस उत्तर प्रदेश द्वारा इस आसूचना को विकसित करते हुए सूचनाओं को इलेक्ट्रानिक एवं भौतिक सर्विलांस के माध्यम से साक्ष्य सकलन किया गया तो पाया गया कि सतेन्द्र सिवाल पुत्र जयवीर सिंह निवासी-ग्राम शाहमहीउद्दीनपुर, थाना हापुड़ देहात, जनपद हापुड़ के नाम का एक व्यक्ति जो कि विदेश मंत्रालय भारत सरकार में MTS (Multi-Tasking. Staff) के पद पर नियुक्त है तथा वर्तमान में मास्को, रूस स्थित भारतीय दूतावास में कार्यरत है

गोपनीय सूचनाओं को ISI को उपलब्ध करवा रहा

पूछताछ के दौरान, सत्येन्द्र सिवाल ने खुलासा किया कि वह भारतीय सेना और उसके दिन-प्रतिदिन के कामकाज के बारे में जानकारी निकालने के लिए भारत सरकार के अधिकारियों को पैसे का लालच देता था। उस पर भारतीय दूतावास, रक्षा मंत्रालय और विदेश मामलों के बारे में महत्वपूर्ण और गोपनीय जानकारी आईएसआई हैंडलर्स को देने का भी आरोप लगाया गया है।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

और खबरें

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co