'इंटीग्रल यूनिवर्सिटी' के दीक्षांत समारोह में राजनाथ सिंह
'इंटीग्रल यूनिवर्सिटी' के दीक्षांत समारोह में राजनाथ सिंह Social Media

लखनऊ में 'इंटीग्रल यूनिवर्सिटी' के दीक्षांत समारोह में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह का संबोधन

उत्तर प्रदेश के लखनऊ में 'इंटीग्रल यूनिवर्सिटी' के दीक्षांत समारोह आयोजित हुआ, जिसमें राजनाथ सिंह शामिल हुए और समारोह को संबोधित कर अपने संबोधन में यह बातें कहीं...

उत्तर प्रदेश, भारत। देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के दो दिवसीय दौरे पर है। इस दौरान आज शुक्रवार को 'इंटीग्रल यूनिवर्सिटी' का दीक्षांत समारोह आयोजित हुआ, जिसमें रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह शामिल हुए और समारोह को संबोधित किया।

छात्र के जीवन में दीक्षांत समारोह एक महत्वपूर्ण अवसर होता है :

इस दौरान लखनऊ में 'इंटीग्रल यूनिवर्सिटी' के दीक्षांत समारोह में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने अपने संबोधन में कहा कि, "किसी भी छात्र के जीवन में दीक्षांत समारोह एक महत्वपूर्ण अवसर होता है। यह वह अवसर है जब आप अपने कोर्स की पढ़ाई समाप्त करके, कैम्पस से बाहर निकल कर एक नई दुनिया में कदम रखते है। इस समारोह को ‘दीक्षान्त समारोह’ कहा जाता है न कि ‘शिक्षांत समारोह’। इसका कारण है, कि दीक्षा तो इस कैम्पस में आपको मिली है, मगर आपकी शिक्षा तो जिंदगी भर चलती रहती है।"

जीवन में सफलता और असफलता साथ-साथ चलती है। अन्तर इस बात का होता है कि आप अपनी असफलताओं से क्या सीख लेते है, और निपटने के लिए क्या रोड मैप बनाते है। जीवन के प्रति एक Positive Attitude और किसी भी नाकामयाबी से निराश न होना किसी भी इंसान को आम से खास बना देती है। आप लोगों ने भारत के महान Matematician एस. रामानुजन के बारे में भी सुना होगा। उनकी प्रतिभा और क्षमता कितनी ज्यादा थी इसका अंदाजा इसी बात से लगा सकते है कि उन्होंने अपनी 32 साल की कुल जिंदगी में 04 हजार थ्योरम पर रिसर्च की। आपको जानकर आश्चर्य होगा कि वे 12वीं में दो बार फेल हुए मगर उनकी प्रतिभा-क्षमता इतनी बड़ी थी कि जिस स्कूल में वे पढ़ते थे आज उस स्कूल का नाम रामानुजन के नाम पर ही है।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह

इतना ही नहीं रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने इस समारोह में अपने संबोधन के दौरान यह बात भी कही की, "जब आप अपने Knowledge का उपयोग Human Welfare के लिए करते हैं, तब आपका ज्ञान बेशकीमती हो जाता हैं, जिसकी कोई कीमत रूपए-पैसे से नहीं लगाई जा सकती। आपका जीवन मे जो भी लक्ष्य हों, आप कहीं भी रहें, कोशिश करिएगा कि, चाहे वो बड़ा हो या छोटा, किसी न किसी माध्यम और तरीके से दुनिया को बेहतर बनाने मे अपना योगदान जरूर करते रहिए। मैं हमेशा कहता हूं कि 'No Success is final and no failure is fatal' यानि कोई भी सफलता अंतिम नही होती, और कोई भी विफलता आपकी जिंदगी को खत्म नही कर सकती।"

  • आप में से काफी बच्चों ने टी.वी. पर आने वाली ‘शार्क टैंक’ सीरीज देखी होगी। इसमें नौजवान Enterprenuers एक आइडिया Investors के सामने रखते हैं। आपने ध्यान दिया होगा कि ज्यादातर Ideas जिन्हें पसंद किया जाता है, उनमें से सबसे ज्यादा किसी न किसी problem का solution दे रहे होते है।

  • जीवन की समस्याओं का समाधान निकालना जहां अच्छी जिंदगी जीने का एक लक्ष्य होता है वही वह एक Successful Buisness Idea भी बन जाता है। मुझे इस बात की बेहद खुशी है कि हमारे देश की नौजवान पीढ़ी इस दिशा में पूरे तन, मन और धन से काम कर रहा है।

  • यह हमारे देश की युवा पीढ़ी की Innovative और Enterprenship स्किल का ही कमाल है कि हमारे देश में आज 80000 से अधिक रजिस्टर्ड स्टार्ट अप्स है। जबकि 2014 में इन स्टार्ट अप्स की गिनती बमुश्किल 500-600 ही थी।

  • आज देश में जो डिजिटल क्रांति आप देख रहे हैं वह हमारे देश के युवाओं के लिए केवल Information Technology ही नही बल्कि जीवन के हर क्षेत्र में नए अवसर लेकर आई है। सिर्फ UPI के माध्यम से पिछले दिसंबर महीने में 7.82 बिलियन ट्रांजैक्शन, हुए जिनका मूल्य 12-82 लाख करोड़ रूपए का था, जो कि अब तक सबसे बड़ा रिकॉर्ड है। इस डिजिटल क्रांति से अब देश के ग्रामीण इलाके भी अछूते नहीं है।

  • फिन टेक के अलावा, चिकित्सा, शिक्षा, कृषि इत्यादि में भी डिजिटल तौर तरीके इस्तेमाल किए जा रहे है। खासतौर पर चिकित्सा के क्षेत्र में डिजिटल टेक्नोलोजी के इस्तेमाल से दूर दराज के इलाकों में बैठे लोगों का भी बढ़िया इलाज संभव हो पाया है।

  • आजकल तो लड़कियां भी किसी मामले में पीछे नही है। एक समय था जब लड़कियां केवल कुछ सर्विस सेक्टर्स में ही दिखाई देती थी। आज जीवन का शायद ही ऐसा कोई क्षेत्र हो जहां महिलाओं का भागीदारी न हो। एक समय था सेनाओं और पुलिस बलों में महिलाएं लगभग न के बराबर थी।

  • विशेषरूप से सेनाओं में कई ऐसे विंग्स थे जहां महिलाओं के लिए दरवाजे बंद थे। आपको जानकर खुशी होगी कि आज महिलाएं वार शिप्स पर भी तैनात हो रही है और दुनिया के सबसे ऊंचे BattleField सियाचिन में भी महिलाओं की तैनाती हो रही है।

  • भारतीय सेनाओं में हर युवा के लिए चाहे वह किसी भी जाति पंथ या मजहब की हो देश सेवा करने के लिए अवसर है। हाल में मुस्लिम समाज में आने वाली बच्ची सानिया मिर्जा ने फाइटर पायलट कोर्स में दाखिला लिया है। अपना कोर्स सफलतार्वूवक समाप्त करने पर वह देश की पहली मुस्लिम फाइटर पायलट बनेगी।

  • हमारा भारत ऐसा देश है जहां सदियों से लोग परस्पर प्रेम और सौहार्द के साथ रहते आए है। दुनिया के सबसे पुराने चर्चों में से एक सेंट थामस चर्च भारत के केरल राज्य में मौजूद है। किसी इस्लामिक देश में भी इस्लाम के 72 के 72 फिरके नहीं मौजूद है मगर वे भारत में शांति से रह रहे है।

  • आज भारत अपनी Leadership और अपने Talent के लिए जाना जा रहा है। भारत के लोगों ने हमेशा अपने परिश्रम और काबिलियत से विश्व को नेतृत्व प्रदान किया है। आज दुनिया की तमाम बड़ी-बड़ी कंपनियों के CEO भारतीय मूल के है। गूगल, माइक्रोसॉफ्ट, अडोबी, IBM, पालो आल्टो नेटवर्क, मास्टरकार्ड और न जाने कितनी कंपनियों का नेतृत्व भारतीय मूल के लोग कर रहे हैं।

बता दें कि, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह लखनऊ दौरे के दौरान यूनिवर्सिटी के दीक्षांत समारोह के बाद लखनऊ में आयोजित होने वाले संत समाज के समागम में भी शामिल होंगे।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस यूट्यूब चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। यूट्यूब पर @RajExpressHindi के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co