किसान महापंचायत मे शामिल होने आए राकेश टिकैत
किसान महापंचायत मे शामिल होने आए राकेश टिकैतRaj Express

सरकार किसान और मजदूर को बर्बाद कर उनकी जमीन हड़पना चाह रही है : राकेश टिकैत

प्रयागराज, उत्तर प्रदेश : राकेश टिकैत ने आरोप लगाया है कि पूरी प्रदेश सरकार बेईमानी से बनी है और उपचुनाव में भी बेईमानी से बीजेपी ने जीत हासिल की है।

प्रयागराज, उत्तर प्रदेश। लखीमपुर खीरी की गोला गोकर्णनाथ सीट पर हुए उपचुनाव में बीजेपी प्रत्याशी अमन गिरी की जीत पर भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने बीजेपी सरकार पर बड़ा हमला बोला है। उन्होंने बीजेपी सरकार पर बेईमानी से उपचुनाव जीतने का आरोप लगाया है।

राकेश टिकैत ने कहा है कि अगला निशाना प्रेस और मीडिया की आजादी है। जब तक मीडिया अपनी जान बचा सकती है बचा ले। उन्होंने कहा है कि जब-जब भी चुनावों में बेईमानी की जाएगी तो नतीजों पर कोई असर नहीं पड़ेगा। उन्होंने कहा है कि क्योंकि बीजेपी की केंद्र और प्रदेश में सरकार है। इन्हीं का इलेक्शन कमीशन है,इन्हीं की कोर्ट कचहरी है और इन्हीं के अधिकारी भी हैं। इसलिए बीजेपी लगातार चुनाव में जीत हासिल कर रही है।

राकेश टिकैत ने आरोप लगाया है कि पूरी प्रदेश सरकार बेईमानी से बनी हुई है और उपचुनाव में भी बेईमानी से बीजेपी ने जीत हासिल की है। हालांकि राकेश टिकैत ने कहा है कि 2024 में भी केंद्र में बीजेपी की ही सरकार बनेगी। लेकिन वह भी बेईमानी से ही बनेगी। उन्होंने कहा है कि जनता इन्हें यानि बीजेपी को वोट नहीं देगी। लेकिन केंद्र में अगली सरकार भी बेईमानी से बीजेपी की ही बनेगी। वहीं यूपी में होने वाले निकाय चुनाव को लेकर राकेश टिकैत ने कहा है कि निकाय चुनाव में गांव के लोग लाठी लेकर तैयार रहेंगे।

किसान महापंचायत में शिरकत करने पहुंचे भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने केंद्र और प्रदेश सरकार पर बड़ा हमला बोला है। उन्होंने आरोप लगाया है कि सरकारें किसानों को बर्बाद करना चाहती हैं। उन्होंने कहा है कि किसानों का आंदोलन होगा तभी किसान बचेगा। राकेश टिकैत ने कहा है कि सरकारें किसानों और मजदूरों को बर्बाद कर उनकी जमीन हड़पना चाहती हैं। सरकारों को फ्री में किसानों की जमीनें चाहिए। इसलिए अगर आंदोलन नहीं होगा तो किसानों की जमीनें पूंजीपतियों के हाथों में चली जाएंगी। भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने आरोप लगाया है कि सरकार कूछ पूंजी पतियों के हाथों में किसानों की जमीनें सौंपना चाहती हैं उन्होंने आरोप लगाया है कि देश में किसानों नौजवानों और महिलाओं की समस्याएं हैं। महंगाई और बेरोजगारी की समस्या है।लेकिन सरकार इस समस्याओं को लेकर गंभीर नहीं है।

उन्होंने आरोप लगाया है कि केंद्र की बीजेपी सरकार ने किसानों की आमदनी दोगुना करने का वायदा किया था। लेकिन धरातल पर कोई सुधार नहीं हुआ है। उन्होंने कहा है कि सरकारें झूठ बोल रही हैं। किसान नेता राकेश टिकैत ने केंद्र सरकार से एमएसपी गारंटी कानून दिए जाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि धान क्रय केंद्रों पर धान की खरीद नहीं हो रही है। राकेश टिकैत ने किसानों के हित में स्वामीनाथन कमेटी की रिपोर्ट जल्द लागू करने की मांग की है। वही पंजाब और हरियाणा समेत एनसीआर इलाके में पराली जलाने से हो रहे वायु प्रदूषण पर किसानों के खिलाफ हो रही एनजीटी की कार्रवाई पर राकेश टिकैत ने कहा है कि बगैर पराली के धान कहां होता है यह सरकार ही उन्हें बता दे।

राकेश टिकैत ने कहा है कि अगर पराली ही सबसे बड़ी समस्या है तो सरकार चाहे तो धान की पैदावार को ही बैन कर दे। उन्होंने कहा है कि अफीम की खेती की तरह धान की खेती पर भी सरकार को बैन लगा देना चाहिए और खाने की व्यवस्था सरकार को कुछ और कर देनी चाहिए। भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत रविवार को प्रयागराज के झलवा इलाके में किसान महापंचायत को संबोधित करने पहुंचे थे। इस दौरान बमरौली से लेकर झलवा तक राकेश टिकैत का भव्य स्वागत किया गया। किसानों ने राकेश टिकैत पर पुष्प वर्षा कर उनका जोरदार स्वागत किया। मंच पर पहुंचे राकेश टिकैत ने किसानों की समस्याओं को लेकर हुंकार भरी। उन्होंने कहा कि अगर किसान है तभी देश है। क्योंकि कोरोना काल में किसानों ने दिखा दिया कि किसानों की वजह से ही देश की अर्थव्यवस्था बची है। उन्होंने कहा कि अगर देश को बचाना है तो किसान को भी सरकारों को बचाना होगा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co