'काशी-तमिल संगमम' की उच्चस्तरीय तैयारियां हो
'काशी-तमिल संगमम' की उच्चस्तरीय तैयारियां होSocial Media

'काशी-तमिल संगमम' की उच्चस्तरीय तैयारियां हो : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

वाराणसी, उत्तर प्रदेश : योगी ने अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश देते हुए कहा कि एक माह तक चलने वाले 'काशी-तमिल संगमम' की सभी तैयारियां उच्चस्तरीय होनी चाहिए।

वाराणसी, उत्तर प्रदेश। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को वाराणसी में आला अधिकारियों के साथ बैठक कर 17 नवंबर से 16 दिसंबर तक जनपद में आयोजित होने वाले 'काशी-तमिल संगमम' तथा सोमवार, 07 नवंबर को होने वाले देव-दीपावली के आयोजन की तैयारियों की समीक्षा की।

योगी ने अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश देते हुए कहा कि एक माह तक चलने वाले 'काशी-तमिल संगमम' की सभी तैयारियां उच्चस्तरीय होनी चाहिए। इसके साथ ही सोमवार को होने वाले देव दीपावली पर्व को पूरे हर्षोल्लास एवं भव्यता के साथ मनाया जाए। गंगा घाटों एवं आसपास के क्षेत्रों में सुरक्षा के चाकचौबंद एवं मुकम्मल इंतजाम सुनिश्चित किए जाएं।

मुख्यमंत्री योगी ने बताया कि केन्द्रीय शिक्षा मंत्रालय द्वारा वाराणसी में आयोजित 'काशी-तमिल संगमम' के आयोजन में उत्तर प्रदेश सरकार एवं जिला प्रशासन के समन्वय की पूरी जिम्मेदारी हैं। वाराणसी में रह रहे तमिल लोगों से संवाद स्थापित किए जाने के बारे में मंडल आयुक्त कौशल राज शर्मा ने बताया कि 1000 से अधिक काशी के तमिल परिवारों से संवाद स्थापित हो गया है। मुख्यमंत्री ने स्थानीय स्तर पर रह रहे तमिल के लोगों से संवाद स्थापित कर उन्हें कार्यक्रम से जोड़े जाने पर विशेष जोर देते हुए कहा कि स्थानीय पुलिस के साथ तमिल वॉलिंटियर को भी रखा जाए। जिससे बाहर से आने वाले तमिल समुदाय के लोगों से सहज समन्वय स्थापित हो सके।

योगी ने कहा कि स्थानीय स्तर पर तमिल समुदाय के ऐसे लोग जो विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य किए हो, ऐसे लोगों को चिन्हित किया जाए, ताकि तमिलनाडु से आने वाले लोगों के साथ वे अपने अनुभवों को साझा कर सकें। इस कार्य में काशी ङ्क्षहदू विश्वविद्यालय एवं महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ के विद्वानों को भी रखा जाए। मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि तमिल भाषा का उद्गम भगवान शिव से ही हुआ है, इसलिए काशी से अच्छा इस कार्यक्रम के लिए कोई दूसरा स्थान हो ही नहीं सकता। कार्यक्रम के दौरान आने वाले डेलिगेशन सदस्यों का स्वागत पहले दिन डमरू दल द्वारा तो दूसरे दिन वैदिक मंत्र उच्चारण से किया जाए। इस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 19 नवंबर को वर्चुअल सहभागिता करेंगे।

मुख्यमंत्री योगी ने सोमवार को आयोजित होने वाले देव दीपावली पर्व की समीक्षा के दौरान भीड़ को नियंत्रित करने के साथ-साथ सुरक्षा के मुकम्मल एवं चाक-चौबंद इंतजाम सुनिश्चित कराए जाने हेतु पुलिस अधिकारियों को निर्देशित किया। उन्होंने देव दीपावली पर्व पर यातायात व्यवस्था को चुस्त-दुरुस्त रखने तथा जनसामान्य को किसी भी प्रकार की परेशानी न होने देने पर विशेष जोर देते हुए आवारा पशुओं को नियंत्रित किये जाने का निर्देश दिया है।

योगी ने मणिकर्णिका घाट पर स्वच्छता की कमी होने पर मुख्यमंत्री ने समुचित सफाई व्यवस्था सुनिश्चित कराए जाने के साथ ही शौचालय की व्यवस्था सुनिश्चित किए जाने हेतु निर्देशित किया है। उन्होंने नशे की हालत में नौका संचालन न किए जाने की हिदायत देते हुए एनडीआरएफ एवं जल पुलिस के लोगों को पूरी तरह एक्टिव रहने का निर्देश दिया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co