जनपद बागपत में विकास कार्यों एवं कानून व्यवस्था की समीक्षा की
जनपद बागपत में विकास कार्यों एवं कानून व्यवस्था की समीक्षा कीSyed Dabeer Hussain - RE

मुख्यमंत्री योगी ने जनपद बागपत में विकास कार्यों एवं कानून व्यवस्था की समीक्षा की

CM योगी ने निर्माणाधीन परियोजनाओं को तेजी से पूर्ण कराने के निर्देश देते हुए कहा कि विकास कार्यों को गुणवत्ता एवं समयबद्धता के साथ पूर्ण किया जाए और उनका थर्ड पार्टी के माध्यम से निरीक्षण कराया जाए।

बागपत, उत्तर प्रदेश। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज जनपद बागपत में विकास कार्यों एवं कानून व्यवस्था की समीक्षा की। उन्होंने जनपद की 50 लाख रुपये से अधिक लागत की निर्माणाधीन परियोजनाओं तथा उनके द्वारा की गई विभिन्न घोषणाओं/निर्माणाधीन परियोजनाओं की प्रगति की समीक्षा करते हुए अधिकारियों को परियोजनाओं को तेजी से पूर्ण कराने के निर्देश दिए है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि विकास कार्यों को गुणवत्ता एवं समयबद्धता के साथ पूर्ण किया जाए और उनका थर्ड पार्टी के माध्यम से निरीक्षण कराया जाए। किसी भी विकास कार्य को गुणवत्तापूर्ण ढंग से तथा मानक के अनुरूप न करने पर सम्बन्धित के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जाए। उन्होंने सभी विभागों को निर्देश दिए है कि वह अपने विभाग के मासिक लक्ष्यों का निर्धारण कर उन्हें पूर्ण कराते हुए कार्यों का उद्घाटन जनप्रतिनिधियों के माध्यम से कराएं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड-19 की बूस्टर डोज के लक्ष्य के सापेक्ष कार्य करते हुए बूस्टर डोज की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए। सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों में हेल्थ एटीएम स्थापित कराए जाएं तथा हेल्थ एटीएम को संचालित करने के सम्बन्ध में प्रशिक्षण दिलाया जाए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि शासन द्वारा बच्चों की यूनीफॉर्म आदि के लिए जो धनराशि अभिभावकों के खाते में अन्तरित की जाती है, उसके प्रति अभिभावकों को जागरूक किया जाए। धनराशि से यूनीफॉर्म आदि ही क्रय की जाएं। अन्य किसी मद में उस धनराशि का उपयोग न किया जाए। सभी विद्यार्थी यूनीफॉर्म में ही विद्यालय आएं। अभिभावकों के साथ अध्यापक बैठक करें। बालक और बालिकाओं के लिए अलग-अलग शौचालय की व्यवस्था की जाए। उन्होंने प्रत्येक विद्यालय में लाइब्रेरी स्थापित किए जाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि छात्र-छात्राओं का ग्रुप बनाकर उनसे संवाद किया जाए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हर घर नल योजना सक्रिय रूप से संचालित की जाए। इससे अधिक से अधिक लोगों को लाभान्वित किया जाए। एलईडी स्ट्रीट लाइट के सदुपयोग पर ध्यान दिया जाए और यह सुनिश्चित किया जाए कि यह लाइटें दिन में न जलायी जाएं। उन्होंने आत्मनिर्भर गांव के साथ आत्मनिर्भर नगर निकाय बनाए जाने की परिकल्पना को साकार करने के निर्देश दिए है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पॉलीथीन व प्लास्टिक का उपयोग पर्यावरण को प्रदूषित करता है। इसलिए पॉलीथीन और प्लास्टिक के प्रयोग को पूर्णतया प्रतिबन्धित किया जाए। स्वच्छता पर विशेष ध्यान दिया जाए। उन्होंने कहा कि रोजगार मेलों का आयोजन कराया जाए, जिससे अधिक से अधिक युवाओं को रोजगार उपलब्ध हो सके। इन रोजगार मेलों में जनप्रतिनिधियों को भी आमंत्रित किया जाए।

मुख्यमंत्री ने कानून व्यवस्था की समीक्षा करते हुए कहा कि बालिकाओं एवं महिलाओं से सम्बन्धित अपराधों में लिप्त अपराधियों के विरुद्ध कठोरतम कार्यवाही की जाए। उन्होंने बालिका एवं महिला अपराधों की जांच को समय से पूर्ण कराकर संलिप्त अपराधियों को दण्डित कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि अपराधियों में कानून का भय होना चाहिए। कर चोरी एवं अवैध कार्य करने वालों के विरुद्ध प्रभावी कार्यवाही की जाए। उन्होंने अधिकारियों को अपराध एवं अपराधियों के प्रति जीरो टॉलरेंस नीति का सख्ती से पालन करने के निर्देश दिए।

बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने मुख्यमंत्री को जनपद बागपत में कराए जा रहे विकास कार्यों के सम्बन्ध में विस्तार से अवगत कराया। जनपद की अगस्त, 2022 की उपलब्धियों के बारे में प्रकाश डाला। विकास कार्यों में जनपद बागपत प्रदेश में चौथे स्थान पर है। इसके अन्तर्गत जनपद को 98.75 प्रतिशत अंक प्राप्त हुए। शिकायतों के निस्तारण में आईजीआरएस पोर्टल में प्रदेश में अगस्त माह में जनपद का आठवां स्थान रहा। ग्राम पंचायतों द्वारा गेटवे पोर्टल के माध्यम से भुगतान करने में जनपद का प्रदेश में प्रथम स्थान रहा। आयुष्मान कार्ड बनाने में जनपद प्रदेश में तीसरे स्थान पर है। इसमें कार्ड से इलाज कराने में प्रदेश में सातवें स्थान पर है। सहकारी देय की वसूली में जनपद ने प्रदेश में तीसरा स्थान प्राप्त किया है।

मुख्यमंत्री को जनपद बागपत में रेन वॉटर हार्वेस्टिंग, जल जीवन मिशन एवं अटल भू-जल योजना के अन्तर्गत कराए जा रहे कार्याें के सम्बन्ध में अवगत कराया गया। यह जानकारी भी दी गई कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के अन्तर्गत जनपद में 206 करोड़ 63 लाख 26 हजार रुपये किसानों के खाते में 11 किस्तों के माध्यम से भेजे जा चुके हैं। किसानों को गन्ने की खेती के अलावा, अन्य फसलों को भी उगाने के लिए प्रोत्साहित करने, निराश्रित गोवंशों का समुचित रख-रखाव, टीकाकरण, चिकित्सा उपचार आदि के सम्बन्ध में भी विस्तारपूर्वक जानकारी दी गयी।

मुख्यमंत्री जी को अवगत कराया गया कि सजल बागपत अभियान के अन्तर्गत जनपद के समस्त प्राचीन/विलुप्त/अतिक्रमित बरसाती नालों/नदियों को पुनर्जीवित एवं उनके जीर्णाेद्धार के कार्य किए गए हैं। तीन से चार शताब्दी पुराने 20 किलोमीटर लम्बे बुढ़ेडा नाले का पुनरुद्धार श्रमदान अभियान के माध्यम से कराया गया। इस सम्बन्ध में मुख्यमंत्री जी ने एक लघु फिल्म का भी अवलोकन किया।

इसके पूर्व, मुख्यमंत्री ने जनपद बागपत के प्रबुद्धजनों के साथ संवाद किया और उनके क्षेत्र से जुड़ी जानकारी प्राप्त की। इस अवसर पर वन एवं पर्यावरण राज्यमंत्री केपी मलिक, लोक निर्माण राज्यमंत्री बृजेश सिंह सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण तथा शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co