उत्तराखंड सरकार का बड़ा फैसला- यात्रियों के लिए चारधाम यात्रा रद्द
उत्तराखंड सरकार का बड़ा फैसला- यात्रियों के लिए चारधाम यात्रा रद्द Social Media

उत्तराखंड सरकार का बड़ा फैसला- यात्रियों के लिए चारधाम यात्रा रद्द

देश में कोरोना के चलते बने वर्तमान हालातों को देखते हुए उत्तराखंड सरकार ने आगामी चारधाम यात्रा को रद्द करने का फैसला लिया है। हालांकि, मंदिरों के कपाट खुलने के बाद पूजा-अर्चना की जाएगी।

उत्तराखंड। देश में आज बहुत ही तेजी से कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं, इनको ध्यान में रखते हुए कई राज्यों ने नाईट कर्फ्यू, लॉकडाउन और कोरोना कर्फ्यू लागू कर दिया है। ऐसे में रेलवे ने कई ट्रेनें भी रद्द कर दी हैं। साथ ही कई अन्य सेवाएं भी वर्तमान हालातों को देखते हुए रद्द की जा चुकी हैं। इसी कड़ी में अब आगामी चारधाम यात्रा को भी रद्द करने का फैसला लिया गया है।

चारधाम यात्रा हुई रद्द :

दरअसल, देश में हर साल आयोजित की जाने वाली चारधाम यात्रा इस साल उत्तराखंड की सरकार ने रद्द करने का ऐलान कर दिया है। इस मामले में गुरुवार को मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने एक बैठक आयोजित की। इस बैठक के दौरान राज्य में कोरोना के हालातों पर चर्चा की गई। इस बैठक के बाद उन्होंने इस बारे में जानकारी देते हुए मीडिया को बताया कि, 'चारों धाम के कपाट अपने तय समय पर खुलेंगे, लेकिन केवल पुजारी और पुरोहित ही इन धामों में पूजा अर्चना करेंगे। यात्रियों को वहां प्रवेश की अनुमति नहीं दी जाएगी।'

बैठक में रहे ये लोग उपस्थित :

देवस्थानम बोर्ड के मीडिया प्रभारी डॉ.हरीश गौड़ ने बताया कि, 'मई में शुरू होने वाली चारधाम यात्रा को लेकर सरकार ने फैसला ले लिया है। वहीं आज यानी गुरुवार को उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद के सभागार में पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज की अध्यक्षता में बैठक की गई। इसमें देवस्थानम बोर्ड के सीईओ रविनाथ रमन, अपर सचिव पर्यटन जुगल किशोर पंत, बोर्ड के अपर मुख्य कार्यकारी अधिकारी बीडी सिंह, अपर निदेेशक विवेक चौहान के अलावा चमोली, रुद्रप्रयाग और उत्तरकाशी जिलों के डीएम व एसपी भी उपस्थित थे।

कब से शुरू होगी चारधाम यात्रा

बताते चलें, इस बार चारधाम यात्रा की यात्रा 14 मई से शुरू होगी क्योंकि,

  • श्री गंगोत्री धाम व यमनोत्री धाम के कपाट 14 मई को खोले जाएंगे।

  • केदारनाथ धाम के कपाट 17 मई को मेष लग्न में सुबह 5 बजे खोले जाएंगे।

  • भगवान बद्री विशाल के कपाट श्रद्धालुओं के लिए 18 मई सुबह 4:15 पर खोले जाएंगे।

  • गाडू घड़ा यात्रा 29 अप्रैल को सुनिश्चित की जाएगी।

CM रावत ने की स्वीकृति प्रदान :

बताते चलें, इस मामले बैठक के दौरान हुई चर्चा के बाद मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने चारधाम यात्रा के लिए दो करोड़ रुपये की प्रशासनिक एवं वित्तीय स्वीकृति प्रदान की थी। चारधाम यात्रा व्यवस्था के लिए आयुक्त, गढ़वाल मंडल को दो करोड़ रुपये की प्रशासकीय एवं वित्तीय स्वीकृति प्रदान की थी। इसके अलावा मुख्यमंत्री रावत ने चारधाम यात्रा के रखरखाब के तहत रुद्रप्रयाग में 16 नग तथा केदारनाथ पैदल मार्ग पर 94 नग अस्थायी शौचालयों, मूत्रालयों के निर्माण, मरम्मत कार्य एवं सफाई व्यवस्था संबंधी कार्य के लिए एक करोड़ चार लाख की प्रशासकीय एवं वित्तीय स्वीकृति प्रदान की थी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co