दिल्ली-NCR में झमाझम बारिश के बाद कई इलाकों में जलभराव, असम में बारिश के चलते भूस्खलन

दिल्ली में भीषण गर्मी के बीच दिल्ली और आस-पास के इलाकों में कल बुधवार देर रात तेज हवाओं के साथ जमकर बारिश हुई, जिससे दिल्ली वासियों को भीषण गर्मी से राहत मिली है।
दिल्ली-NCR में झमाझम बारिश के बाद कई इलाकों में जलभराव, असम में बारिश के चलते भूस्खलन
Waterlogging due to heavy rainfall in Delhi-NCRSocial Media

दिल्ली, भारत। देश के अलग-अलग राज्यों में मानसून दस्तक दे रहा है। वहीं, अब दिल्ली में भीषण गर्मी के बीच दिल्ली और आस-पास के इलाकों में कल बुधवार देर रात तेज हवाओं के साथ जमकर बारिश हुई, जो गुरुवार सुबह तक जारी रही। जिससे दिल्ली वासियों को भीषण गर्मी से राहत मिली है।

कई इलाकों में जलभराव:

बता दें कि, दिल्ली एनसीआर व आसपास के क्षेत्रों में बुधवार देर रात से गुरुवार तड़के तेज बारिश हुई, जिससे तापमान में गिरावट दर्ज की गई। वहीं दूसरी ओर बारिश के चलते कई जगहों पर जलभराव हो गया है। जिसके कारण कई जगहों पर जाम की स्थिति बन गई है और काम पर जानें वाले लोगों मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा हैं। दिल्ली एनसीआर में कई इलाकों में पानी भर जाने के कारण यातायात प्रभावित हो रहा है।

बता दें कि, मौसम विभाग के अनुसार, राहत का यह सिलसिला अगले चार-पांच दिन जारी रहेगा। इससे पारा तेजी से नीचे आएगा। उधर, दक्षिण पश्चिमी मानसून भी विभिन्न राज्यों में राहत दे रहा है। दक्षिण पश्चिम मानसून फिलहाल पश्चिमी महाराष्ट्र, दक्षिणी गुजरात, तेलंगाना में सक्रिय है। अगले दो तीन दिनों में यह आंध्र प्रदेश, ओडिशा, पश्चिम बंगाल, बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल के कुछ और हिस्सों में पहुंचने की उम्मीद है।

दिल्ली समेत कई राज्यों में येलो अलर्ट:

वहीं, मौसम विभाग के अनुसार, दिल्ली-एनसीआर के उत्तर पश्चिमी दिल्ली, पश्चिमी दिल्ली (बवाना, मुंडका), सोनीपत इलाकों में हल्की से मध्यम तीव्रता की बारिश और तेज हवाएं चलेंगी। IMD ने अगले 5 दिनों तक दिल्ली समेत उत्तर भारत (North India) के राज्यों में बारिश को लेकर येलो अलर्ट (Yellow Alert) जारी किया हैं। इसके साथ ही अधिकतम तापमान सात डिग्री तक गिरने का अनुमान जताया हैं।

असम में बारिश के चलते भूस्खलन:

वहीं, इधर उत्तर पूर्वी भारत, असम में तेज बारिश हो रही है। असम की राजधानी गुवाहाटी में बुधवार को लगातार दूसरे दिन मूसलाधार बारिश होने के कारण कई स्थानों पर भूस्खलन की खबर सामने आई है। राज्य में इस साल बाढ़ और भूस्खलन के चलते 42 लोगों की मौत दर्ज की गई है। मंगलवार को बोरागांव में हुए भूस्खलन के चलते चार लोगों की मौत का आंकड़ा भी इसमें शामिल है।

असम के मंत्री अतुल बोरा ने इस बारे में बताया कि, "यहां हर साल बाढ़ आती है लेकिन इस साल दो फेज में बाढ़ आ चुकी है,पहले फेज में बाढ़ से 26 ज़िले प्रभावित हुए थे और दूसरे फेज में भी बहुत सारे ज़िले प्रभावित हुए थे तो सरकार इसके लिए पूरी तरह से तैयार है।"

वहीं, गुवाहाटी कामरूप मेट्रो उपायुक्त पल्लव गोपाल झा ने बताया कि, "यहां लगातार दो दिन से बारिश हो रही है और मौसम विभाग के मुताबिक 2-3 दिन और बारिश होगी। शहरी इलाकों में बाढ़ और कुछ जिलों में लैंडस्लाइड हुआ। जिला प्रशासन मौके पर मौजूद हैं और हमने कल लोगों को रेस्क्यू भी किया। राहत शिविर भी लगाया गया है।"

उन्होंने कहा कि, "NDRF और SDRF बचाव अभियान कर रहे हैं और सभी अधिकारी दिन रात काम कर रहे हैं। सभी प्रावधान किए जा रहे हैं।"

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co