महाराष्ट्र में चार राज्यों को कोरोना निगेटिव रिपोर्ट के बिना 'नो एंट्री'
उद्धव सरकार ने जारी किये नए दिशानिर्देशSocial Media

महाराष्ट्र में चार राज्यों को कोरोना निगेटिव रिपोर्ट के बिना 'नो एंट्री'

कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए दिल्ली, राजस्थान, गुजरात, गोवा के लोगों को कोरोना निगेटिव रिपोर्ट के साथ ही अब महाराष्ट्र में प्रवेश की इजाजत मिलेगी।

मुंबई, महाराष्ट्र। महाराष्ट्र में शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे नीत गठबंधन सरकार ने इस संबंध में एहतियातन कदम उठाते हुए गाइडलाइन जारी कर दी है। जिसमें दिल्ली-एनसीआर, गोवा, गुजरात और राजस्थान के यात्रियों को महाराष्ट्र में आने के लिए अपनी आरटी पीसीआर रिपोर्ट अपने साथ लानी होगी।

महाराष्ट्र सरकार ने मुंबई आने की इच्छा रखने वाले तमाम लोगों के लिए कुछ शर्तें रखीं हैं। इनके अनुसार दिल्ली-एनसीआर गोवा गुजरात और राजस्थान से आने वाले सड़क मार्ग के यात्रियों को 96 घंटे पहले आरटी पीसीआर नेगेटिव रिपोर्ट लानी होगी। दूसरे राज्यों से सड़क मार्ग के जरिए आने वाले लोगों की तापमान की जांच की जाएगी। विमान में बिना परीक्षण के जाने पर पाबंदी लगाई गई है।

राज्य सरकार ने विमान से आने वाले तमाम यात्रियों के लिए बेहद कड़े नियम बनाए हैं इनके अनुसार यदि आप हवाई जहाज से यात्रा कर मुंबई में उतरे हो तो आपके पास 72 घंटे पहले की आरटी पीसीआर नेगेटिव रिपोर्ट होना अनिवार्य है। बिना इस रिपोर्ट के आपको आने और जाने की इजाजत नहीं होगी। रेल यात्रियों के पास अगर यह रिपोर्ट नहीं है तो उनकी स्कीक्रीनिंग जाएगी और उनके तापमान की जांच की जाएगी।

सरकार के आदेश के मुताबिक अगर किसी के पास यह रिपोर्ट यात्रा के पहले मौजूद नहीं हैं तो उन्हें अपने खर्च पर इस टेस्ट को अनिवार्य रूप से करवाना होगा। परीक्षण के बाद ही उसे जाने की अनुमति होगी यदि कोई पॉजिटिव पाया गया तो उनका इलाज किया जाएगा।

राज्य सरकार आने वाले समय में कुछ और भी कड़े फैसले ले सकती है। कैबिनेट मंत्री विजय वडेट्टीवार ने सोमवार को बताया कि हम अगले आठ दिनों तक दिल्ली और गुजरात से आने जाने वाली ट्रेन और हवाई सेवा पर नजर रखेंगे। और उसके बाद इन दोनों जगहों के साथ यातायात को शुरू रखना है या फिर बंद करना है इस पर फैसला लिया जाएगा। यह फैसला 30 नवंबर के पहले लिए जाने की उम्मीद जताई जा रही है।

फिलहाल राज्य में मौजूदा लॉकडाउन की नियमावली लागू है। श्री वडेट्टीवार ने कहा कि अगर गुजरात ने लॉकडउन घोषित किया है। तब वहां के नागरिक न तो राज्य के बाहर जा सकते हैं और न ही बाहर से कोई नागरिक राज्य में अंदर जा सकता है। फिलहाल बीते सप्ताह केंद्र के साथ एक उच्च स्तरीय मीटिंग में गुजरात समेत तीन राज्यों ने हिस्सा लिया था।

उच्चतम न्यायालय ने भी आज इस मामले की चार राज्यों की कोरोना स्थिति रिपोर्ट को जाना। जिसमें दिल्ली, गुजरात और महाराष्ट्र भी शामिल है। रिपोर्ट में इस बात का भी जिक्र है कि दिसंबर का महीना कोरोना के लिहाज से काफी मुश्किलों भरा हो सकता है। लिहाजा राज्यों को पहले से ही तैयार रहना होगा। दिल्ली में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। रविवार को दिल्ली में 6746 मामले पाए गए हैं। महाराष्ट्र में 5753 मामले पाए गए हैं जबकि सोमवार को 4,153 नये मामले सामने आये।

डिस्क्लेमर : यह आर्टिकल न्यूज एजेंसी फीड के आधार पर प्रकाशित किया गया है। सिर्फ शीर्षक में बदलाव किया गया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co