भारत के लिए क्यों अहम है G-20 की अध्यक्षता
भारत के लिए क्यों अहम है G-20 की अध्यक्षताSyed Dabeer Hussain - RE

जानिए G-20 क्या है? और भारत के लिए क्यों अहम है G-20 की अध्यक्षता?

G-20 में प्रधानमंत्री मोदी ने अपने भाषण के जरिए संदेश दिया है कि भारत किसी के दबाव में आए बिना अपने अंदाज में ही G-20 की अध्यक्षता करेगा।

राज एक्सप्रेस। इंडोनेशिया के बाली में आयोजित किए गए G-20 शिखर सम्मेलन में इंडोनेशिया के राष्ट्रपति जोको विडोडो ने आधिकारिक तौर पर G-20 की अध्यक्षता भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सौंप दी है। इसी के साथ 1 दिसंबर से भारत अगले एक साल के लिए G-20 का अध्यक्ष बन जाएगा। ऐसे में जियोपोलिटिक्स के लिहाज से अगला एक साल भारत के लिए महत्वपूर्ण होने वाला है। G-20 में प्रधानमंत्री मोदी ने अपने भाषण के जरिए संदेश दिया है कि भारत किसी के दबाव में आए बिना अपने अंदाज में ही G-20 की अध्यक्षता करेगा। ऐसे में आज हम जानेंगे कि G-20 क्या है? और इसकी अध्यक्षता भारत के लिए क्यों इतनी महत्वपूर्ण है?

G-20 क्या है?

दरअसल G-20 दुनिया के बड़े 19 देशों और यूरोपियन यूनियन का एक संगठन है। इस संगठन में शामिल देशों की जीडीपी दुनिया की कुल जीडीपी का 80 प्रतिशत है। इसमें संगठन में भारत, संयुक्त राज्य अमेरिका, रूस, चीन, यूनाइटेड किंगडम, फ्रांस, अर्जेंटीना, ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील, कनाडा, यूरोपियन यूनियन, जर्मनी, इंडोनेशिया, इटली, जापान, मेक्सिको, सऊदी अरब, दक्षिण अफ्रीका, दक्षिण कोरिया और तुर्की शामिल हैं। यह संगठन आर्थिक स्थिरता, जलवायु परिवर्तन, स्वास्थ्य, व्यापार, कृषि, रोगार, ऊर्जा, भ्रष्टाचार, आतंकवाद जैसे मुद्दों को लेकर काम करता है।

भारत के लिए क्यों अहम है?

दरअसल G-20 का अध्यक्ष होने के नाते भारत अब इसका एजेंडा तैयार करेगा। दरअसल G-20 का एजेंडा वर्तमान अध्यक्ष, पहले वाला अध्यक्ष और आने वाले समय में बनने वाला अध्यक्ष करता है। यह पहला मौका है जब भारत G-20 की अध्यक्षता कर रहा है। ऐसे में दुनिया की जीडीपी के 80 फीसदी हिस्से पर कब्जा रखने वाले इतने बड़े देशों के संगठन की अध्यक्षता करना अपने आप में भारत के लिए अहम है। दुनियाभर का 75 फीसदी व्यापार इन्हीं 20 देशों में होता है। इस समय जब दुनिया आर्थिक मंदी, खाद्यान्न और ऊर्जा संकट से जूझ रही है, ऐसे में पूरी दुनिया की नजरें अब G20 और भारत पर होगी।

कश्मीर में हो सकता है इसका आयोजन :

G-20 का अध्यक्ष होने के नाते इसकी अगली बैठक का आयोजन भारत में होगा। ऐसे दुनिया के 20 बड़े देशों के राष्ट्राध्यक्ष भारत का दौरा करेंगे। इस बैठक के जरिए भारत दुनिया में अपनी ताकत का प्रदर्शन कर सकेगा। साथ ही भारत इस बैठक का आयोजन कश्मीर में करने पर भी विचार कर रहा है। अगर ऐसा होता है तो कश्मीर को लेकर भारत पर जो भी आरोप लगते रहे हैं, वह एक झटके में ही खत्म हो जाएंगे।

तीन अंतरराष्ट्रीय संस्थाओं का अध्यक्ष बनेगा भारत :

भारत इस समय शंघाई सहयोग संगठन का अध्यक्ष है जबकि 1 दिसंबर से भारत G-20 संगठन का अध्यक्ष भी बन जाएगा। इसके अलावा अगले महीने भारत संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की अध्यक्षता भी हासिल कर लेगा। ऐसे में एक साथ दुनिया के तीन बड़े संगठनों की अध्यक्षता मिलना भारत के लिए दुनिया में अपनी ताकत और क्षमता का प्रदर्शन करने का अच्छा मौका होगा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co