Corona Third Wave पर WHO ने चेताया- अभी शुरुआती दौर में हैं
Corona Third Wave पर WHO ने चेताया- अभी शुरुआती दौर में हैंSyed Dabeer Hussain - RE

Corona Third Wave पर WHO ने चेताया- अभी शुरुआती दौर में हैं

Corona Third Wave: विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के प्रमुख ने सभी देशों को चेतावनी दी कि, वे कोरोना की तीसरी लहर के शुरुआती फेज में आ चुके हैं।

Corona Third Wave: देशभर में महामारी कोरोना वायरस की दूसरी लहर के बाद कोरोना की तीसरी लहर के दस्‍तक को लेकर इधर केंद्र व राज्‍यों की सरकारों ने तैयारियां तेज कर दी हैं। इस बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूूएचओ) के प्रमुख ने इस लहर के बारे में सभी देशों को चेतावनी दी कि, वे कोरोना की तीसरी लहर के शुरुआती फेज में आ चुके हैं।

शुरुआती दौर में हैं कोरोना की तीसरी लहर :

महामारी कोरोना वायरस की तीसरी लहर को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के प्रमुख टेड्रॉस ए. गेब्रेयेसिस ने जानकारी देते हुए बताया कि, ''कोरोना की तीसरी लहर अभी शुरुआती दौर में हैं। दुनियाभर में डेल्टा वैरिएंट से संक्रमित मरीजों की संख्या अभी गिनती में हैं। अभी इसे बेकाबू होने से रोकना संभव है, हमेशा की तरह इस बार भी अगर लापरवाही हुई तो पहले से भी भयावह नतीजे सामने होंगे।''

कोरोना का डेल्टा वैरिएंट दुनिया के 111 देशों में दस्तक दे चुका है। डेल्टा जितनी तेजी से फैल रहा है उससे स्पष्ट है कि, आने वाले समय में पूरी दुनिया को अपनी गिरफ्त में ले लेगा।

WHO प्रमुख टेड्रॉस ए. गेब्रेयेसिस

वायरस लगातार अपने भीतर बदलाव कर रहा :

WHO प्रमुख ने इस दौरान संयुक्त राष्ट्र की रिपोर्ट का हवाला देते हुए यह भी बताया कि, ''वायरस लगातार अपने भीतर बदलाव कर रहा है। अपनी इस प्रवृत्ति के चलते वायरस समय के साथ अधिक घातक और अधिक संक्रामक होता जा रहा है। दुनिया के सभी देशों को वायरस के बदलते रूप को लेकर चौकन्ना रहना होगा नहीं, तो हालात बिगड़ सकते हैं। डेल्टा के बढ़ते प्रकोप के साथ स्वास्थ्य सुविधाओं को भी बेहतर करने का वक्त आ चुका है।''

इसके अलावा डब्ल्यूएचओ का यह कहना भी है कि, ''महामारी की तीसरी लहर को काबू करने के लिए दुनिया के हर देश को अपनी 10 फीसदी आबादी को सितंबर तक टीका लगाना होगा। वर्ष 2021 के अंत तक ये दर 40% जबकि 2022 के मध्य तक हर देश की 70% आबादी को टीका लग जाना चाहिए।'' दरअसल, डब्ल्यूएचओ को चिंता इस बात की है कि, टीका वितरण में असमानता के चलते इस लक्ष्य को हासिल करना मुश्किल है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co