World Radio Day 2020
World Radio Day 2020|Syed Dabeer - RE
भारत

World Radio Day: मनोरंजन के सबसे सस्ते साधन को समर्पित आज का दिन

सूचना-संचार और मनोरंजन प्रधान करने वाला सबसे सस्ता साधन है रेडियो। हर साल 13 फरवरी को विश्व रेडियो दिवस (World Radio Day) मनाया जाता है। यहाँ पढ़ें, कैसे और कब से मनाया जा रहा है विश्व रेडियो दिवस।

Kavita Singh Rathore

Kavita Singh Rathore

हाइलाइट्स :

  • 13 फरवरी हर साल मनाया जाता है विश्व रेडियो दिवस

  • रेडियो भी एंटरटेनमेंट का एक साधन है

  • रेडियो द्वारा कई खास अभियान चलाये जा रहे हैं

  • एक बार लोगों के बीच रेडियो का चलन फिर लौट आया है

राज एक्सप्रेस। दुनिया में रहने वाले सभी लोगों के दिमाग में कोई न कोई टेंशन चलती ही रहती है और इस टेंशन से फ्री होने का सबसे अच्छा तरीका होता है एंटरटेनमेंट। आज के इस युग में एंटरटेनमेंट के कई साधन हैं टीवी, मोबाईल आदि जैसे और भी बहुत सारे गेजेट्स। ऐसे ही रेडियो भी एंटरटेनमेंट का एक साधन है। जिसके द्वारा भी लोग अपना मनोरंजन कर सकते हैं तो, आज का दिन उसी रेडियो को समर्पित है। जी हां, आज के दिन अर्थात 13 फरवरी को हर साल विश्व रेडियो दिवस (World Radio Day) के रूप मनाया जाता है।

कब से मनाया जा रहा है World Radio Day :

World Radio Day का दिन निर्धारित करने के लिए सबसे पहले साल 2010 में स्पेन रेडियो एकेडमी द्वारा प्रस्ताव रखा गया था। साल 2011 में यूनेस्को की महासभा के 36वें सत्र में यह फैसला लिया गया कि, हर साल 13 फरवरी को World Radio Day मनाया जाएगा और इस बात की घोषणा कर दी गई। इसके बाद यूनेस्को की महासभा में लिए गए इस फैसले को संयुक्त राष्ट्र की महासभा द्वारा 14 जनवरी, 2013 में मंजूरी मिल गई। तब से हर साल 13 फरवरी को विश्व रेडियो दिवस के रूप में मनाया जाने लगा।

रेडियो का चलन :

आज से कई साल पहले लोग रेडियो को आकाशवाणी के नाम से भी जानते थे। पहले एक फ्रिक्वेंसी 103.5 विविध भारती (Vividh Bharati) ही चला करता था। लोग इसी के द्वारा दुनियाभर के समाचार, खबरें और गाने सुना करते थे। फिर जब मार्केट में मोबाईल ऐप और गेमिंग का क्रेज बड़ा तब रेडियो का चलन जैसे बंद सा होता नजर आने लगा था, लेकिन जब से नए-नए FM रेडियो स्टेशन खुले हैं तब से एक बार फिर रेडियो चलन में वापस आ गया। आज हम लोग के बीच कई फ्रिक्वेंसी रेडियो स्टेशन जैसे 93.5 Red FM, 94.5 My FM, 98.3 Radio Mirchi, 92.7 Big FM आदि उपस्थित है। इन रेडियो स्टेशन और उनके रेडियो जॉकी (RJ) के कारण एक बार फिर से लोगों में FM सुनने का क्रेज बढ़ गया है और लोग रेडियो को पसंद करने लगे हैं।

रेडियो द्वारा चलाये जा रहे हैं खास अभियान :

आज कई फ्रिक्वेंसियों पर न केवल गाने सुनने मिलते हैं बल्कि रेडियो जॉकी (RJ) द्वारा अच्छा खासा मनोरंजन हो जाता है और दुनियाभर की खबरें भी जानने को मिल जाती हैं। कई FM तो अपने शहर को साफ़ करने, गरीबों में कपड़े बांटने, वेस्ट प्लास्टिक को रीयूज करने जैसे खास अभियान तक चलाती है। जिससे देश को साफ़ सुथरा रखने और तरक्की करने में काफी मदद मिलती है। यदि एक लाइन में कहे तो, रेडियो हमें सूचना, संचार और मनोरंजन तीनों ही प्रदान करता है।

कैसे मनाया जाता है?

यूनेस्को द्वारा हर साल दुनिया भर के ब्रॉडकास्टर्स, संगठनों और समुदायों को बुला कर उनके साथ मिलकर रेडियो दिवस मानते हैं इस दिन कई तरह के प्रोग्रामों का आयोजन किया जाता है लोगों से रेडियो से जुड़ी चर्चा की जाती है। साथ ही संचार और मनोरंजन के साधन के लिए रेडियो की अहमियत के बारे में बताया जाता है। वहीं, लोगों को रेडियो की खासियत बता कर के रेडियो के प्रति जागरूक किया जाता है।

रेडियो है सबसे सस्ता साधन :

वर्तमान में सूचना प्रधान करने और मनोरंजन के लिए बहुत से साधन मार्केट में मौजूद हैं जैसे TV, कंप्यूटर, लेपटॉप, प्लेस्टेशन और मोबाईल फोन आदि। लेकिन यह सभी काफी महंगे होने के कारण हर कोई खरीद नहीं पाता है, लेकिन रेडियो सूचना प्रदान करने और मनोरंजन कराने वाला वर्तमान का सबसे सस्ता माध्यम है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, यूनाइटेड नेशंस रेडियो द्वारा पहली बार प्रसारण साल 1945 में 13 फ़रवरी को ही हुआ था और फॉर्मल रूप में पहली बार 'विश्व रेडियो दिवस' साल 2012 में मनाया गया था ।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co