Yasin Malik: तिहाड़ जेल में बंद यासीन मलिक ने खत्म की भूख हड़ताल, की थी ये मांग

तिहाड़ जेल में बंद अलगाववादी नेता यासिन मलिक (Yasin Malik) को लेकर खबर आई है कि, मलिक ने जेल अधिकारियों द्वारा आश्वासन दिए जाने के बाद अपनी हड़ताल को खत्म कर दिया है।
तिहाड़ जेल में बंद यासीन मलिक ने खत्म की भूख हड़ताल
तिहाड़ जेल में बंद यासीन मलिक ने खत्म की भूख हड़तालSocial Media

Yasin Malik: तिहाड़ जेल में बंद अलगाववादी नेता यासिन मलिक ने (Yasin Malik) अपनी मांगों को लेकर जेल के भीतर भूख हड़ताल शुरू की थी। अब खबर आई है कि, जेल अधिकारियों द्वारा आश्वासन दिए जाने के बाद मलिक ने अपनी हड़ताल को खत्म कर दिया है। बता दें, यासिन मलिक अपनी मांगों को लेकर पिछले दस दिनों से भूख हड़ताल पर बैठे थे।

बता दें कि, पिछले 10 दिनों से तिहाड़ जेल में भूख हड़ताल पर बैठे अलगाववादी नेता यासिन मलिक ने अपनी भूख हड़ताल खत्म कर दी है। जेल अधिकारियों ने कहा कि, जब यासीन मलिक को इस बारे में बताया गया कि, उनकी मांगों से संबंधित अधिकारियों को अवगत कराया गया है, उसके बाद उन्होंने अपनी भूख हड़ताल खत्म की।

जेल अधिकारियों ने बताया था कि, यासीन मलिक ने 22 जुलाई को भूख हड़ताल शुरू की थी, उसका कहना था कि, उसके केस की सही से जांच नहीं की गई। 26 जुलाई को मलिक को आरएमएल अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जिसके बाद 29 जुलाई को उसे फिर से जेल में भेज दिया गया। यासीन मलिक को पिछले महीने ब्लड प्रेशर में उतार-चढ़ाव के बाद आरएमएल अस्पताल में भर्ती कराया गया था और जेल लौटने के बाद उसने कुछ भी खाने से इनकार कर दिया था।

जानकारी के लिए बता दें कि, आतंकवाद के वित्तपोषण के मामले में यासीन मलिक तिहाड़ जेल में उम्रकैद की सजा काट रहा है। आपराधिक षडयंत्र रचने और राज्य के खिलाफ युद्ध छेड़ने से जुड़े मामलों में मलिका को इसी साल मई में दोषी ठहराया गया है। यासीन मलिक ने कोर्ट में सुनवाई के दौरान खुद पर लगे आरोपों को कबूल कर लिया था।

यासीन मलिक ने कहा था कि, वह UAPA की धारा 16 (आतंकवादी गतिविधि), 17 (आतंकवादी गतिवधि के लिए धन जुटाने), 18 (आतंकवादी कृत्य की साजिश रचने) और 20 (आतंकवादी समूह या संगठन का सदस्य होने) और भारतीय दंड संहिता की धारा 120-बी (आपराधिक साजिश) व 124-ए (देशद्रोह) के आरोपों को चुनौती नहीं देगा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co