UP : कानपुर में नहीं रुक रही Zika वायरस की रफ्तार, सामने आ चुके 137 मामले
UP : कानपुर में नहीं रुक रही Zika वायरस की रफ्तार Social Media

UP : कानपुर में नहीं रुक रही Zika वायरस की रफ्तार, सामने आ चुके 137 मामले

आज भारत में कोरोना कोहराम भले ही कम हो गया है, लेकिन भारत के उत्तर प्रदेश के कानपुर में जीका वायरस (Zika Virus) का प्रकोप बढ़ता जा रहा है। जबकि भारत में इस वायरस का पहला मामला केरल से सामने आया था।

उत्तर प्रदेश, भारत। आज भारत में भले कोरोना से मचने वाला कोहराम भले ही कम हो गया है। क्योंकि, पहले की तुलना में मामलों में काफी कमी दर्ज की जा रही है, लेकिन अन्य बीमारियां और वायरस अपने पैर पसारते ही जा रहे हैं। देश में पिछले दिनों एक-एक करके कई नई बिमारियों ने जन्म लिया है। पिछले महीनों के दौरान कई तरह के फंगस और डेल्टा, डेल्टा प्लस एवं कप्पा वैरिएंट ने देश में जम कर तबाही मचाई थी। उसी बीच भारत के उत्तर प्रदेश के कानपुर में जीका वायरस (Zika Virus) का प्रकोप बढ़ता जा रहा है। जबकि भारत में इस वायरस का पहला मामला केरल से सामने आया था।

कानपुर में बढ़ रहे Zika virus के मामले :

पिछले दो साल कोरोना वायरस के चलते सबके बहुत बुरे बीते हैं। लोगों में इसका आर्थिक, शारीरिक और मानसिक असर अब तक ख़त्म नहीं हुआ है। ऐसे में बीते महीनों केरल से जीका वायरस (Zika virus) के मामले सामने आए थे। जिसके बाद केरल स्वास्थ्य विभाग ने तत्काल अलर्ट जारी कर दिया था। वहीं, अब उत्तर प्रदेश में भी इस वायरस के कदम तेजी से बढ़ रहे हैं। क्योंकि, खबर है कि, उत्तर प्रदेश के कानपुर में Zika virus के संक्रमण के 137 मामलों की पुष्टि हो चुकी है। हालांकि, वायरस की पुष्टि होते ही सभी पीड़ितों को अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कर दिया गया है और अब तक इस वायरस से किसी की जान जाने की कोई खबर नहीं है।

बीते दिन भी सामने आये नए मामले :

खबरों की मानें तो, कानपुर में बीते दिन 3 नए मामले सामने आए हैं। इन मामलों को मिलकर अब कानपुर में कुल मामलों की संख्या 137 हो गई है। कानुपर से सामने आये नए तीनों मामले एयरफोर्स कालोनी से मिले हैं। यहां संक्रमित हुए लोगों में एक बच्ची, एक किशोर और एक महिला शामिल है। शहर में जीका संक्रमितों की संख्या 137 हो गई। जिसमें से अब 102 की रिपोर्ट निगेटिव आ चुकी हैं और शहर में अब सक्रिय मामले 35 बचे हैं। इस बारे में CMO डा. नेपाल सिंह ने बताया है कि, 'बीते दिन लखनऊ के किंग जार्ज मेडिकल युनिवर्सिटी की जांच रिपोर्ट में तीन नए लोगों में जीका के संक्रमण की पुष्टि हुई है।'

जीका वायरस के लक्षण :

जानकारी के लिए बता दें, जीका वायरस मुख्यतः एडीज प्रजाति के संक्रमित मच्छरों के काटने से फैलता है और इसके लक्षण डेंगू की तरह हैं। हालांकि, यह जानलेवा वायरस नहीं है, लेकिन यह संक्रमण मानव शरीर को काफी बीमार कर सकती है।

  • पहला और सबसे अहम लक्षण बुखार आना

  • चकत्ते (रैशेज) पड़ना

  • नाक बहना

  • सिर दर्द

  • कन्जंक्टिवाइटिस

  • जोड़ों में दर्द होना (जॉइंट्स पेन)

  • मांसपेशियों में दर्द

  • आंख लाल होना

बताते चलें, यह सेक्शुअल संबंध बनाने से एक दूसरे में फैल सकता है। साथ ही यदि किसी गर्भवती महिला इस वायरस से ग्रसित है तो उसका खतरा उसके बच्चे को भी होगा। गौरतलब है कि, जीका वायरस का पहला मामला अफ्रीका में साल 1947 में सामने आया था। इसके बाद साल 2015 में ब्राजील में जीका वायरस ने जमकर तबाही मचाई थी। वहीं, पिछले महीनों यह बीमारी भारत तक पहुंच चुकी है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co