Raj Express
www.rajexpress.co
Intermittent Fasting
Intermittent Fasting|Kavita Singh Rathore - RE
लाइफस्टाइल

अब मनपसंद खाना भरपेट खा कर मोटापे को कहो टाटा

आजकल वजन बढ़ना हर तीसरे व्यक्ति की समस्या है, हर कोई अपनी पसंद का खानपान के साथ फिट एंड स्लिम बॉडी भी चाहता है, लेकिन ऐसे में करे तो क्या? ऐसे में फिट रहने के लिए इंटरमिटेंट फास्टिंग का चुनाव करे।

Kavita Singh Rathore

Kavita Singh Rathore

राज एक्सप्रेस। आजकल बच्चों से लेकर बड़ों तक में वजन बढ़ना बहुत आम बात हो गई है, इसके लिए लोगों का खानपान काफी हद्द तक जिम्मेदार है। क्या आप भरपेट खाना खा कर भी तेजी से वजन घटाना चाहते है ? अगर हाँ, तो अपनाये इंटरमिटेंट फास्टिंग। ये एक प्रकार की डाइट होती है जो, वजन घटाने के लिए अभी काफी ट्रेंड में चल रही हैं।

क्या है इंटरमिटेंट फास्टिंग:

इंटरमिटेंट फास्टिंग एक तरह की डाइट है और आप इसे एक तरह के उपवास (व्रत) की तरह अपना सकते है। जिसमें आप 8 घंटे खाते हैं और बाकी के 16 घंटे व्रत रखते हैं, इसे अंतराल उपवास भी कहा जा सकता है। कई लोग 6 घंटे खाकर 18 घंटे का उपवास भी रखते हैं। हाल में हुआ एक शोध बताता है कि, इंटरमिटेंट फास्टिंग वजन घटाने के लिए एक अच्छा विकल्प है। अगर आप वजन घटाना चाहते हैं, मगर भूखे नहीं रहना चाहते हैं, तो आपको ये नया डाइट जरूर अपनाना चाहिए।

कैसे करें इंटरमिटेंट फास्टिंग :

आप अपने खाने के लिए 6 या 8 घंटे का समय निश्चित करें। जैसे- सुबह 10 से शाम 6 बजे तक या सुबह 10 बजे से शाम के 4 बजे तक। इस दौरान आप 1 बार हैवी नाश्ता करें और 1 बार भरपेट खाना खा लें। अगर भूख रह जाए, तो थोड़े से स्नेक्स खा लें। मगर इस तय समय के बाद या पहले आपको कुछ भी नहीं खाना है। इसके बीच में आप सिर्फ पानी पी सकते हैं। यही इंटरमिटेंट फास्टिंग यानी अंतराल उपवास कहलाता है। इंटरमिटेंट फास्टिंग में आपको खाने पर बाध्यता नहीं होती है, यानी आप अपनी मनपसंद चीजें खा सकते हैं, मगर आपको अपना खाने का पैटर्न बदलना पड़ेगा।

Intermittent Fasting
Intermittent Fasting

किन बातो का रखें ध्यान :

फास्ट फूड्स और जंक फूड्स से रहें दूर :

इंटरमिटेंट फास्टिंग का मतलब यह नहीं है कि, 8 घंटे के समय में आप अनहेल्दी चीजें खाएं। वैसे भी फास्ट फूड्स और जंक फूड्स खाने से आपको जल्दी भूख लग जाती है, इसलिए आपको ऐसी चीजें खाना चाहिए, जो लंबे समय तक पेट को भरा रखे और आपके शरीर को सभी जरूरी पोषक तत्व मिलें। फाइबर वाले आहार खाने से आपका पेट देर तक भरा रहता है। इसके अलावा प्रोटीन और विटामिन से भरपूर आहार भी आपको लंबे समय तक भूख से संतुष्ट रखते हैं।

बिना भूखे रहे, तेजी से घटता है वजन :

इंटरमिटेंट फास्टिंग की सबसे खास बात ये है कि, इससे आपका वजन तेजी से घटता है, वो भी बिना भूखे रहे। इस डाइट में आपको खाने-पीने की चीजों पर बाध्यता नहीं होती है, बल्कि खाने के समय की बाध्यता होती है।

शरीर से निकल जाती हैं सारी गंदगी :

जब आप इंटरमिटेंट फास्टिंग अपनाते हैं, तो आपके शरीर में जमा सारी गंदगी निकल जाती है और शरीर के अंग लंबे समय तक स्वस्थ रहते हैं। इसका कारण यह है कि, जब आप 16-18 घंटे तक भूखे रहते हैं, तो आपके पाचनतंत्र और शरीर के दूसरे अंगों को आराम करने का समय मिल जाता है। इसके अलावा फास्टिंग के दौरान आप सिर्फ पानी या तरल चीजें पीते हैं, जिससे पेशाब के सहारे आपके शरीर में जमा गंदगी बाहर निकल जाती है।

वजन घटाने के लिए लाल मिर्च काफी मददगार:

वजन कम करने के लिए शरीर का डिटॉक्सिफिकेशन जरूरी होता है और लाल मिर्च का सेवन इस काम में बेहद कारगर होता है, लेकिन सबसे बड़ी समस्या यह है कि, तीखी लाल मिर्च को खाया कैसे जाए? तो आप कई तरीकों से लाल मिर्च का सेवन कर सकते हैं, जैसे -

  • नींबू के रस के साथ इसे लेने पर यह शरीर के लिए प्राकृतिक डिटॉक्सिफिकेशन का काम करती है, लेकिन ध्यान रहे कि इसे संतुलित मात्रा में ही खाएं वरना इससे नुकसान हो सकता है।

  • लेमन टी के साथ दिनभर अधिक ऊर्जा पाने और चयापचय (मेटबॉलिज्म) को तेज करने के लिए सुबह को लाल मिर्च वाली लेमन टी पिएं। शुरुआत में लाल मिर्च पाउडर का आधा चम्मच लेमन टी में मिलाएं। इसका स्वाद बेहतर बनाने के लिये थोड़ा अदरक भी मिला लें।

  • सब्जियों और बीन्स का सलाद बनाएं और उसमें लाल मिर्च पाउडर मिलाकर खाएं। स्वाद को बढ़ाने के लिए इस बीन्स और सब्जियों वाले इस सलाद में नींबू का रस भी मिला लें।

  • आप लाल मिर्च को सूप बनाकर भी ले सकते हैं।

  • खाने की टेबल पर नमक की जगह लालमिर्च पाउडर के शेकर को रख दें। इस तरह आप खाना खाते समय थोड़ी ज्यादा लाल मिर्च का सेवन कर पाएंगे और आपका वजन भी कम होने लगेगा।

  • अगर आपको खाने के साथ लाल मिर्च खाना पसंद नहीं है, तो आप इसके केप्सूल भी ले सकते हैं। इस तरह आपकी स्वाद ग्रंथियों को बिना कष्ट हुए आपका मेटाबॉलिज्म तेज हो जाता है, लेकिन डाइट में लाल मिर्च को शामिल करने के साथ हेल्दी डाइट लेना भी सुनिश्चित करें और नियमित एक्सरसाइज भी करें।

फास्टिंग के दौरान भूख लगे तो यह सेवन करें :

अगर इस डाइट में फास्टिंग के दौरान आपको ज्यादा भूख लगती है, तो आप कुछ हल्की तरल चीजें जैसे- काली चाय, ब्लेक कॉफी, छाछ, सब्जियों का सूप आदि ले सकते हैं। मगर कोई ठोस आहार न खाएं।