हनुमान जयंती
हनुमान जयंती|Social Media
लाइफस्टाइल

आज मनाया जा रहा है हनुमान जयंती, इस तरह करें पूजा

भगवान हनुमान की जयंती इस साल 08 अप्रैल को मनाई जा रही है। इस दिन भक्त विधि विधान से श्रीराम भक्त हनुमान की पूजा करते हैं।

Sudha Choubey

Sudha Choubey

राज एक्सप्रेस। भगवान हनुमान की जयंती इस साल 08 अप्रैल को मनाई जा रही है। इस दिन भक्त विधि विधान से श्रीराम भक्त हनुमान की पूजा करते हैं। कहा जाता है कि, इस दिन बजरंगबली की अराधना से समस्त कष्ट दूर हो जाते हैं।

बता दें, इस दिन भगवान राम के परमभक्त हनुमान जी की सभी श्रद्धा भाव से पूजा करते हैं। इस बार कोरोना वायरस लॉकडाउन के कारण भक्तों को घर में रहकर ही हनुमान जी की पूजा अर्चना करनी होगी। हनुमान जी को बजरंगबली, केसरीनंदन, संकटमोचन और अंजनाय जैसे कई नाम से भी पुकारा जाता है।

लॉकडाउन में इस तरह से मनाए हनुमान जयंती:

इस वक्त पूरे देश में कोरोना वायरस के कारण लॉकडाउन चल रहा है, जिसकी वजह से सभी मंदिर बंद हैं। इसलिए सभी अपने घरों में इस त्यौहार को मना रहे हैं। आइए आपको बताते हैं कि, घर मे रहकर किस तरह पूजा कर सकते है।

शुभ मुहूर्त:

  • पूर्णिमा तिथि प्रारम्भ – अप्रैल 07, 2020 को 12:01 PM बजे

  • पूर्णिमा तिथि समाप्त – अप्रैल 08, 2020 को 08:04 AM बजे

  • पूजा का मुहूर्त- सुबह 8 बजे तक

  • सर्वार्थ सिद्धि योग- 05:46 AM से 06:07 AM

पूजा विधि:

  • हनुमान जयंती के दिन व्रत रखने वाले लोग एक दिन पहले से ब्रह्मचर्य का पालन करें।

  • हो सके तो जमीन पर सोयें। प्रातः ब्रह्म मुहूर्त में उठकर प्रभु श्री राम, माता सीता व श्री हनुमान का स्मरण करें।

  • इसके बाद नित्य क्रिया से निवृत होकर स्नान कर हनुमान जी की पूजा आरंभ करें।

बरतें ये सावधानियां:

  • हनुमान जी की पूजा में शुद्धता का बड़ा महत्‍व है। ऐसे में नहाने के बाद साफ-धुले कपड़े ही पहनें।

  • मांस या मदिरा का सेवन न करें।

  • अगर व्रत रख रहे हैं, तो नमक का सेवन न करें।

  • हनुमान जी बाल ब्रह्मचारी थे और स्‍त्रियों के स्‍पर्श से दूर रहते थे। ऐसे में महिलाएं हनुमन जी के चरणों में दीपक प्रज्‍ज्‍वलित कर सकती हैं।

  • पूजा करते वक्‍त महिलाएं न तो हनुमान जी मूर्ति का स्‍पर्श करें और न ही वस्‍त्र अर्पित करें।

हनुमान जी का जन्म:

वहीं अगर हनुमान जी के जन्म के बारे में बात करें, तो हनुमान जी का जन्म हिन्‍दू पौराणिक मान्‍यताओं के अनुसार, चैत्र मास की पूर्णिमा को शिव के रुद्र अवतार श्री हनुमान ने माता अंजनि के गर्भ से जन्‍म लिया था। हनुमान जी के जन्‍मोत्‍सव को हिन्‍दू धर्म में हनुमान जयंती के रूप में मनाया जाता है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर ।

Raj Express
www.rajexpress.co