ठंड भरे दिनों में खाएं ये हरी पत्‍तेदार सब्जियां भी
ठंड भरे दिनों में खाएं ये हरी पत्‍तेदार सब्जियां भीRaj Express

पालक मेथी ही नहीं, ठंड भरे दिनों में खाएं ये हरी पत्‍तेदार सब्जियां भी, मिलेगी भरपूर ताकत

मेथी, पालक ही नहीं बल्कि सर्दियों में कई हरे पत्‍तेदार सब्जियां भी स्‍वाद और पोषण देती हैं। आयरन से भरपूर इन सब्जियों के सेवन से शरीर में हीमोग्‍लोबिन लेवल बढ़ जाता है।

हाइलाइट्स :

  • सर्दियों में हरी सब्जियां होती है फायदेमंद।

  • आयरन से भरपूर होती हैं हरे पत्‍तेदार सब्जियां।

  • ठंडों में शरीर को गर्माहट देते हैं पालक के पत्‍ते।

  • पाचन में सुधार के लिए अच्‍छा है सरसों का साग।

राज एक्सप्रेस। सर्दियों के मौसम में हरी पत्‍तेदार सब्जियां खाने की सलाह दी जाती है। ये सब्जियां स्‍वाद में जितनी अच्‍छी होती हैं, इनसे मिलने वाला लाभ भी उतने ज्‍यादा होते हैं। हरी पत्‍तेदार सब्जियों में मौजूद पोषक तत्‍व ताकत के साथ इम्‍यूनिटी भी बढ़ाते हैं। जिससे आप बहुत जल्‍दी-जल्‍दी बीमार नहीं पड़ते। साथ ही इनके सेवन से शरीर में कभी भी आयरन की कमी नहीं होती। हेल्‍थ कॉन्शियस लोगों के लिए इनकी सादा सब्‍जी बनाकर खाना ही फायदेमंद है। आप चाहें, तो इनकी पूड़ी, भजिए, पराठे बनाकर खा सकते हैं। सुबह इनका सूप बनाकर भी पीने से गजब का फायदा होता है। कुल मिलाकर ये सब्जियां सर्दियों में किसी सुपर फूड से कम नहीं हैं। हालांकि, हरे पत्‍तेदार सब्जियों में आप पालक, मेथी के बारे में ही जानते होंगे, लेकिन आज हम आपको उन सब्जियों के बारे में भी बता रहे हैं, जो इनकी तरह ही हेल्‍दी हैं। इन्‍हें आप अपनी विंटर डाइट में शामिल कर सकते हैं।

मेथी के पत्‍ते

छोटे हरे पत्ते वाली मेथी का स्‍वाद हल्का सा कड़वा होता है। यही कड़वापन मेथी को गुणों की खान बनाता है। मेथी आयरन, विटामिन सी और विटामिन ए, फाइबर, प्रोटीन, जिंक, कॉपर, फोलिक एसिड का बेहतरीन स्‍त्रोत है। इसके सेवन से खून बढ़ता है। तासीर में गर्म मानी जाने वाली मेथी का पराठा या पूडी बनाकर खाएं, बहुत स्‍वादिष्‍ट लगता है। इसके अलावा आप आलू मेथी की सब्‍जी या मेथी की दाल बनाकर भी खा सकते हैं।

मोरिंगा की पत्‍ते

सर्दियों में मोरिंगा की पत्तियां पौष्टिक आहार है। इसमें एंटीऑक्‍सीडेंट, विटामिन और मिनरल्‍स भरपूर मात्रा में होता है। सहजन की पत्‍ती का इस्‍तेमाल सब्‍जी या फिर सांभर बनाने में कर सकते हैं। इससे स्‍वाद भी बढ़ता है और सेहत भी बनी रहती है।

बथुआ

यूरिक एसिड की समस्या से जूझ रहे लोगों के लिए बथुआ का साग बहुत फायदेमंद है। इसे खाने से शरीर में फाइबर, आयरन और कैल्शियम की मात्रा बढ़ती है। सर्दियों में बथुआ की कढ़ी, रायता, पूरी या सब्जी बनाकर खाई जा सकती है।

चौलाई के पत्‍ते

चौलाई लाल और हरी दोनों होती है। हरी चौलाई में विटामिन सी के साथ कैल्यिायम पर्याप्‍त मात्रा में होता है। ठंड के दिनों में इसे खाया जा, तो कई तरह के मिनरल्‍स की कमी पूरी हो जाती है।

सरसों के पत्‍ते

मक्‍के की रोटी के साथ सरसों के साग का कॉम्बिनेशन ही जबरदस्‍त है। इस साग की तासीर गर्म होती है, इसलिए इसके सेवन से ठंडों में गर्माहट बनी रहती है। इसके अलावा इसमें विटामिन बी12, सी, डी और मैग्नीशियम भी अच्छी मात्रा में होता है। पाचन में सुधार के लिए सरसों काफी कारगर है।

करी पत्‍ते

करी पत्‍ते अपने एंटीऑक्सीडेंट गुणों और स्‍वाद के लिए जाने जाते हैं। ये किसी भी चटनी या साउथ इंडियन फूड में अनोखापन एड कर सकते हैं। ठंडों में सर्दी जुकाम की समस्‍या आम होती है। इससे बचने के लिए करी पत्‍ते की चाय का सेवन करना बहुत फायदेमंद है।

सुआ

सुआ का साग अन्‍य पत्‍तेदार सब्जियों से थोड़ा अलग होता है। इसकी पत्तियां बारीक और स्‍वाद तीखा होता है। अपने गुणों के कारण यह हरे पत्‍तेदार साग भी तासीर में गर्म होता है। इसलिए सर्दियों में इसे खाने से शरीर में गर्माहट बनी रहती हे। बता दें कि सुआ का साग पालक के साथ मिलाकर बनाते हैं। इसमें मौजूद एंटी बैक्टीरियल और एंटी इंफ्लेमेटरी गुण अलग अलग संक्रमणों से बचाव करने में मदद करते हैं।

पालक

इम्‍यूनिटी के लिए सर्दियों में पालक को अपनी डाइट में शामिल करना चाहिए। इन दिनों ज्‍यादा से ज्‍यादा पालक खाएं। इसमें आयरन बहुत ज्‍यादा मात्रा में होता है। जिन लोगों के शरीर में आयरन की कमी होती है, उनके लिए पालक बहुत फायदेमंद है।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co