30 का पड़ाव पार कर चुके हैं आप, तो हर साल जरूर कराएं ये 7 टेस्‍ट
30 का पड़ाव पार कर चुके हैं आप, तो हर साल जरूर कराएं ये 7 टेस्‍टSyed Dabeer Hussain - RE

30 का पड़ाव पार कर चुके हैं आप, तो हर साल जरूर कराएं ये 7 टेस्‍ट

हम यहां आपको ऐसे 5 जरूरी टेस्‍ट के बारे में बता रहे हैं, जो 30 की उम्र होने पर आपको हर साल कराने चाहिए। इससे बीमारी के शुरुआती लक्षणों का पता चलता है और आप बेहतर जिन्दगी जी पाते हैं।

हाइलाइट्स :

  • किसी भी बीमारी का पता लगाने में मदद करते हैं टेस्‍ट।

  • 30 के बाद हर किसी को कराना चाहिए कोलेस्ट्रॉल टेस्‍ट ।

  • 30 के बाद जरूर कराएं ब्‍लड शुगर टेस्‍ट भी।

  • थायराइड, लिवर और किडनी की भी जांच कराना जरूरी।

राज एक्सप्रेस। क्‍या आप भी 30 की उम्र का पड़ाव पार कर चुके हैं। अगर हां, तो अब वक्‍त आ गया है कि आप अपनी सेहत का ख्‍याल रखें। जी हां, 30 की उम्र एक ऐसा समय है, जब आप पर्सनल और प्रोफेशनल तौर पर काफी व्‍यस्‍त होते हैं। आप पर जिम्मेदारियों का बोझ होता है। इस दौरान आपके पास खुद के लिए भी पर्याप्त समय नहीं रहता। ऐसे में मानसिक और शारीरिक स्‍वास्‍थ्‍य की देखभाल करना तो बहुत दूर की बात है।

अगर आप व्यस्तता के चलते अपनी देखभाल नहीं कर पाते, तो कम से कम अपने स्‍वास्‍थ्‍य के प्रति जागरूक रहकर भविष्‍य में होने वाली बीमारियों से तो बच सकते हैं। डॉक्‍टर्स कहते हैं कि जो लोग 30 की उम्र पार कर लेते हैं, उन्‍हें हर साल कुछ तरह के टेस्‍ट जरूर कराने चाहिए। हालांकि, कई लोग इसे इग्‍नोर करते हैं। लेकिन यही वजह है कि आज बीमारियों का पता एडवांस स्‍टेज पर चलता है। ऐसे में मेडिकल टेस्‍ट किसी भी संभावित खतरे से आपको अवगत करते हैं और आपको उपचार में देरी से बचाते हैं। फिर भले ही आप बीमार होें या नहीं, इससे कोई फर्क नहीं पड़ता। आपके बुढ़ापे को सेफ और सिक्योर रखने के लिए समय-समय पर टेस्‍ट कराने जरूरी हैं। तो आइए जानते हैं 30 की उम्र में कौन कौन से टेस्‍ट कराने चाहिए।

ब्‍लड शुगर टेस्‍ट

30 की उम्र होने पर हर किसी को ब्‍लड शुगर टेस्‍ट जरूर कराना चाहिए। क्योंकि डायबिटीज एक साइलेंट किलर है और उम्र बढ़ने के साथ इसका रिस्‍क भी बढ़ता है। इसलिए साल में एक से ज्यादा बार ब्‍लड शुगर लेवल की निगरानी करना जरूरी है। खासतौर से जिन लोगों के घर में डायबिटीज का इतिहास रहा है, उन्‍हें नियमित रूप से टेस्‍ट कराते रहना चाहिए। समय -समय पर फास्टिंग ब्लड ग्लूकोज (FBS), पोस्ट प्रांडियल ब्लड ग्लूकोज (PPBS) और एचबीए1सी (Hba1c) की जांच कराने से प्री डायबिटीज की पहचान की जा सकती है।

कोलेस्ट्रॉल लेवल

हृदय स्वास्थ्य और ब्‍लड कोलेस्‍ट्रॉल लेवल के बीच गहरा कनेक्‍शन है। 30 के होने के बाद महिला हो या पुरुष सभी को कोलेस्‍ट्रॉल लेवल टेस्‍ट कराने पर ध्‍यान देना चा‍हिए। क्‍योंकि बिना डायबिटीज और मोटापे के भी आपका कोलेस्ट्रॉल लेवल हाई हो सकता है, जो हृदय स्‍वास्‍थ्‍य के लिए खतरनाक है। इसके लिए लिपिड प्रोफ़ाइल टेस्‍ट होता है। एलडीएल लेवल को मापने के लिए यह जरूरी है।

ब्‍लड प्रेशर

काम का तनाव, आहार और व्यक्तिगत कारणों से ब्‍लड प्रेशर बड़ी आसानी से गड़बड़ा जाता है। आइडल ब्‍लड प्रेशर 120/80 माना गया है। हमारा ब्‍लड प्रेशर दिनभर में कई बार इससे ज्‍यादा भी हो सकता है और कम भी। बेहतर होगा कि आप चेकअप कराते रहें , इससे पता चलेगा कि वर्तमान रीडिंग सामान्य है या नहीं। अगर ऐसा नहीं है, तो आपको बार-बार ब्‍लड प्रेशर की जांच करानी पड़ सकती है।

कैंसर स्‍क्रीनिंग

30 वर्ष से ज्‍यादा उम्र के पुरुषों और महिलाओं दोनों को कैंसर की जांच कराने की सलाह दी जाती है। पैप स्मीयर टेस्‍ट महिलाओं के कैंसर से संबंधित गर्भाशय ग्रीवा में बदलावों का पता लगाते हैं। इसे कम से कम हर 5 साल में कराया जाना चाहिए, लेकिन जब महिला 30 वर्ष की हो जाती है, तो ह्यूमन पैपिलोमा वायरस टेस्‍ट भी उतना ही जरूरी है। जबकि पुरुषों को प्रोस्टेट कैंसर के मार्कर प्रोस्टेट-स्पेसिफिक एंटीजन (PSA) की जांच के लिए हर 2 से 3 साल में एक बार पीएसए टेस्‍ट कराना चाहिए।

जनरल टेस्‍ट बैटरी

आपके अंग कैसे काम कर रहे हैं, इसके लिए आप हर साल जनरल टेस्ट बैटरी कराएं। इनमें सीबीसी और वायरल स्क्रीनिंग के साथ-साथ थायराइड, किडनी और लीवर फ़ंक्शन टेस्‍ट भी शामिल होते हैं।

स्‍पेशल टेस्‍ट बेटरी

हम सभी जानते हैं कि विटामिन डी, विटामिन बी12 और कैल्शियम स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण है। हर साल इनके टेस्‍ट कराने के लिए कहा जाता है। इससे लंबे समय तक जीवित रहने की संभावना बढ़ जाती है।

कराएं कुछ सामान्‍य टेस्‍ट भी

इन सबके अलावा 30 की उम्र शुरू होते ही थायराइड , किडनी और लिवर फंक्शन टेस्ट कराने से आप अच्‍छा जीवन जी सकते हैं। यह बताएगा कि आपके शरीर में थायराइड ग्रंथि, किडनी और लिवर ठीक से काम कर रही है या नहीं । आम तौर पर, ये लैब टेस्‍ट के अंतर्गत आते हैं। वहीं हर साल विटामिन और कैल्शियम की जांच कराना भी जरूरी है।

30 की उम्र में भले ही शारीरिक रूप से फिट हों, लेकिन हमें समझना चाहिए कि उम्र बढ़ने के साथ दिक्‍कत बढ़ सकती है। इसलिए लापरवाही न बरतते हुए हर साल यहां बताए गए टेस्‍ट जरूर करा लें और स्वस्थ रहें।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co