हार्मोन्स को संतुलित कर सकता है ये एक सिंपल सा रूटीन

शरीर में हार्मोनल बैलेंस बनाए रखने के लिए सही डाइट के साथ अच्‍छी नींद भी जरूरी होती है। आयुर्वेद कहता है कि हार्मोनल इंबैलेंस से बचने के लिए रात 10 बजे से पहले साे जाना चाहिए।
हार्मोन्स को संतुलित कर सकता है ये एक सिंपल सा रूटीन
हार्मोन्स को संतुलित कर सकता है ये एक सिंपल सा रूटीनRaj Express
Submitted By:

हाइलाइट्स :

  • हार्मोनल बैलेंस के लिए रात 10 बजे से पहले सोना जरूरी।

  • खराब नींद से गड़बड़ाता है हार्मोन लेवल।

  • सोने से 2 घंटे पहले वर्कआउट न करें।

  • पैरों की मालिश करें।

राज एक्सप्रेस। हर महिला एक हेल्‍दी बॉडी चाहती है। इसके लिए जरूरी है कि आपके हार्मोन बैलेंस रहें। क्‍योंकि हार्मोन्‍स में जरा सी गड़बड़ी से पीसीओडी, ब्‍लड शुगर, थकान, सिरदर्द, डाइजेशन और थायरॉइड का कारण बन सकती है। यहां तक के महिलाओं के पीरियड और फर्टिलिटी पर भी हार्मोन्‍स के असंतुलन का असर पड़ता है। हार्मोन्‍स संतुलित रहें, इसके लिए सही डाइट और वर्कआउट पर ध्‍यान देना चाहिए। आयुर्वेद एक्‍सपर्ट डॉ. वारालक्ष्‍मी ने इंस्‍टाग्राम पर एक पोस्‍ट शेयर की है। इसमें उन्‍होंने हार्मोनल हेल्‍थ को बढ़ावा देने के लिए एक सिंपल से रूटीन को फॉलो करने की सलाह दी है। तो आइए जानते हैं इस रूटीन के बारे में।

रात 10 बजे से पहले सोने की आदत डालें

खराब नींद हार्मोन इंबैलेंस के लिए जिम्‍मेदार है। इससे कई और समस्‍याएं भी पैदा होती हैं। इसलिए हमें रात 10 बजे से पहले सो जाना चाहिए। इस एक आदत को अपने डेली रूटीन में अपनाकर हार्मोन लेवल को 200 प्रतिशत तक बढ़ा सकते हैं।

खराब नींद से गड़बड़ाता है हार्मोनल लेवल

आयुर्वेद एक्‍सपर्ट के अनुसार, हमारे शरीर को कम से कम 7 से 8 घंटे की ठोस नींद की जरूरत होती है। अगर आप सोचते हैं कि रात 12 बजे से सुबह 8 बजे तक 8 घंटे की नींद काफी है, तो आप गलत हैं। सुबह उठने का समय आपकी सर्कैडियन लय के लिए सबसे ज्‍यादा मायने रखता है।

हार्मोन को ठीक करने के लिए नींद को ठीक करें

एक्‍सपर्ट कहती हैं कि अगर आप चाहते हैं कि आपके हार्मोन ठीक बने रहें , इसके लिए पहले आपको अपनी नींद को ठीक करना होगा। कई लोग चाहते हुए भी 10 बजे से पहले नींद नहीं ले पाते, अगर आपके साथ भी ऐसा ही होता है, तो यहां कुछ कुछ तरीके दिए गए हैं जिन्हें अपनाकर आप 10 बजे से पहले सो सकते हैं।

चाय-कॉफी ना पिएं

खाली पेट चाय या कॉफी ना पिएं। यहां तक की शाम को 4 बजे के बाद चाय और कॉफी पीने से हार्मोन इंबैलेंस की समस्‍या हो सकती है।

सोने से पहले वर्कआउट न करें

जिन लोगाें को जल्‍दी नींद नहीं आती, वे थोड़ा वर्कआउट करके सोते हैं। आयुर्वेद कहता है कि सोने से दो घंटे पहले किसी तरह की एक्‍सरसाइज या वर्कआउट नहीं करना चाहिए।

रात 8 बजे से पहले खा लें खाना

आयुर्वेद एक्‍सपर्ट कहती हैं कि रात को 8 बजे से पहले खाना खा लेना चाहिए। ऐसा करने से हमारे शरीर का नेचुरल सिस्‍टम दुरुस्त रहता है। जिससे मेटाबॉलिज्म ठीक रहता है और हमारे शरीर में हार्मोन का संतुलन बना रहता है। ध्‍यान रखें कि रात के भोजन में मीट या पनीर से जुड़ी कोई भी डिश ना खाएं। रात का खाना जितना लाइट होगा, उतना आपके हार्मोन्‍स का स्‍तर संतुलित रहेगा।

पैरों की मालिश करें

जल्‍दी सोने के लिए ब्राह्मी तेल या लैवेंडर तेल से पैरों की मालिश कर सकते हैं। नींद न आए, तो सोने से पहले किताब पढ़ना भी अच्‍छा विकल्‍प है।

फोन बंद रखें

गर आप वास्‍तव में जल्‍दी सोना चाहते हैं, तो फोन को बंद कर दें। यह आपकी आंखों के लिए सुरक्षित उपाय है। इससे रात के समय कॉर्निया ब्‍लू लाइट से थोड़ा कम प्रभावित होगा।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

और खबरें

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co