कई रोगाें का सस्‍ता इलाज है पतंगबाजी
कई रोगाें का सस्‍ता इलाज है पतंगबाजीRaj Express

Makar Sankranti : कई रोगाें का सस्‍ता इलाज है पतंगबाजी, न करें इसे उड़ाने में कंजूसी

मकर संक्रांति पर पतंग उड़ाने की परंपरा सालों से चली आ रही है। इस गतिविधि में हिस्‍सा लेकर आपको न केवल खुशी और संतुष्टि का अहसास होगा, बल्कि आप कई रोगों से भी छुटकारा पा सकते हैं।

हाइलाइट्स :

  • मकर संक्रांति पर पतंग उड़ाने की परंपरा।

  • खुशी और शुभता का संकेत है पतंगबाजी।

  • पतंग उड़ाने से तनाव से मिलती है राहत।

  • मूड बूस्‍टर है पतंगबाजी।

राज एक्सप्रेस। साल 2024 में हममें से ज्‍यादातर लोगों ने फिट और हेल्‍दी रहने का संकल्‍प लिया होगा। पर क्‍या खुद से किए गए वादों पर आप साल भर टिके रह पाते हैं। ना चाहते हुए भी हम उन्हें फॉलो नहीं कर पाते। अगर ऐसा है, तो क्‍यों न समय-समय पर खुद को फिट और एनर्जेटिक बनाए रखने के लिए कुछ चीजों का आनंद लिया जाए। हम बात कर रहे हैं पतंगबाजी की। भारतवर्ष में 15 जनवरी का मकर संक्रांति का त्योहार मनाया जाएगा। दान दक्षिणा के साथ ही इन दिन पतंग उड़ाने की भी परंपरा होती है। कहीं- कहीं तो पतंगबाजी को लेकर प्रतियोगिताएं भी आयोजित होने लगी हैं। अगर आप अपने शरीर को स्‍वस्‍थ रखने के लिए कुछ नहीं कर पा रहे हैं, तो कुछ पल फुर्सत के निकालें और पतंग जरूर उड़ाएं। वैसे तो पतंग खुशी और शुभता का संकेत है, लेकिन पतंगबाजी करके आप खुद को कई रोगाें से भी दूर रख सकते हैं। कैसे, जानते हैं यहां।

दिल काे स्‍वस्‍थ रखे

क्‍या आप जानते हैं कि पतंग के पीछे दौड़ते समय आप एरोबिक एक्‍सरसाइज को एन्जॉय करते हैं। यह एक्सरसाइज मोटापा, हृदय रोग, हाई ब्‍लड प्रेशर जैसी स्थितियों के रिस्‍क को कम करती है। इसके अलावा पतंग उड़ाकर न केवल आप हार्ट रोट को नॉर्मल रख सकते हैं, बल्कि इम्‍यून सिस्‍टम को स्‍ट्रांग करके कई तरह के संक्रमण से बच सकते हैं।

चिंता और तनाव होगा गायब

दिनभर की थकान के बाद हम सभी कुछ देर चिंता और तनाव से राहत चाहते हैं। पतंग उड़ाने से आपका ये काम बहुत आसान हो सकता है। पतंग उड़ाने की बार-बार दोहराई जाने वाली गति के लिए बहुत ज्‍यादा फोकस करना पड़ता है, जो एक तरह का मेडिटेशन है। कुछ देर दिमाग को एक जगह फोकस करके तनाव की भावना कम होती है। इसके अलावा पतंग उड़ाने से आपको हैप्‍पी और सेटिस्फाइंग फील होगा।

विटामिन डी की कमी होगी पूरी

माना जाता है कि संक्रांति के दिन पतंग उड़ाने से आप सूर्य की किरणों के संपर्क में ज्‍यादा आते हैं। यह विटामिन डी लेने का बेहतर तरीका है। इससे शरीर में विटामिन डी का उत्पादन तेज होता है, जो कमजोर हो चुकी हड्डियों के लिए बहुत जरूरी है।

मूड को बेहतर बनाए

पतंग उड़ाना एक सोशल एक्टिविटी है। दोस्तों और परिवार के साथ पतंग उड़ाने का जो मजा है और कहीं नहीं। आज के समय में जब हर कोई अपनी दुनिया में मशगूल है, तब एक साथ समय बिताने और अच्‍छी यादें बनाने का यह मजेदार और शानदार तरीका है। पतंगबाजी कई लोगों को करीब लाने का भी काम करती है। इससे हैप्‍पी हार्मोन सेरोटोनिन बढ़ता है। यह हार्मोन आपके खराब मूड को बेहतर बनाने में बहुत हेल्‍पफुल है।

आंखों को स्‍वस्‍थ रखे

पतंग उड़ाना आंखों के स्वास्थ्य के लिए भी किसी चमत्‍कार से कम नहीं है। यह आंखों की मांसपेशियों के साथ ही नर्व्‍स को बेहतर ढंग से नियंत्रित करने में मदद करता है। जिससे आंखों में थकान नहीं होती और मायोपिया की समस्या से भी बचना आसान हो जाता है।

सर्वाइकल से बचाए

कामकाजी लोग गर्दन और कंधे में दर्द व ऐंठन से परेशान रहते हैं। लंबे समय तक एक ही पोजीशन में गर्दन और कंधों को रखने से सर्वाइकल की प्रॉब्‍लम आने लगी है। अगर आप इससे राहत चाहते हैं, तो छत पर जाकर पतंग उड़ा सकते हैं। पतंगबाजी एक तरह की एक्‍सरसाइज ही है , जिससे गर्दन और कंधे स्‍ट्रेच होते हैं। इससे हड्डियों का मेटाबॉलिज्‍म बढ़ता है और सर्वाइकल पेन से छुटकारा मिल जाता है।

पतंग उड़ाना एक मजेदार और किफायती एक्टिविटी है। यह हमारे मानसिक और शारीरिक दोनों स्वास्थ्य को सकारात्‍मक रूप से प्रभावित करती है। इतना ही नहीं आसमान में उड़ती रंग बिरंगी पतंग आंतरिक शांति देने के अलावा खुद पर नियंत्रण रखना भी सिखाती है।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co