महिलाओ में बांझपन के लक्षण हो सकते हैं, मोटापा या मुंह पर बालों का उगना
इंदौर, मध्य प्रदेश : पीसीओएस का पूरा नाम पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम है, जो महिला के असंतुलित हॉर्मोन की वजह से होती है। जिसकी वजह से महिला को गर्भधारण करने में मुश्किल होती है।
महिलाओ में बांझपन के लक्षण हो सकते हैं, मोटापा या मुंह पर बालों का उगना
पीसीओएस का पूरा नाम पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोमSocial Media

इंदौर, मध्य प्रदेश। पीसीओएस महिलाओं को होने वाली समस्या है, लेकिन इसके बावजूद इससे ज्यादातर महिलाएं अनजान रहती हैं। उनके लिए बिल्कुल नया शब्द है और इसी कारण जब किसी महिला को यह समस्या होती है, तो उस समय यह समझ नहीं पाती है कि उन्हें यह क्या हुआ है और वे इससे कैसे छुटकारा पाएं। रिपोर्ट के अनुसार भारत में हर 4 महिलाओं में से 1 महिला पीसीओएस से पीड़ित है। ये आकंड़े इस समस्या की गंभीरता को बखूबी तरीके से बयां करते हैं। ऐसे में यह जरूरी है कि महिलाओं को इसकी आवश्यक जानकारी दी जाए ताकि वे इसके प्रति सर्तक रह सके और यदि उन्हें कभी पीसीओएस हो तो उस स्थिति में वह इसका इलाज सही तरीके से करा सकें।

यह विचार मदरहुड हॉस्पिटल में पीसीओएस पर आयोजित वेबीनार को संबोधित करते हुए कंसलटेंट आब्स्ट्रेटियन एंड गॉयनोकोलाजिस्ट डॉ सोनम बक्शी ने व्यक्त किये। उन्होंने कहा कि पीसीओएस का पूरा नाम पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम है, जो महिला के असंतुलित हॉर्मोन की वजह से होती है। यह बीमारी मुख्य रूप से मासिक धर्म के अनियमित होने पर भी हो सकती है, जिसकी वजह से महिला को गर्भधारण करने में मुश्किल होती है। हालांकि, पीसीओएस का इलाज संभव है, लेकिन यदि काफी समय तक इसका इलाज न किया जाए तो गंभीर रूप ले सकती है और यह महिला बांझपन का कारण भी बन सकता है।

प्रमुख लक्षण :

मासिक धर्म का सही समय पर न होना इसका प्रमुख लक्षण है। आमतौर पर, इसे गर्भावस्था का संकेत समझा जाता है, लेकिन अक्सर यह पीसीओएस जैसी गंभीर बीमारी की शुरूआत का कारण भी हो सकता है। यदि किसी महिला को अधिक मात्रा में रक्तस्राव होता है, तो उसे इसकी जांच अपने डॉक्टर से करानी चाहिए क्योंकि यह पीसीओएस का लक्षण हो सकता है। शरीर के अंगों जैसे मुंह, पेट, कमर इत्यादि पर बालों का उगना - आपके कुछ ऐसी महिलाओं को देखा होगा, जिनके चेहरे, हाथों इत्यादि पर पुरूषों की तरह बाल होते हैं। यह भी बीमारी का प्रमुख कारण हैं। उन्होने बताया कि ऐसा मुख्य रूप से हॉर्मोन अंसुतलन की वजह से होता है, जिसके कई सारे अन्य परिणाम भी हो सकते हैं। इसके अतिरिक्त हर महिलाओं को मुंहासों की समस्या से गुजरना पड़ता है। कुछ महिलाएं इसे आम समस्या समझती हैं और इसी कारण वे इसका इलाज सही तरीके से नहीं कराती हैं। यदि किसी महिलाा का वजन काफी अधिक होता है, तो उसे कम करने का प्रयास करना चाहिए क्योंकि इसकी वजह से उसे काफी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। इस वेबीनार में बड़ी संख्या में महिलाएं मौजूद थी । जिन्होने अपने प्रश्नों का समाधान किया।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co