Raj Express
www.rajexpress.co
स्वस्थ आहार मिशन एक पहल
स्वस्थ आहार मिशन एक पहल|Social Media
हेल्थ एंड फिटनेस

National Nutrition Month- क्या आहार मिशन लाएगा,सेहत में सुधार?

राष्ट्रीय पौष्टिक आहार मिशन और स्वस्थ और संतुलित जीवनशैली को अपनाने की पहल की शुरूआत हो चुकी है क्या इस मिशन से होगी ,सेहत मजबूत और संतुलित या फिर लोग इसे नजरअंदाज कर अपनी सेहत से करेगें खिलवाड़ ?

Deepika Pal

राज एक्सप्रेस। 1 सितंबर से नेशनल न्यूट्रीशन मंथ या यों कहें की राष्ट्रीय पोषण आहार पखवाड़े की शुरुआत हो चुकी है। इस मिशन या पखवाड़े का उद्देश्य देशभर में लोगों को पौष्टिक आहार के प्रति जागरुक करने और नियमित रुप से सेवन करने से होने वाले फायदों के बारे में प्रेरित करने से है।

क्यों चलाया जा रहा है राष्ट्रीय पौष्टिक आहार मिशन?

राष्ट्रीय स्तर पर चलाए जा रहे इस मिशन का आधार आधुनिक जीवनशैली और अनुचित खानपान से होने वाली समस्याओं को खत्म करने से है । आमतौर पर लोग अपनी सेहत को नजरअंदाज कर पोषक तत्वों का सेवन न करते हुए बाहरी खानपान को अपनाते हैं जिसकी वजह से शरीर में पोषक तत्वों की कमी हो जाती है। जिसके कारण स्वास्थ्य से जुड़ी समस्याएं पैदा होती हैं।

आपको बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी द्वारा इस मिशन की शुरुआत की गई, इस मिशन की कुछ मुख्य बातें जो आपको जानना जरूरी हैं-

- इस मिशन का मकसद पोषण के तहत आने वाले, कुपोषण, एनीमिया, कम वजन वाले शिशुओं के आंकड़ो के स्तर को कम करने से है।

- यह मिशन मुख्य रुप से पौषक आहारों से जुड़ी गतिविधियों पर निगरानी और नीतियो को निर्देशित करने का काम करता है।

- सभी राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों के क्षेत्रों को इसमें शामिल किया गया है, जहां अब तक 2017-18 के आंकड़ो में 315 जिले शामिल थे, वहीं 2018-19 के बीच 235 जिले शामिल हो गए हैं। 2019-20 के आंकड़े आना अभी बाकी हैं।

- बता दें कि इस मिशन पर अगले 3 साल के लिए लगभग 9048 करोड़ रु. निर्धारित किए गए हैं।