बिना तकिया लगाए डालें साेने की आदत, मिलेंगे गजब के फायदे

अगर आप अक्‍सर ही गर्दन में दर्द और पीठ दर्द से परेशान रहते हैं, तो बिना तकिया के सोना शुरू कर दें। शोध बताते हैं कि तकिया ना लगाकर सोने से कई फायदे मिलते हैं।
बिना तकिया लगाए डालें साेने की आदत, मिलेंगे गजब के फायदे
बिना तकिया लगाए डालें साेने की आदत, मिलेंगे गजब के फायदेRaj Express
Submitted By:

हाइलाइट्स :

  • बेहतर नींद के लिए लोग करते हैं तकिया का इस्‍तेमाल।

  • बिना तकिया सोने से मिलते हैं बहुत फायदे।

  • पॉश्‍चर में सुधार संभव है।

  • तनाव को दूर करे।

राज एक्सप्रेस। रात में चैन से सोने के लिए लोगों को क्‍या चाहिए। एक कंबल और मुलायम सा तकिया। वैसे, कई लोग मोटा तकिया लगाकर सोते हैं, तो कुछ को बेहद पतला तकिया लगाने की आदत होती है। कुछ लोग तो सिर के नीचे तकिया लगाने के बजाय इसे सिरहाने रखकर सोते हैं। हालांकि, नियमित रूप से तकिया लगाकर सोने वाले लोगाें को कई दिक्‍कतों का सामना करना पड़ता है। या तो ये लोग गर्दन में दर्द के साथ उठते हैं , या फिर उनकी पीठ में दर्द रहता है। इस तरह की समस्‍याओं से बचने के लिए डॉक्‍टर्स भी बिना तकिए लगाए सोने की सलाह देते हैं। कई रिसर्च के अनुसार, बिना तकिये के सोने से भी गजब के फायदे मिलते हैं। अगर आपको भी डॉक्‍टर ने तकिया न लगाकर सोने के लिए कहा है, तो टेंशन ना लें। यहां इसके फायदे जान लें।

पॉश्‍चर में सुधार करे

कई लोगों को बहुत मोटे तकिए पर सोने की आदत होती है। लेकिन, ऊंचा तकिया लगाने से गर्दन झुक जाती है, जो समय के साथ स्थायी हो जाती है। इसका असर आपके पॉश्चर पर पड़ता है। बिना तकिया लगाए सोने से आपके पॉश्‍चर में सुधार हो सकता है।

पीठ और गर्दन के दर्द को रोके

गलत तकिये के चुनाव से पीठ और गर्दन में दर्द होने लगता है। दरअसल, जब हम तकिए पर सोते हैं तो गर्दन ऊपर या नीचे झुक जाती है, जिससे गर्दन में दर्द होने लगता है। वहीं तकिया लगाकर सोने से रीढ़ की हड्डी की स्थिति भी बदल जाती है, जो दर्द का कारण बनती है। जबकि आपका सिर बिना तकिये के प्राकृतिक स्थिति में रहता है, जिससे नर्व डैमेज को रोका जा सकता है। इससे आपकी गर्दन की मांसपेशियों को शांत करने में भी मदद मिलती है।

एलर्जी से मिलता है छुटकारा

कई लोगों को धूल से एलर्जी होती है। नियमित रूप से तकिए का कवर न बदलने पर बैक्टीरिया, धूल, गंदगी और अन्य कण समय के साथ तकिए पर जमा हो जाते हैं और आपके चेहरे के संपर्क में आते हैं, जिससे एलर्जी बढ़ने लगती है। ऐसे में जब आप तकिये का उपयोग नहीं करते, तो एलर्जी की संभावना नहीं रहती।

तनाव करे दूर

अगर आप गलत तकिया लेकर सोते हैं, तो हो सकता है कि आप रातभर करवट बदलते रहें। अगर ऐसा है, तो एक या दो बार बिना तकिया के सोकर देखें। इससे आपको अच्‍छी नींद आती है और तनाव भी दूर हो जाता है। वास्‍तव में तनाव से राहत पाने के लिए अच्‍छी नींद जरूरी है। इसके बाद हम काफी फ्रेश फील करने लगते हैं।

तकिए के बिना सोने की आदत कैसे डालें

अगर आपको हमेशा सॉफ्ट तकिए पर सोने की आदत है, तो आपको अपनी नई नींद की आदत के साथ तालमेल बिठाने में थोड़ी परेशानी हो सकती है। फिर भी, ऐसे तरीके हैं जिनसे आप धीरे-धीरे इस आदत से छुटकारा पा सकते हैं।

  • शुरुआत में अपने सिर के नीचे तकिए के बजाय मुड़ा हुआ कपड़ा रखें।

  • जब कपड़ा मोड़ें , तो वह ज्‍यादा ऊंचा या कड़क ना हो।

  • जब आप पीठ के बल लेटे हों, तो आपका सिर और गर्दन पीठ की सीध में होने चाहिए।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

और खबरें

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co