एड़ी के फटने की वजह है शरीर में विटामिन्‍स की कमी
एड़ी के फटने की वजह है शरीर में विटामिन्‍स की कमीRaj Express

एड़ी के फटने की वजह है शरीर में विटामिन्‍स की कमी, जानिए कैसे करें बचाव

कई वजहों से आपकी एड़ियां फट सकती हैं। अगर सालभर आप इन फटी एड़ियों से परेशान रहते हैं, तो यह किसी विटामिन की कमी का संकेत हो सकता है।

हाइलाइट्स :

  • विटामिन की कमी से फटती हैं एड़ियां।

  • त्‍वचा से जुड़ा है विटामिन सी और ई।

  • आहार में ड्राय फ्रूट्स को शामिल करें।

  • विटामिन ई के कैप्सूल ड्राई स्किन को हाइड्रेट करते हैं।

राज एक्सप्रेस। आमतौर पर हम सभी अपने चेहरे, हाथ और पैरों की खूब देखभाल करते हैं। पर किसी का ध्‍यान अपनी एड़ियों की तरफ नहीं जाता। सर्दियों में अक्‍सर एड़ी फटने की समस्या हो जाती है। जिससे न केवल पैर की सुंदरता खराब होती है, बल्कि स्किन को भी नुकसान होता है। कुछ लोगों को तो यह प्रॉब्‍लम सालभर बनी रहती है। इसकी कई वजह हो सकती हैं, जैसे खराब स्किन केयर रूटीन, गंदगी , रूखापन आदि। लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि एड़ियों के फटने के पीछे विटामिन की कमी भी हो सकती है। अगर आप हर मौसम में इस समस्‍या का सामना कर रहे हैं, तो यह इस बात का संकेत है कि आपके शरीर में कुछ विटामिन की मात्रा बहुत कम रह गई है। तो आइए जानते हैं किन विटामिन्‍स की कमी के कारण एड़ियां फट जाती हैं। साथ में जानेंगे इसके उपचार भी।

क्‍या है विटामिन्‍स की कमी और फटी एड़ियों का कनेक्‍शन

आपने सुना होगा कि अंदर से आपका स्‍वास्‍थ्‍य जैसा होता है , उसका सीधा असर आपकी त्‍वचा पर झलकता है। ऐसे में अगर आपको जरूरी विटामिन पर्याप्त मात्रा में नहीं मिल रहे हैं, तो त्‍वचा में नमी की कमी हो जाती है और त्वचा सुस्त, शुष्क और समय से पहले बूढ़ी दिखने लगती है। कुछ मामलों में, इससे आपकी त्वचा कटने या फटने का कारण भी बन सकती है। इनकी कमी से केवल एडियां ही नहीं बल्कि शरीर भी रूखा और बेजान होने लगता है।

किन विटामिन की कमी से फटती हैं एड़ियां

विटामिन ई

विटामिन ई एक ब्यूटी विटामिन है। शरीर में इसकी कमी से एड़ियां फटने लगती हैं। विटामिन ई स्किन सेल्‍स को सुरक्षित रखने और लंबे समय तक जीवित रहने में मदद करता है। इससे आपकी त्‍वचा स्वस्थ और प्रतिरक्षा प्रणाली मजबूत बनी रहती है। लेकिन शरीर में इसकी मात्रा जरा सी भी कम हो, रूखी त्वचा से एड़ियों के फटने का खतरा बढ़ जाता है।

विटामिन बी-3

विटामिन बी-3 को नियासिन नाम से भी जाना जाता है। यह पोषक तत्व एनर्जी मेटाबॉलिज्‍म में जरूरी भूमिका निभाता है। विटामिन बी-3 भी एक एंटीऑक्सीडेंट है। इसका मतलब यह है कि यह आपके शरीर में फ्री रेडिकल से लड़ता है। लेकिन, जब आपको पर्याप्त विटामिन बी-3 नहीं मिलता, तो पेलाग्रा नामक स्थिति का खतरा बढ़ता है। पेलाग्रा में त्‍वचा सूखी और पपड़ीदार हो जाती है, जो आपकी एड़ी सहित शरीर के कुछ हिस्सों पर दिखाई देने लगती है।

विटामिन सी

विटामिन सी को एल-एस्कॉर्बिक एसिड के नाम से भी जानते हैं। यह एक तरह का एंटीऑक्सीडेंट है, जो सेलुलर डैमेज को रोकने के काम आता है।

विटामिन सी की जरूरत शरीर को कोलेजन बनाने में पड़ती है। चूंकि, विटामिन सी आपकी त्वचा को नमी बनाए रखने में मदद करता है, इसकी पर्याप्त मात्रा नहीं मिलने से एड़ी सहित आपकी स्किन सेल्‍स में डिहाइड्रेशन और ड्राइनेस आ सकती है।

फटी एड़ियों के लिए घरेलू उपचार

  • हील बाम का उपयोग करना अच्‍छा है। इसे खासतौर पर ड्राई और डेड स्किन को मॉइस्चराइज करने, नरम करने और एक्सफोलिएट करने के लिए बनाया गया है।

  • अपने पैरों को 20 मिनट के लिए गुनगुने पानी में भिगोकर रखें। फिर एड़ियों से ड्राई स्किन को रिमूव करने के लिए प्यूमिस स्टोन, फुट स्क्रबर या लूफै़ण का उपयोग कर सकते हैं।

  • लिक्विड बैंडेज क्रैक हील को सील करने का अच्‍छा विकल्‍प है। यह स्‍प्रे के रूप में आपको मिल जाएगा।

  • अपनी डेली डाइट में ड्राई फ्रूट्स को शामिल करें।

  • पैरों को साफ करके मौजें पहने रहें।

  • कई रिसर्च बताती हैं कि शहद घावों को ठीक करने और साफ करने और त्वचा को मॉइस्चराइज़ करने में मदद कर सकता है। ऐसे में आप भी अपने पैरों को भिगोने के बाद शहद को फुट स्क्रब कर सकते हैं। इसके अलावा शहद का उपयोग रात भर फुट मास्क के रूप में भी किया जा सकता है।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co