Raj Express
www.rajexpress.co
वायरल संक्रमण इन बातों का रखें ध्यान
वायरल संक्रमण इन बातों का रखें ध्यान|PANKAJ BARAIYA - RE
हेल्थ एंड फिटनेस

वायरल संक्रमण बच्चों के लिए गंभीर खतरा, इन बातों का रखें ध्यान

बारिश के मौसम में वायरल संक्रमण की आशंका अधिक बढ़ जाती है। प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होने के कारण खासकर बच्चे वायरल संक्रमण की चपेट में सबसे ज्यादा आते हैं।

Priyanka Yadav

Priyanka Yadav

राज एक्सप्रेस। बदलता हुआ मौसम अपने साथ कई प्रकार की बीमारियों को लेकर आता है, जिससे इस बारिश के मौसम में वायरल संक्रमण की आशंका अधिक बढ़ जाती है। प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होने के कारण खासकर बच्चे वायरल संक्रमण की चपेट में सबसे ज्यादा आते हैं, लेकिन आप अपने बच्चे को इन संक्रमणों की चपेट में आने से वक्त रहते बचा सकते हैं।

वायरल संक्रमण के लक्षण-

  • बुखार रहना।

  • चक्कर आना या फिर ठंड लगना।

  • सिरदर्द व मांसपेशियों में दर्द होना।

  • नाक बंद रहना या इसका बहना।

  • गले में दर्द, खांसी, उल्टी और दस्त होना।

  • कभी-कभी शरीर पर लाल चकत्ते पड़ना।

बच्चों के लिए अधिक गंभीर खतरा 'वायरल संक्रमण'

वायरल संक्रमणों में भी रोटावायरस और एंटरिक वायरल (आंत संबंधी संक्रमण) जैसी बीमारियां बड़ों की तुलना में बच्चों के लिए अधिक गंभीर खतरा पैदा करती हैं। बाल अवस्था के ज्यादातर वायरल संक्रमण ज्यादा गंभीर नहीं होते। इनमें सर्दी लगना, नाक बहना, आंखों से पानी निकलना, गले में खराश होना, बुखार होना, त्वचा पर चकत्ते पड़ना और उल्टी व दस्त जैसी विभिन्न बीमारियां शामिल हैं। व्यापक पैमाने पर चलाए गए टीकाकरण के चलते खसरा जैसे गंभीर खतरे पैदा करने वाली कुछ संक्रामक बीमारियां अब कम ही देखने को मिलती हैं।