Raj Express
www.rajexpress.co
साबूदाने की खिचड़ी
साबूदाने की खिचड़ी|Priyanka Yadav - RE
लाइफस्टाइल

व्रत में ऐसे बनाएं स्वादिष्ट साबूदाने की खिचड़ी

आइए आपको बताते हैं व्रत (उपवास) में 'साबूदाना की स्वादिष्ट खिचड़ी' कैसे बनाई जाती है। जो खाने में बेहद स्वादिष्ट होने के साथ ही बनाने में भी आासान है।

Priyanka Yadav

Priyanka Yadav

राज एक्सप्रेस। अगर आपका भी कुछ व्रत (उपवास) के दौरान कुछ स्वादिष्ट खाने का मन कर रहा है तो आज हम आपको व्रत की रेसिपी साबूदाना की स्वादिष्ट खिचड़ी बनाना बताते है। जो खाने में काफी स्वादिष्ट और लाजवाब व्यंजन है, व्रत के दिनों में साबूदाने की खिचड़ी अधिक पसंद की जाती है तो, आइये जानते है इसे बनाने की आसान रेसिपी-

आवश्‍यक सामग्री

  • साबूदाना – 150 ग्राम

  • तेल - 1.5 बड़ी चम्‍मच

  • जीरा - आधा छोटी चम्‍मच

  • हरी मिर्च- 2-3 ( बारिक कटी हुई)

  • मूंगफली के दाने- 1 बड़ी चम्‍मच

  • आलू – 1/2

  • हरा धनिया -बारिक कटा हुआ

साबूदाना खिचड़ी बनाने की विधि :

साबूदाना खिचड़ी बनाने के लिए सबसे पहले साबूदाने को धोकर,1 घंटे के लिए भीगने रख दीजिए। यदि आप बड़े साबूदाने का प्रयोग कर रहें हैं। तो इसे 1 घंटे के बजाए लगभग 8 घंटे तक भिगों कर रख दीजिए। इसके बाद आलू को छीलकर धो लीजिए और छोटे-छोटे टुकड़े में काट लीजिए। बाद में मूंगफली के दानों को हल्का सा सुनहरे होने तक भून कर दरदरा पीस लीजिए। अब एक कढ़ाई (पैन) में तेल गर्म करिए।

तेल गर्म होने के बाद उसमें आलू के टुकड़े को हल्का सुनहरा होने तक तलकर एक प्लेट में निकाल कर रखिये। अब बचे हुए तेल में डालकर हल्का सुनहरा होने दें बाद इसमें हरी मिर्च डाल दे। अब इसमें साबूदाने डालें और इसे धीमी आंच पर पकने दीजिए। जब साबूदाना पक जाए तब उसमें आलू के टुकड़े मिला लीजिए। अब आपकी साबूदानें की खिचड़ी बनकर तैयार हो गई। अब इसे एक प्लेट में निकाल लीजिए और ऊपर से कटा हुआ हरा धनिया डालकर सजा लीजिए। अब गर्मागर्म साबूदाने की खिचड़ी सर्व करें।

साबूदाना के फायदे :

  • साबूदाने में कैल्शियम, आयरण और विटामिन की भरपूर मात्रा होती हैं जो हड्डियों की मजबूती के लिए जरूरी होती हैं।

  • साबूदाना का सेवन करने से वजन को आसानी से बढ़ाया जा सकता है साबूदाना में भरपूर मात्रा में कार्बोहाइड्रेट पाया जाता है। कैलोरी भी उच्च मात्रा में पाई जाती है।

  • साबूदाने में पोटेशियम होता हैं,जो शरीर में रक्‍त के प्रवाह को ठीक रखता हैं, जिससे ब्‍लड प्रैशर (रक्‍तचाप) की समस्‍या नहीं होती।

  • साबूदाना में अधिक मात्रा में कार्बोहाइड्रेट होता हैं जो शरीर को ऊर्जा देता हैं। व्रत के दिनों में इसको खाने से शरीर की कमजोरी दूर होती हैं।

साबूदाना के नुकसान :

  • साबूदाने में फाइबर पाया जाता है और फाइबर के अधिक सेवन से बच्चे के पेट में सूजन व गैस जैसी समस्याएं हो सकती हैं।

  • साबूदाने में मौजूद जिंक के अत्यधिक सेवन से बच्चों में भूख की कमी, पेट दर्द, सिर दर्द और उल्टी जैसी परेशानियां हो सकती है।

  • जो लोग अपना वजन कम करना चाहते हैं, उन्हें साबूदाना का सेवन नहीं करना चाहिए। इसमें अधिक मात्रा में कार्बोहाइड्रेट और कैलोरी की मात्रा होती है, जो वजन को बढाती है।

  • अगर साबूदाने को ठीक से नहीं पकाया जाता है तो वह बहुत ज्यादा नुकसानदायक हो सकता है हमारे स्वास्थ्य के लिए।