Makar Sankranti 2021 : मकर संक्रांति पर सूर्य देव जाएंगे शनि के घर
मकर संक्रांति पर सूर्य देव जाएंगे शनि के घरSocial Media

Makar Sankranti 2021 : मकर संक्रांति पर सूर्य देव जाएंगे शनि के घर

पौराणिक मान्यताओं के अनुसार मकर संक्रांति के दिन 14 जनवरी को सूर्य देव अपने पुत्र शनि के घर जाते हैं। चूंकि शनि मकर व कुंभ राशि का स्वामी है, लिहाजा यह पर्व पिता, पुत्र के अनोखे मिलन से जुड़ा है।

Makar Sankranti 2021। भारत में धार्मिक और संस्कृति दोनों ही नजरिए से मकर संक्रांति का बड़ा महत्व है। पौराणिक मान्यताओं के अनुसार मकर संक्रांति के दिन 14 जनवरी को सूर्य देव अपने पुत्र शनि के घर जाते हैं। चूंकि शनि मकर व कुंभ राशि का स्वामी है, लिहाजा यह पर्व पिता, पुत्र के अनोखे मिलन से जुड़ा है। एक अन्य कथा के अनुसार असुरों पर भगवान विष्णु की विजय के तौर पर भी मकर संक्रांति मनाई जाती है। बताया जाता है कि मकर संक्रांति के दिन ही भगवान विष्णु ने पृथ्वी लोक पर असुरों का संहार कर उनके सिर को काटकर मदार पर्वत पर गाड़ दिया था, तभी से भगवान विष्णु की जीत को मकर संक्रांति के तौर पर मनाया जाने लगा।

बालाजी धाम काली माता मंदिर के ज्योतिषाचार्य पं. सतीश सोनी के अनुसार पौष मास प्रतिपदा तिथि पर भगवान भास्कर का राशि परिवर्तन होगा। यह धनु राशि से मकर राशि में प्रस्थान करेंगे, इसी दिन मकर संक्रांति का पर्व मनाया जाएगा। इस दिन गंगा स्नान, दान, पुण्य करने से उत्तम फल की प्राप्ति होती है। इस बार मकर संक्रांति पर्व पर श्रवण नक्षत्र के साथ श्री वत्स योग रहेगा, इसके साथ ही इस दिन मकर राशि में पांच ग्रह एक साथ संचरण करेंगे। मकर राशि में सूर्य के अलावा चंद्रमा, शनि, बुध व गुरु का संचरण होगा। मकर जल की राशि है, चंद्र गुरु व बुध सुख कारी ग्रह हैं। इनके एक साथ होने से सुख व समृद्धि बढ़ेगी एवं श्रवण नक्षत्र में स्नान करने से इस पर्व का महत्व बढ़ेगा। वहीं इस योग के मिलन से जातकों को चार गुना लाभ भी मिलेगा।

सिंह पर सवार होकर आएगी संक्रांति :

वर्ष 2021 में संक्रांति का वाहन सिंह एवं उप वाहन हाथी रहेगा। इस वर्ष संक्रांति का आगमन श्वेत वस्त्र व पाटली कचुकी धारण किए बाल अवस्था में कस्तूरी लेपन किए हो रहा है। गदा आयुध शस्त्र लिए स्वर्ण पात्र में अन्न भक्षण करते हुए अग्नि दिशा को दृष्टिगत किए पूर्व दिशा की ओर गमन करते संक्रांति होगी।

मकर संक्रांति का मुहूर्त :

  • 14 जनवरी के दिन गुरुवार सुबह 8:03 से 12:30 तक।

  • कुल अवधि शुभ मुहूर्त की 4 घंटे 26 मिनट।

  • महापुण्य मुहूर्त 8:03 से 8:27 तक अवधि 24 मिनट रहेगी।

मकर संक्रांति का राशि अनुसार फलित :

मेष राशि इष्ट सिद्धि, वृषभ राशि धर्म लाभ, मिथुन राशि शारीरिक कष्ट, कर्क राशि स मान में वृद्धि, सिंह राशि चिंता, कन्या राशि धन की वृद्धि, तुला राशि क्लेश एवं मानसिक चिंता, वृश्चिक राशि सुख शांति, धनु राशि धन लाभ, मकर राशि स्थिर लक्ष्मी की प्राप्ति, कुंभ राशि लाभ ही लाभ, मीन राशि प्रतिष्ठा में वृद्धि।

मकर संक्रांति पर राशि अनुसार क्या करें दान :

  • मेष राशि- चादर एवं तिल का दान करें तो शीघ्र ही मनोकामना पूरी होगी।

  • वृषभ राशि- वस्त्र एवं तिल का दान करना शुभ रहेगा।

  • मिथुन राशि- चादर एवं छाते का दान लाभदायक सिद्ध होगा।

  • कर्क राशि- साबूदाना एवं वस्त्र का दान शुभ फल प्रदान करेगा।

  • सिंह राशि- कमल एवं चादर का दान क्षमता अनुसार करें।

  • कन्या राशि- सरसों का तेल तथा उड़द का दान करें।

  • तुला राशि- रुई वस्त्र का दान करें।

  • वृश्चिक राशि- खिचड़ी का दान करें।

  • धनु राशि- चने की दाल का दान करें तो विशेष लाभ होगा।

  • मकर राशि- कंबल और पुस्तक का दान करें तो होगी मनोकामना पूरी।

  • कुंभ राशि- साबुन वस्त्र कंगी का दान करें।

  • मीन राशि- साबूदाना कमल सूती वस्त्र व चादर का दान करें।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co