Shivratri 2021 : शिवजी आज बनेंगे दूल्हा, तो माता पर्वती बनेंगी दुल्हन
Shivratri 2021 : शिवजी आज बनेंगे दूल्हा, तो माता पर्वती बनेगीं दुल्हनसांकेतिक चित्र

Shivratri 2021 : शिवजी आज बनेंगे दूल्हा, तो माता पर्वती बनेंगी दुल्हन

इंदौर, मध्यप्रदेश : शिवरात्रि का महापर्व गुरुवार को शहरभर में पूरे उत्साह के साथ मनाया जाएगा। इसको लेकर शहरभर के विभिन्न शिवालय शिवभक्तों के लिए सज-धज कर तैयार हो गए।

हाइलाइट्स :

  • महाशिवरात्रि पर अलसुबह से शुरू हो जाएगा अभिषेक का दौर

  • शिवभक्तों में उत्साह का माहौल, शिवालय में हुआ विशेष श्रृंगार

इंदौर, मध्यप्रदेश। शिवरात्रि का महापर्व गुरुवार को शहरभर में पूरे उत्साह के साथ मनाया जाएगा। इसको लेकर शहरभर के विभिन्न शिवालय शिवभक्तों के लिए सज-धज कर तैयार हो गए। इस अवसर पर शिवधाम विवाह मंडप की तरह सजेगा और शिवजी दूल्हा और माता पार्वती दुल्हन बनेंगी। महा शिवरात्रि का उत्साह शहरभर में चल रहा है। गेंदेश्वर द्वादश 'योर्तिलिंग मंदिर परदेशीपुरा में बुधवार को भगवान को तेल-हल्दी लगाई गई। इसके बाद बधाई गीत गाए गए और मेहंदी लगाई गई। भजन गायकों ने भजनों की प्रस्तुति दी। शिवरात्रि पर सुबह चार बजे भस्मारती के बाद स्वर्ण कलश से अभिषेक किया जाएगा। शाम को विवाह मंडप में शंकर पार्वती दूल्हा-दुल्हन के रूप में विराजित रहेंगे।

आचार्य पण्डित रामचन्द्र शर्मा वैदिक के मुताबिक शिवरात्रि पर छ: ग्रह शनि प्रधान मकर व कुम्भ राशि में रहेंगे। संयोग से बुध भी दोपहर 12बजकर 35 मिनिट पर शनि प्रधान कुम्भ राशि मे प्रवेश कर शिव रात्री को मंगल व लोक कल्याणकारी बनायेंगे। प्रात: 6:19 बजे से दोपहर 2:40 वजे तक अमृत योग भी रहेगा, साथ ही शनि की मकर व कुम्भ राशि मे विराजमान सात ग्रह अनेकानेक शुभाशुभ योग निर्मित कर शिवरात्रि को शिवभक्तों के लिए कुछ खास बना रहे हैं।

गन्ने के रस से होगा रुद्राभिषेक :

महाशिवरात्रि के पावन पर्व पर एम टी एच कम्पांउड स्थित श्री गुलरेश्वर महादेव मंदिर में विभिन्न धार्मिक कार्यक्रम एवं अनुष्ठान सम्पन्न होंगे। महाशिवरात्रि पर मंदिर में फुल बंगला एवं आकर्षक लाइटिंग से सजाया गया है। गुरुवार सुबह 8 बजे गन्ने के रस से रूद्राभिषेक होगा एवं रात्रि 8बजे प्रसिद्ध भजन गायक सुरेश शर्मा की भजन संध्या आयोजित की है, सुबह से रात्रि तक फलाहारी खिचड़ी एवं खोपरा पाक का प्रसाद वितरित किया जाएगा। कार्यक्रम में मुख्य रूप से पंडित कृपा शंकर शुक्ला, विधायक संजय शुक्ला, सुरेश मिंडा, मनोज तोमर अनिल शुक्ला, यशवंत गायकवाड़ सहित अनेक गणमान्य जन उपस्थित रहेंगे।

महादेव का महाभिषेक एवं महाआरती होगी :

सातवां महाशिवरात्रि महोत्सव तुलसी नगर स्थित सरस्वती मंदिर प्रांगण में स्थापित चद्रमौलेश्वर महादेव मंदिर पर कल बृहस्पतिवार को पूर्ण धार्मिक श्रद्धा एवं हर्षोल्लाष के साथ मनाया जाएगा। बृहस्पतिवार सुबह 7 बजे से चंद्रमौलेश्वर महादेव का महाभिषेक एवं महाआरती होगी। अपरान्ह 4 बजे से प्रसाद वितरण शुरू होगा तथा शाम 5 बजे चंद्रमौलेश्वर महादेव का श्रृंगार किया जाएगा। संध्या 6 बजे से चंद्रमौलेश्वर महादेव मंदिर परिसर में भजन संध्या का आयोजन होगा जिसके अंतर्गत सुप्रसिद्ध भजन गायिका माला मिशन रागड़कर द्वारा संगीतमय आर्केस्ट्रा के बीच शिव के आराधना में सुमधुर भजनों की प्रस्तुतियां दी जाएगी। महाशिवरात्रि पर चंद्रमौलेश्वर महादेव मंदिर की भव्य पुष्प एवं विद्द्युत सज्जा की गई है। वहीं दूसरी तरफ तुलसी नगर एवेन्यू में निर्माणाधीन अनंतेश्वर महादेव मंदिर प्रांगण में भी महाशिवरात्रि के अवसर पर भक्तों के लिए ठंडाई तथा प्रसादी का आयोजन किया गया है।

मंदिर परिसर में ही भ्रमण करेंगे बाबा बाणेश्वर :

संस्था नमो नवगृह शनि एवं संस्था सत्यमेव जयते की मेजबानी में जलाभिषेक एवं शोभायात्रा का आयोजन 11 मार्च सुबह 11 बजे बाणेश्वर कुंड बाणगंगा पर होगा। इसमें महिलाओं द्वारा 12 हजार पार्थिव शिवलिंग का निर्माण कर मंदिर परिसर से शोभायात्रा भी निकाली जाएगी। यात्रा कोरोना काल को देखते यात्रा मंदिर परिसर में ही निकाली जाएगी। मनकामेश्वर कांटाफोड़ मंदिर अग्रसेन चौराहा नवलखा पर भगवान का केसर जल से अभिषेक किया गया। शिवरात्रि पर मनकामेश्वर शेषनाग पर सुनहरे महल पर भक्तों को दर्शन देंगे। इसको आकार कलकत्ता के 18 कलाकारों द्वारा दिया गया। भक्त दर्शन शारीरिक दूरी के नियम के पालन के साथ दिनभर करेंगे। इस अवसर पर प्रसाद वितरण होगा।

पारे से निर्मित शिवलिंग का पूजन :

एरोड्रम रोड स्थित श्री श्रीविद्याधाम पर महाशिवरात्रि पर 11 किलो वजनी पारदेश्वर शिवलिंग का पूजन-अभिषेक किया जाएगा। आश्रम परिवार के पूनमचंद अग्रवाल व पं. दिनेश शर्मा ने बताया कि शिवरात्रि पर गिरिजेश्वर महादेव के अभिषेक, लघु रूद्र महायज्ञ, संध्या को शिव आराधना होगी। महाशिवरात्रि पर चारों प्रहर लघु रूद्र, फलों के रस से अभिषेक तथा प्रत्येक प्रहर में भोग आरती जैसे अनुष्ठान होंगे। इसी प्रकार ब्रह्माकुमारी संस्थान द्वारा ओम शांति भवन पलासिया में द्वादश 'योर्तिलिंग की झांकी सजाई गई। इंदौर जोन की मुख्य क्षेत्रीय समन्वयक ब्रह्माकुमारी हेमलता दीदी ने बताया कि झांकी के दर्शन शाम पाच से रात्रि नौ बजे तक होंगे। सप्ताह भर चलने वाले कार्यक्रम में महाशिवरात्रि पर सभी केंद्रों पर शिवध्वजारोहण होगा।

भांग से होगा श्रृंगार, दूल्हे के रूप में देंगे दर्शन :

गांधी हाल स्थित गोपेश्वर महादेव मंदिर में महाशिवरात्रि पर भांग से श्रृंगार होगा। सुबह छह बजे आरती होगी। भगवान के दर्शन दूल्हे के स्वरूप में होंगे। दादी संगठन द्वारा महाशिवरात्रि पर शाम चार बजे हबलानी परिसर सपना-संगीता रोड पर पार्थिव शिवलिंग का पूजन किया जाएगा। इसके साथ भजन गायिका कृष्णाप्रिया की भजन संध्या भी होगी। संरक्षक उषा राजेश बंसल एवं संस्थापक मीना राजेन्द्र अग्रवाल ने बताया कि संगठन सदस्य बड़ी संख्या में शामिल होंगे। इसी प्रकार श्रद्धा सुमन सेवा समिति के तत्वावधान में शिवरात्रि पर सुबह 10 बजे इंदिरा गांधी नगर स्थित माता मंदिर पर 12 फलों के रस से महादेव का महाभिषेक किया जाएगा। इसके साथ ही श्रृंगार, पूजन एवं आरती होगी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.