Mahashivratri 2021 : महाशिवरात्रि पर भोलेनाथ के अभिषेक से दूर होंगे दोष
Mahashivratri 2021 : महाशिवरात्रि पर भोलेनाथ के अभिषेक से दूर होंगे दोषSocial Media

Mahashivratri 2021 : महाशिवरात्रि पर भोलेनाथ के अभिषेक से दूर होंगे दोष

महाशिवरात्रि का पर्व 11 मार्च को मनाया जाएगा। इस मौके पर जातक कालसर्प दोष, पित्र दोष और मंगल दोष से मुक्ति पाने के लिए भोलेनाथ का अभिषेक करेंगे।

राज एक्सप्रेस। महाशिवरात्रि का पर्व 11 मार्च को मनाया जाएगा। इस मौके पर जातक कालसर्प दोष, पित्र दोष और मंगल दोष से मुक्ति पाने के लिए भोलेनाथ का अभिषेक करेंगे। महाशिवरात्रि पर ग्रहों का संचरण मानव तंत्र में उर्जा का प्रभाव छोड़ेगा।

महाशिवरात्रि को लेकर शिवालय एवं शिव मंदिरों में तैयारी शुरू हो गई हैं, वहीं लाखों श्रद्धालुओं ने भी इस मौके के लिए खास आयोजन करने का निर्णय लिया है। शिव और शक्ति के मिलन का महान पर्व। इस दिन भगवान शिव और माता पार्वती का विवाह हुआ था, इसलिए भक्तगण महाशिवरात्रि को गौरी शंकर की शादी की सालगिरह के रूप में इसे मनाते हैं।

बालाजी धाम काली माता मंदिर के ज्योतिषाचार्य पंडित सतीश सोनी के अनुसार इस बार 11 मार्च गुरुवार के दिन महाशिवरात्रि बहुत ही शुभ मुहूर्त में पड़ रही है। फाल्गुन मास की कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी तिथि को महाशिवरात्रि का पर्व मनाया जाता है। इस दिन कुंभ राशि में चंद्रमा, सूर्य, शुक्र, बुध, ग्रह का संचरण होगा। इसके साथ ही शिव योग में धनिष्ठा नक्षत्र के होने से मानव तंत्र में ऊर्जा का प्रभाव प्राकृतिक रूप से ऊपर की ओर रहेगा। अत: योगी साधक भक्त शरीर को सीधी स्थिति में रखकर और सारी रात जागरण करेंगे। इसी दिन विधि-विधान से भगवान शिव की पूजा करने से धन, सौभाग्य, समृद्धि, संतान और आरोग्य की प्राप्ति के साथ समस्त मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं।

महाशिवरात्रि पर अशुभ ग्रह होंगे शांत :

महाशिवरात्रि के दिन भगवान शिव की पूजा करने से सभी तरह के अशुभ ग्रह शांत होते हैं। महाशिवरात्रि के दिन वैदिक विधि द्वारा पूजन करने से कालसर्प दोष, मंगल दोष, गुरु चांडाल दोष, अंगारक योग एवं राहु, केतु तथा चंद्रमा के अशुभ होने से व्यक्ति को मानसिक तनाव होता है, जिससे उसकी कार्य क्षमता प्रभावित होती है। इसके साथ ही धन हानि के हालात बनते हैं। महाशिवरात्रि पर शिव पूजा अर्चन से सभी तरह के दोष एवं दांपत्य जीवन से जुड़ी परेशानियां भी दूर होती हैं तथा जिन कन्याओं के विवाह में देरी या किसी प्रकार की बाधा आ रही है तो भगवान शिव के आशीर्वाद से मनचाहा वर की प्राप्ति भी होती है।

गरगज कॉलोनी स्थित बालाजी धाम में होगा कालसर्प दोष निवारण शांति महायज्ञ। बालाजी धाम काली माता मंदिर के महंत किशोर कुमार शर्मा ने बताया महाशिवरात्रि पर्व पर 11 मार्च को कालसर्प दोष निवारण महायज्ञ का आयोजन किया जाएगा। इसके लिए पंजीयन प्रारंभ कर दिए गए हैं, वही पूजा में बैठने के लिए सुबह 11 बजे से रात्रि 8 बजे तक निशुल्क जन्मपत्री देखी बताया जाएगा कि कुंडली में कालसर्प दोष तो नहीं हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co