Raj Express
www.rajexpress.co
मानसून हेल्थ टिप्स
मानसून हेल्थ टिप्स|Pankaj Baraiya - RE
लाइफस्टाइल

बारिश में भीगने के हैं शौकिन, तो अपनायें ये हेल्थ टिप्स

अधिकतर लोगों को बारिश में भीगने का बहुत शोक होता हैं, लेकिन दिक्कत तब आती है, जब बारिश में भीगने के बाद आप बीमार पड़ जाते हैं।

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

राज एक्‍सप्रेस। बारिश के मौसम में भीगना किसे अच्‍छा नहीं लगता, अधिकतर लोगों को बारिश में भीगने का बहुत शोक होता हैं, लेकिन दिक्कत तब आती है जब बारिश में भीगने के बाद आप बीमार पड़ जाते हैं। बारिश के मौसम में भीगते वक्‍त कुछ लापरवाही या जरा- सी चूक होने पर स्वास्थ्य से सम्बंधी कई दिक्कतें होने लगती हैं, क्‍योंकि आमतौर पर बरसात के मौसम में बैक्टीरियल व वायरल बीमारियों का खतरा काफी बढ़ जाता है, जिससे बुखार, जुकाम जैसी समस्‍या होने लगती हैं, जिस कारण कई लोग रिमझिम बारिश का मजा नहीं ले पाते, परंतु फिर भी अगर आप ये चाहते है कि, हम मानसून के मौसम में बारिश का फुल मजा ले तो आप जरूर ले, लेकिन इससे पहले आप हमारे द्वारा बताई जा रही मानसून हेल्थ टिप्स का ध्‍यान जरूर रखें। तो आइये जानते है कि, आखिर ऐसी कौन सी बातों का ध्‍यान रखकर हम बिना बीमार पड़े बारिश का आनंद उठा सकते हैं, तो आप इन बातों का रखें ध्यान...

बारिश की पहली फुहार में भीगने से बचे :

बारिश में भीगने से पहले हम आपको बता दे कि, कभी भी बारिश की पहली फुहार या पानी में न भीगे, क्‍योंकि यह आपके स्‍वास्‍थ्‍य व त्‍वचा संबंधी बीमारियां जैसे- रैशेज, मुंहासे की समस्‍या होने लगती हैं, दरअसल, इसके पीछे वजह यह है कि, बरसात की पहली फुहार प्रदूषित होती है, एवं इसका असर सीधे हमारी त्वचा व स्‍वास्‍थ्‍य पर पड़ता है।

बारिश की पहली फुहार में भीगने से बचे
बारिश की पहली फुहार में भीगने से बचे

ज्यादा देर तक भीगे कपड़ों में न रहें :

अत: आप इस बात का ध्‍यान जरूर रखें, अगर आप बरसात में भीग कर बारिश का मजा ले ही चुके हैं, तो आप अपनी सावधानी के तौर पर ज्‍यादा देर तक भीगे हुए कपड़ों में न रहें, क्‍योंकि जितना ज्‍यादा अधिक हम बारिश के पानी में भीगने से बीमार होते है, उससे कहीं ज्यादा गीले कपड़ों में रहने से भी स्वास्थ्य सम्बंधी समस्याओं से रूबरू हो जाते है।

बारिश में भीगने के हैं शौकिन, तो अपनायें ये हेल्थ टिप्स

गुनगुने पानी से नहाएं :

बारिश में भीगने का कुछ अलग ही मजा होता है, लेकिन भीगने के तुरंत बाद ठंड भी लगती है एवं ऐसे में भीगने के बाद ठंडे पानी से नहाना, ये आपकी समझदारी नहीं है, क्‍योंकि अगर आप ठंडे पानी से नहाते है तो इससे आपके शरीर में ठंड बैठ सकती है और आपको बुखार, जुकाम, सिरदर्द, जैसी बीमारियां हो सकती हैं। अतः बरसात की फुहार में भीगने के बाद आप ठंडे पानी नहीं, बल्कि गुनगुने पानी से ही नहाएं।

इस साबुन का करें इस्तेमाल :

शायद ये तो आपको पता ही होगा कि, बरसात की फुहार से नहाएं हुए पानी में असंख्य किटाणु होते हैं और इन किटाणुओं से बचने के लिए यह जरूरी है कि, आप नहाने के लिए एंटीसेप्टिक साबुन का ही इस्तेमाल करें। अगर आपके पास एंटीसेप्टिक साबुन नहीं है, तो आप नहाने के पानी में डेटॉल डाल कर इस पानी से नहाएं।

नहाने के लिए एंटीसेप्टिक साबुन व डेटॉल का करें इस्तेमाल
नहाने के लिए एंटीसेप्टिक साबुन व डेटॉल का करें इस्तेमाल

पैरों की अंगुलियां अच्छी तरह धोएं :

बारिश के समय भीगने से सबसे ज्यादा हमारे पैरों की अंगुलियां प्रभावित होती हैं और हम अक्सर नहाते वक्‍त पैरों की अंगुलियां को अनदेखी कर देते हैं और इन्‍हें सही से साफ नहीं करते, तो आप ये बात को ध्‍यान जरूर रखें एवं नहाते वक्‍त पैरों को अच्छी तरह से धोएं। दरअसल, आपने ये देखा ही होगा की बारिश में या पानी में रहने के बाद हमारे पैरों की अंगुलियां ठिठूर जाती हैं एवं सफेद भी होने लगती है। अगर अंगुलियों की सही तरीके से साफ नहीं किया जाएं और सूखे कपड़े से नहीं पोछा जाएं, तो इसमें फंगस जैसी बीमारी लगने की आशंका बढ़ सकती है।

पैरों की अंगुलियां धोएं
पैरों की अंगुलियां धोएं

बालों को जल्द से जल्द सुखाएं :

बरसात में भीगने के बाद शरीर ठंड के कारण कंपकपाहट से भर जाता है। ऐसे में आप अपने बालों को जल्द से जल्द सुखाएं, क्‍योंकि गीले बालों के कारण भी शरीर में ठंड बैठ सकती है, जिससे छाती में दर्द या सिर दर्द भी हो सकता है, इसलिए जितना जल्‍दी हो सके अपने बालों को सुखा ले। वैसे यह बात खासकर महिलाओं पर लागू होती है, दरअसल उनके बाल लम्बे होते हैं। अगर आप चाहे तो ड्रायर का उपयोग कर अपने बालों को सूखा लें।

बालों को जल्द सुखाएं
बालों को जल्द सुखाएं

मॉइश्‍चराइजर लगाना न भूले :

त्वचा सम्बंधी समस्याओं से बचने के लिए आप मॉइश्‍चराइजर लगाना न भूले। नहाने के बाद मॉइश्‍चराइजर जरूर लगाएं, अगर मॉइश्‍चराइजर नहीं लगाया जाएं तो इससे आपकी त्वचा रूखी व कुछ त्वचा सम्बंधी बीमारियां होने का खतरा हो सकता हैं।

मॉइश्‍चराइजर लगाना
मॉइश्‍चराइजर लगाना

मसाला चाय पियें :

अब बात आती है चाय की और बरसात में भीगने के बाद चाय की ललक होती है, तो आप बरसात के दिनों में भीगने के बाद साधारण चाय नहीं, बल्कि मसाला चाय पियें। मसाला चाय पीने से सर्दी, जुकाम होने से पहले ही रफूचक्कर हो जाता हैं।

मसाला चाय पियें
मसाला चाय पियें

तो आप हमारे द्वारा बताई गई मानसून हेल्थ टिप्स की इन बातों को ध्‍यान में रखते हुए बारिश का लुप्‍त उठाएं।