वर्कप्लेस पर कभी ना करें ये गलतियां
वर्कप्लेस पर कभी ना करें ये गलतियांRaj Express

वर्कप्लेस पर कभी ना करें ये गलतियां, प्रमोशन तो रुकेगा ही इमेज भी हो जाएगी खराब

हम सभी पैसा कमाने के लिए जॉब करते हैं। लेकिन कुछ लोगों को उनकी मेहनत के हिसाब से तरक्की नहीं मिल पाती। इसकी कई वजह हैं, जिनके बारे में आपको जानना चाहिए।

हाइलाइट्स :

  • जॉब पाना बेहद चैलेंजिंग है।

  • कुछ गलतियां हमारी तरक्‍की पर ब्रेक लगा देती हैं।

  • बॉस या कलीग के बारे में गॉसिपिंग से बचें।

  • बीमारी में भी काम पर आना भी एक गलती है।

राज एक्सप्रेस। हर कोई जॉब पाने के लिए खूब मेहनत करता है। जॉब मिलना अपने आप में बहुत बड़ा चैलेंज है। इससे भी ज्‍यादा चैलेंजिंग है सालों साल इसमें टिके रहना। आमतौर पर हम अपने एक्सपीरियंस के आधार पर मनचाही जॉब तो पा लेते हैं, लेकिन इसके बाद आपके वर्क और बिहेवियर के हिसाब से ही आपको तरक्‍की मिलती है। ऐसे में अगर आप किसी एक चीज में भी पीछे रह जाएं, तो आपकी जॉब खतरे में पड़ सकती है। आजकल स्‍मार्ट और इंटेलिजेंट लोगों की कमी नहीं है। इसलिए कंपनी आपकी एक गलती भी बर्दाश्त नहीं करती और आपकी जगह किसी दूसरे को नौकरी दे देती है। पर काम करेंगे, तो गलतियां भी होंगी ही। लेकिन वर्कप्लेस पर बार-बार गलतियां करना न केवल आपकी प्रोफेशनल लाइफ पर बुरा असर डालेंगी बल्कि यह आप पर गैर जिम्‍मेदार होने का टैग भी लगा सकती हैं। यहां हम कुछ ऐसी गलतियों के बारे में बता रहे हैं, जिसे आपको ऑफिस में करने से बचना चाहिए।

बीमार होने पर काम पर आना

अक्‍सर हम बॉस और सीनियर की गुड लिस्‍ट में शामिल होने के लिए काम में जी जान लगा देते हैं। बीमार होने पर भी लगातार काम करते रहते हैं। यह सोचकर कि सभी आपको मेहनती कहेंगे और आपकी छवि अच्‍छे बनी रहेगी, लेकिन आप गलत हैं।यदि आप अनहेल्‍दी महसूस कर रहे हैं, तो अपने कलीग के बीच कीटाणुओं को फैलने से रोकने के लिए घर से काम करना या सिक लीव लेना बेहतर है। इसके अलावा, हैंगओवर के साथ काम पर आना अच्‍छा नहीं है, क्योंकि इससे आपकी प्रोडक्टिविटी में कमी आ सकती है।

कलीग या बॉस के बारे में गॉसिपिंग करना

माना कि ऑफिस में गॉसिपिंग काम का हिस्‍सा है। लेकिन कभी -कभी ये आदत आपके करियर को ले डूब सकती है। अगर आपको पीठ पीछे अपने कलीग, मैनेजरों या बॉस की चुगली करने की आदत है, तो इसे बदल लें। इसके अलावा, वर्कप्‍लेस पर किसी का अपमान न करें, भले ही आपको लगे कि वह गलत है क्योंकि यह काम नैतिकता के विरुद्ध होता है।

बार-बार सोशल मीडिया चेक करते रहना

हम सभी जानते हैं कि सोशल मीडिया से दूर रहना कितना मुश्किल है, लेकिन समय-समय पर व्हाट्सएप, फेसबुक, यूट्यूब और इंस्टाग्राम जैसे सोशल मीडिया ऐप चेक करते रहने से आपकी कंसन्‍ट्रेशन में कमी आ सकती है। सबसे अच्‍छा है कि समय पर काम ख़त्म करें और अपनी पर्सनल लाइफ पर ध्‍यान दें।

ऑफिस पॉलिटिक्स का हिस्सा बनना

पॉलिटिक्स कहां नहीं होती। ऑफिस भी ऐसी ही एक जगह है, जहां लोग एक दूसरे के खिलाफ पॉलिटिक्‍स करते हैं। शुरुआत में, इससे भले ही आपको फायदा मिले, लेकिन लंबे समय में यह आपको नुकसान ही पहुंचाने वाली है। कुछ लोग ऑफिस को ग्रुप्स में बांट देते हैं या फिर ऑफिस पॉलिटिक्स के जरिए काम की जगह पर नेगेटिविटी फैलाते हैं। जिसके कारण वर्कप्लेस का माहौल टॉक्सिक हो जाता है। ऐसे में अगर आप किसी पॉलिटिक्‍स का हिस्‍सा है, तो ध्‍यान रखें कि सीनियर्स आपको तुरंत बाहर कर देंगे। इतना ही नहीं, जब भी ऑफिस में कॉस्ट कटिंग की बात होगी तो सबसे पहले आप ही का नाम लिया जाएगा।

ऑफिस में डेटिंग करना

अगर आप ऑफिस में ही किसी कलीग के साथ डेटिंग कर रहे हैं, तो यह गलत है। यह आपके प्रोफेशन पर कई सारे सवाल खड़े कर सकता है। यदि आपका मन सिर्फ डेटिंग में लगा हुआ है, तो आपकी प्रोफेशनल लाइफ डिस्‍टर्ब हो सकती है और पर्सनल भी। यहां तक ​​कि अगर आप अपने काम से जुड़े किसी व्यक्ति के साथ डेटिंग कर रहे हैं, तो जितना संभव हो सके चीजों को सीक्रेट रखें और एक-दूसरे के साथ प्रोफेशनल तरीके से ही व्यवहार करें।

सीनियर से बहस करना

कुछ लोग सब पर अपना राज चलाना चाहते हैं। ऑफिस भी उनके लिए वो जगह है, जहां उन्‍हें लगता है सब उनकी मानें, क्‍योंकि वे सही है। आमतौर पर, ऐसे लोग काम के दौरान गलती होने पर भी उसे नहीं मानते। यहां तक कि वह अपने सीनियर से ही बहस करना शुरू कर देते हैं। इस स्थिति में सोचिए कि अगर सीनियर को बहुत ज्‍यादा गुस्सा आ जाए, तो वह क्‍या करेगा। आपको जॉब छोड़ने के लिए कह देगा। इसलिए, अगर आपको लगता भी है कि आप सही हैं तो बहस करने से बचें। अपने बॉस से अपनी गलतियों के बारे में पूछें और बहुत ही सलीके से अपनी बात समझाने का भी प्रयास करें।

टाइम लिमिट क्रॉस करना

वर्कप्‍लेस पर काम समय पर पूरा करने के लिए टाइम लिमिट तय की जाती हैं। जिसे हर एम्प्लॉई को फॉलो करना होता है। हालांकि अभी इमरजेंसी में फंसे होने के कारण कभी-कभी दिक्‍कत आ सकती है, लेकिन अगर आप बार-बार टाइम लिमिट से चूक रहे हैं, तो यह सामान्‍य गलती नहीं है। यह आपके बॉस के पास आपको प्रमोशन न देने का सबसे पहला कारण होगा। ऐसी गलतियों से बचने के लिए अपने काम को प्राथमिकता दें और टाइम मैनेजमेंट सीखें।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co