World Turtle Day
World Turtle DaySyed Dabeer Hussain - RE

World Turtle Day : डायनासोर काल से धरती पर मौजूद हैं कछुए, जानिए हैरान कर देने वाली जानकारी

साल 2001 में जब विश्व कछुआ दिवस मनाने की शुरुआत की गई तो इसके लिए 23 मई का दिन चुना गया। उसके बाद से ही हर साल 23 मई को विश्व कछुआ दिवस मनाया जाता है।

World Turtle Day : एक समय था जब हमें नदियों और समुद्र के किनारे आसानी से कछुए देखने को मिल जाते थे, लेकिन वर्तमान समय में इनकी संख्या लगातार कम होती जा रही है। ऐसे में कछुए को विलुप्त होने से बचाने के लिए इनका संरक्षण करना बेहद जरूरी है। हर साल 23 मई का दिन पूरी दुनिया में World Turtle Day यानि विश्व कछुआ दिवस मनाया जाता है। इस दिन लोगों को कछुओं के संरक्षण के बारे में जागरूक किया जाता है।

विश्व कछुआ दिवस का इतिहास

दरअसल 23 मई 1990 को अमेरिका के एक गैर लाभकारी संगठन टॉर्टवायज रेस्क्यु की स्थापना की गई थी। यह संगठन कछुए के संरक्षण की दिशा में काम करता है और लोगों को कछुआ संरक्षण के लिए प्रेरित करता है। आगे चलकर साल 2001 में जब विश्व कछुआ दिवस मनाने की शुरुआत की गई तो इसके लिए 23 मई का दिन चुना गया। उसके बाद से ही हर साल 23 मई को यह दिवस मनाया जाता है।

करोड़ों साल पुराना है इतिहास

आपको बता दें कि कछुआ विश्व की सबसे पुरानी प्रजातियों में से एक है। माना जाता है कि करीब 250 मिलियन साल पहले कछुओं की उत्पत्ति हुई थी। यानि ये डायनासोर काल से धरती पर मौजूद हैं। जीव-वैज्ञानिकों का मानना है कि अगर करोड़ों साल बाद भी कछुए इस धरती पर मौजूद हैं तो इसका कारण उसका कवच है, जो उन्हें सुरक्षा प्रदान करता है।

150 साल जीता है कछुआ

कछुए की औसत आयु करीब 150 साल है। कुछ कछुए 200 सालों तक भी आसानी से जिन्दा रह सकते हैं। इसका कारण यह है कि कछुओं का खून ठंडा होता है और ठंडे खून वाले जीव ज्यादा लम्बा जीवन जीते हैं। इस धरती पर कछुओं की लगभग 350 प्रजातियां पाई जाती हैं। हालांकि इनमें से कई कछुओं की प्रजातियों पर अपने अस्तित्व को बचाने का संकट मंडरा रहा है।

अन्य रोचक जानकारी

कछुओं का कवच इतना मजबूत होता है कि वह गोली का भी सामना कर सकता है। कछुए आमतौर पर 270 मीटर प्रति घंटे की रफ्तार से ही चल पाते हैं। कछुए के दांत नहीं होते हैं बल्कि उनके मुंह में एक तीखी प्लेट की तरह हड्डी होती है, जो उन्हें खाना चबाने में मदद करती है। सर्दियों के दिनों कछुए बिना कुछ खाए कई महीनों तक एक ही अवस्था में पड़े रहते हैं।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co