क्‍या होता है रूममेट सिंड्रोम, जानिए इसके लक्षण और बचने के उपाय

कई कपल्‍स यह मानते हैं कि उनके रिश्‍ते में अब पहले जैसी बात नहीं रही। वे भले ही एकदूसरे के साथ कंफर्टेबल हैं, लेकिन इमोशंस और रोमांस के लिए जगह नहीं बची है। इस कंडीशन को ही रूममेट सिंड्रोम कहते हैं।
क्‍या होता है रूममेट सिंड्रोम
क्‍या होता है रूममेट सिंड्रोमRaj Express
Submitted By:

हाइलाइट्स :

  • रिश्‍तों को प्रभावित कर रहा है रूममेट सिंड्रोम।

  • एक छत के नीचे रूममेट की तरह रहते हैं कपल्‍स।

  • खुलकर बातचीत करें।

  • पार्टनर के प्रति प्‍यार और स्‍नेह दिखाना जरूरी।

राज एक्सप्रेस। क्‍या आप मैरिड हैं। क्‍या आपके रिश्‍ते में प्‍यार और रोमांस के लिए जगह नहीं बची है। एक छत के नीचे रहते हुए भी आप अंजानों की तरह रहते हैं। या फिर आपको लगता है कि अब आपके रिश्‍ते में पहले जैसी बात नहीं रही। अगर हां, तो आप रूममेट सिंड्रोम के शिकार हैं। रूममेट सिंड्रोम एक ऐसी कंडीशन है, जो इन दिनों कई कपल्‍स को प्रभावित कर रही है। इसमें कपल्‍स के बीच दूरियां आने लगती हैं। उनके रिश्‍ते में प्‍यार और रोमांस को छोड़कर बाकी सब कुछ होता है। कुछ मिलाकर ये लोग हैप्‍पी कपल्‍स कम और रूममेट ज्‍यादा दिखने लगते हैं। अगर आपको संदेह है कि आप और आपका पार्टनर रूममेट सिंड्रोम से गुजर रहे हैं, तो इसका समाधान करना और अपने संबंधों को गहरा करने के लिए महत्‍वपूर्ण कदम उठाना जरूरी है।

क्‍या होता है रूममेट सिंड्रोम

रूममेट सिंड्रोम किसी भी रिलेशनशिप में एक फेज है, जहां पार्टनर सेक्सुअली अटैच नहीं होते, बल्कि एकदूसरे को रूममेट की तरह महसूस करने लगते हैं। इस रिश्‍ते में भावनात्‍मक और शारीरिक रूप से लगाव कम हो जाता है साथ ही संचार की भी कमी महसूस होने लगती है।

रूममेट सिंड्रोम के लक्षण

  • नियमित रूप से बातचीत का कम हो जाना।

  • डेली रूटीन को शेयर ना करना।

  • एक कपल के बजाय रूममेट की तरह एक साथ रहना।

  • एक-दूसरे के प्रति देखभाल और भावनात्मक जुड़ाव की कमी।

  • यौन या शारीरिक संबंध का अभाव।

  • एक-दूसरे के बजाय अलग-अलग दोस्तों के साथ अधिक समय बिताना।

  • साथ रहते हुए एकदूसरे को इग्‍नोर करना।

रूममेट सिंड्रोम को ऐसे अपने रिश्‍ते से रख सकते हैं दूर

खुलकर बातचीत करें

कई बार रिलेशनशिप में एक ऐसा फेज आता है, जब दो लोग आपस में बातचीत करने से हिचकने लगते हैं। उनकी यही आदत रिश्‍ते में दरार लाती है। अगर आपका रिलेशन रूममेट सिंड्रोम से गुजर रहा है, तो पार्टनर से खुलकर बातचीत करें। साथी के साथ अपेक्षाओं और इच्‍छाओं को लेकर बातचीत करना जरूरी है। एक दूसरे की जरूरतों को समझें और एकदूसरे की सुनें भी। अपने झगड़ाें को स्‍वस्‍थ तरीके से मैनेज कर लेंगे, तो इस समस्‍या से बहुत जल्‍दी निपट लेंगे।

क्‍वालिटी टाइम बिताएं

किसी भी रिश्‍ते में तनाव से बचने और नयापन लाने के लिए एक साथ क्‍वालिटी टाइम स्‍पेंड करना जरूरी है। नई यादें बनाने और रोमांस को रीफ्रेश करने के लिए रेगुलर डेट नाइट शेड्यूल करें। कोई ऐसी हॉबी की तलाश करें, जिसे आप दोनों मिलकर एन्‍जॉय कर सकें। लेकिन ऐसा करते समय आपको अपने फोन और अन्‍य गैजेट्स को दूर रखना होगा।

सरप्राइज दें

छोटे-छोटे सरप्राइज और इशारे रोमांस को फिर से जगाने में अद्भुत काम करते हैं। ताज़ा यादें बनाने के लिए एक साथ खाना बनाएं, एक साथ घूमने जाएं साथ ही छुट्टियां भी प्‍लान कर सकते हैं।

प्‍यार और स्‍नेह दिखाएं

कुछ कुछ दिनों में अपने साथी के प्रति प्यार और नेह दिखाएं। । कभी-कभी ये चीजें भावनात्मक संबंध को विकसित करने में बहुत मदद करती हैं। रिश्‍ते में प्‍यार और रोमांस बरकरार रहे, इसके लिए अपने जीवनसाथी की भावनात्मक जरूरतों को पूरा करने की कोशिश करें।

पार्टनर की पसंद को याद करें

अपने पार्टनर की उन क्‍वालिटीज को याद करें, जिन्होंने शुरू में आपको काफी इंप्रेस किया था। ऐसा करने से उनके साथ गहरे स्तर पर जुड़ने की इच्छा फिर से जागृत हो सकती है। उनके किसी शौक को लेकर अपनी फीलिंग व्‍यक्‍त करें , यह आपके बंधन को मजबूत बनाता है।

रिश्‍ते में इंटीमेसी बनाए रखें

खुशहाल शादीशुदा जिन्‍दगी में इंटीमेसी बनाए रखना बहुत जरूरी है। इससे न केवल रिश्‍ता मजबूत बना रहता है, बल्कि यह दो लोगों के बीच प्‍यार और विश्‍वास भी बढ़ाती है।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

और खबरें

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co