हर पति का एक सवाल, मां पहले या पत्‍नी, जानें क्‍या है इसका जवाब

आज एक पति के लिए सबसे बड़ा सवाल है कि उसके लिए पहले कौन है। मां या पत्‍नी। मां की साइड ले, तो मां का बेटा, बीवी की साइड ले, तो जोरू का गुलाम। आखिर किसे देना चाहिए पहला स्‍थान, जानते हैं यहां।
हर पति का एक सवाल, मां पहले या पत्‍नी
हर पति का एक सवाल, मां पहले या पत्‍नीRaj Express
Submitted By:

हाइलाइट्स :

  • गोवा की बजाय अयोध्‍या ले गया पति, तो पत्‍नी ने मांगा तलाक।

  • पति के लिए तय करना मुश्किल पहले मां या पत्‍नी।

  • पति का अपनी पत्नी के साथ रिश्ता पहले होना चाहिए।

  • दोनों से उनकी जरूरत के बारे में बात करें।

राज एक्सप्रेस। भाेपाल की एक महिला ने अपने पति से तलाक मांग लिया। वजह ऐसी कि आप भी दंग रह जाएं। दरअसल, उसके पति ने उसे गोवा ले जाने का वादा किया था, लेकिन उसे बिना बताए अयोध्‍या घुमाने ले गया, क्‍योंकि यही उसकी मां की इच्‍छा थी। हिंदू तीर्थ स्‍थल की यात्रा के बाद अब पत्‍नी ने पति से तलाक मांगा है। ऐसे में सवाल यह है कि एक पति के लिए किसकी इच्‍छा ज्‍यादा मायने रखती है। मां की या फिर पत्‍नी की। वास्‍तव में पुरुषों के लिए यह तय करना आसान नहीं है कि उनकी मां और पत्नी में से कौन पहले आता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि वे दोनों महिलाओं से समान रूप से प्यार करते हैं और उनकी भावनाओं को ठेस नहीं पहुंचाना चाहते। ज्यादातर मामलों में, पति अपनी मां को प्राथमिकता देता है, क्‍योंकि उसने उसे जन्म दिया है। हालांकि, इसका मतलब यह नहीं है कि वह अपनी पत्नी से कम प्यार करता है। तो सबसे पहले कौन आती है पत्नी या मां ? जानते हैं यहां।

पुरुषों के लिए तय करना क्‍यों है मुश्किल पहले पत्नी या मां

सबसे पहले कौन आता है, पत्नी या मां ? कई पुरुषों के लिए यह फैसला लेना मुश्किल होता है। यह निर्णय लेते समय उसे कई चीजों के बारे में सोचना पड़ता है। जैसे पत्नी और मां की उम्र, पत्नी और मां के बीच का रिश्ता और पति का अपनी मां के साथ संबंध। ये कुछ ऐसे कारण हैं, जो किसी व्‍यक्ति के फैसले को प्रभावित कर सकते हैं।

पति अपनी मां को ज्‍यादा क्‍याें पूछते हैं

  • पति का अपनी पत्नी की तुलना में मां के साथ गहरा रिश्‍ता ।

  • पति अपनी मां को अपनी पत्नी की तुलना में ज्‍यादा जरूरतमंद या कमजोर मानता है।

  • कभी-कभी, पति कर्तव्य या दायित्व के कारण अपनी मां को ज्‍यादा पूछते हैं।

  • कुछ पति अपनी पत्‍नी को खुश करने के लिए मां को ज्‍यादा तवज्‍जो देते हैं।

कारण जो भी हो, लेकिन एक पति का अपनी पत्नी के साथ रिश्ता पहले आना चाहिए। क्‍योंकि अपनी मां को पहले रखने से शादी में तनाव और संघर्ष पैदा हो सकता है।

कैसे बनाएं संतुलन

अपनी पत्नी और अपनी मां की देखभाल के बीच संतुलन बनाना जरूरी है। एक पुरुष के जीवन में दोनों महिलाएं महत्वपूर्ण हैं और उन्हें वह ध्यान और समय दिया जाना चाहिए जिसकी उन्हें जरूरत है। यदि कोई पुरुष अपनी मां के पक्ष में अपनी पत्नी की बुराई करता है, तो इससे शादीशुदा जिन्‍दगी में तनाव पैदा हो सकता है। दूसरी तरफ, यदि कोई पुरुष अपनी पत्नी के पक्ष में अपनी मां की बुराई करे, तो यह अच्‍छी बात नहीं है। संतुलन बना रहे, इसके लिए जरूरी है कि मां और पत्‍नी दोनों से उनकी जरूरतों और चाहतों के बारे में बात की जाए।

पत्‍नी पहले है, ये कैसे महसूस कराए पति

पति अपनी पत्नी को यह महसूस कराने के लिए कई चीजें कर सकता है कि वह उसके जीवन में सबसे महत्वपूर्ण व्यक्ति है।

  • वह उसके साथ क्‍वालिटी टाइम बिता सकता है।

  • वह उसके प्रति अपना प्यार और प्रशंसा बड़े और छोटे दोनों तरीकों से दिखा सकता है।

  • उसके लिए उपहार खरीदना या उसके लिए कुछ स्‍पेशल करना।

  • वह उसके सपनों और लक्ष्यों को पूरा करने में उसकी मदद कर सकता है।

  • वह उसके प्रति वफादार हो सकता है।

हर पक्ष के नुकसान फायदे

दोनों विकल्पों के अपने पक्ष और विपक्ष हैं। अगर पति अपनी पत्नी को प्राथमिकता देता है, तो वह प्यार महसूस करेगी। लेकिन अगर पति अपनी मां को प्राथमिकता देता है, तो यह विकल्प मां और पत्नी के बीच तनाव पैदा कर सकता है, खासतौर से तब जब उनके बीच अच्छे संबंध नहीं हैं।

कुल मिलाकर यह पति पर निर्भर करता है कि कौन पहले आता है। उसे यहां बताए गए सभी कारकों पर ध्‍यान देते हुए ऐसा निर्णय लेना चाहिए जो उसके परिवार के लिए बेस्‍ट हो।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

और खबरें

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co