Raj Express
www.rajexpress.co
बच्चों के पाचन तंत्र का रखें ध्यान
बच्चों के पाचन तंत्र का रखें ध्यान|Priyanka Yadav - RE
लाइफस्टाइल

लापरवाही बच्चों के पाचन तंत्र के लिए हो सकता है खतरनाक, रखें ध्यान

बच्चों के पाचन तंत्र की समस्या अभी भी निरंतर बढ़ती जा रही है बच्चे के आहार में एक छोटा सा बदलाव या गलत तत्व आपके बच्चे के पाचन तंत्र के काम करने की क्रिया को अस्त व्यस्त कर सकता है।

Priyanka Yadav

Priyanka Yadav

राज एक्सप्रेस। बच्चों का पाचन तंत्र (Children Digestion System) बहुत कमजोर और संवेदनशील होता है। बच्चों के पाचन तंत्र की समस्या अभी भी निरंतर बढ़ती जा रही है, जो इसे संक्रमण और बीमारियों के प्रति अधिक संवेदनशील बनाता है। आपके बच्चे के आहार में एक छोटा सा बदलाव या थोड़ी मात्रा में भी एक गलत तत्व आपके बच्चे के पाचन तंत्र के काम करने की क्रिया को अस्त व्यस्त कर सकता है।

पाचन से जुड़ीं ये समस्याएं कर सकती हैं परेशान

मौसम के बदलाव के कारण अक्सर बहुत से लोग अपने बच्चो का सही खानपान का ध्यान नहीं रख पाती है। जिसकी वजह से इसका सीधा बुरा असर बच्चे के पाचन तंत्र पर पड़ता है, पाचन तंत्र खाने को एनर्जी में बदलकर शरीर को बीमारियों से लडऩे में मदद करता है, पर गलत लाइफस्टाइल के कारण पाचन तंत्र के सेहतमंद रहना बेहद मुश्किल है। इसके खराब होने के कारण पेट में कई तरह की समस्या, खाने पचाने मेें दिक्कत होती हैं।

बच्चों का पाचन तंत्र खराब होने के संकेत

  • कब्ज

  • पेट फूलना

  • डायरिया

  • उल्टी होना

  • बुखार और संक्रमण

  • चिड़चिड़ाहट और अधिक सोना

इन उपायों से सुधारे 'पाचन क्रिया'

स्तनपान करते समय - माताएं विशेषकर अपने बच्चे के पाचन स्वास्थ्य के लिए हमेशा चिंतित रहती हैं। इतनी कम उम्र में आप अपने बच्चे को हर चीज के लिए दवा नहीं दे सकती हैं। माताएं के स्तनपान करते समय गलत स्थिति भी बच्चों में पाचन समस्याओं का कारण बन सकती है। इससे गैस या एसिड रिफ्लक्स हो सकता है। जब आप अपने बच्चे को अपनी गोद में रखते हैं, तो सुनिश्चित करें कि, आप अपने पैरों को ऐसी स्थिति में रखें कि शिशु का सिर थोड़ा ऊंचा हो या आप गर्दन को सहारा देने के लिए नरम तकिए का भी उपयोग कर सकें।

शिशुओं में पेट से संबंधित सभी समस्याओं- बच्चो में पेट से संबंधित सभी समस्याओं के लिए अंगूर का जूस सबसे अच्छा उपाय माना जाता है। क्योंकि इसमें सोडियम बाइकाबरेनेट पानी और कई जड़ी बूटियां होती हैं। यह शिशुओं में गैस के उपचार के सबसे सुरक्षित तरीकों में से एक है। यह सिर्फ पांच मिनट में काम कर सकता है। यह आपके बच्चे को कुछ ही समय में प्रभावी रूप से शांत कर सकता है।

बच्चे को कुछ खिलाने से पहले लें डॉक्टर से सलाह - आप अपने बच्चे को कुछ खिलाने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह लें। यदि आप ध्यान दें कि आपके शिशु को किसी प्रकार की समस्या का सामना करना पड़ रहा है, क्योकि आप की लापरवाही बच्चों के पाचन तंत्र के लिए खतरनाक हो सकती है इस लिए बच्चों का सही खानपान जरुरी होता है। इसके अलावा अपने बच्चे के आहार में से अचानक स्तन के दूध को पिलाना बंद न करे। जब आपका बच्चा इष्टतम विकास के लिए अन्य भोजन का ठीक से उपभोग करने में सक्षम हो तो धीरे-धीरे क्षमता को कम करें।