अंतर्राष्ट्रीय पुरुष दिवस
अंतर्राष्ट्रीय पुरुष दिवसSyed Dabeer Hussain - RE

क्या है अंतर्राष्ट्रीय पुरुष दिवस का इतिहास? क्यों मनाया जाता है अंतर्राष्ट्रीय पुरुष दिवस?

हर साल 19 नवम्बर को अंतर्राष्ट्रीय पुरुष दिवस के रूप में मनाया जाता है। यह दिन हर पुरुष के लिए खास होता है, इस दिन हर पुरुष को उसके काम और योगदान के लिए शुक्रिया कहा जाता है।

राज एक्सप्रेस। आप सभी लोगों ने महिला दिवस के बारे में तो काफी सुना होगा। हर साल 8 मार्च को मनाए जाने वाले महिला दिवस के दिन महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा दिया जाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि हर साल 19 नवम्बर का दिन अंतर्राष्ट्रीय पुरुष दिवस के रूप में मनाया जाता है। यह दिन पुरुषों को समाज में उनके कामों और योगदान के लिए शुक्रिया कहने का दिन होता है। इस खास दिन पर अलग-अलग क्षेत्रों में काम करने वाले पुरुषों की भी सराहना की जाती है। चलिए इस खास दिन पर जानते हैं अंतर्राष्ट्रीय पुरुष दिवस का इतिहास और थीम।

क्या है अंतर्राष्ट्रीय पुरुष दिवस का इतिहास?

दुनिया में सबसे पहले पुरुष दिवस मनाने की मांग साल 1923 के दौरान 23 फरवरी को की गई थी। जिसके बाद अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और माल्टा के संगठनों को ओस्टर की मेजबानी में आमंत्रित किया गया। लेकिन साल 1995 तक बेहद कम देश इस आयोजन का हिस्सा बने और यह कार्यक्रम बंद कर दिया गया।

इसके बाद साल 1999 के दौरान वेस्ट इंडीज विश्वविद्यालय के एक प्रोफेसर डॉ.जेरोम तिलक सिंह ने 19 नवम्बर को अपने पिता का जन्मदिन मनाया और साथ में पुरुषों के मुद्दों को सबके सामने रखा। इसके बाद 19 नवंबर 2007 को पहली बार अंतर्राष्ट्रीय पुरुष दिवस मनाया गया। और तब से हर साल दुनिया के करीब 60 से अधिक देश हर साल अंतर्राष्ट्रीय पुरुष दिवस मनाते हैं।

अंतर्राष्ट्रीय पुरुष दिवस 2022 की थीम :

हर साल इस दिन को मनाने के लिए एक थीम का निर्धारण किया जाता है। इस साल अंतर्राष्ट्रीय पुरुष दिवस की थीम 'पुरुषों और लड़कों की मदद करना' निर्धारित की गई है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co