Raj Express
www.rajexpress.co
विचारों को 'योग' से करें काबू
विचारों को 'योग' से करें काबू|संपादित तस्वीर
लाइफस्टाइल

मन में आने वाले नकारात्मक विचारों को 'योग' से करें काबू

मानसिक विकार हमारे आसपास के माहौल के कारण ही पनपते हैं और हमारे साथ जो घटनाएं घटती हैं, उनके परिणामस्वरूप ही मन में नकारात्मक विचार आते हैं।

Priyanka Yadav

Priyanka Yadav

राज एक्सप्रेस। आज के समय में जीवन नकारात्मक विचारों से घिरा हुआ है। मानव शरीर में मस्तिष्क एक अहम हिस्सा माना गया है। इन परिस्थितियों में मस्तिष्क ही अच्छे और बुरे दोनों ख्यालों और विचारों को जन्म देता है। मानसिक विकार हमारे आसपास के माहौल के कारण ही पनपते हैं और हमारे साथ जो घटनाएं घटती हैं, उनके परिणामस्वरूप ही मन में नकारात्मक विचार आते हैं।

मन में आने वाले नकारात्मक विचारों के लिए सबसे अधिक जिम्‍मेदार लालच, निर्दयता, बल प्रयोग, ईर्ष्‍या, उत्पीड़न एवं शोषण आदि हैं। इन नकारात्मक विचारों के कारण ही व्यक्ति असंतोष से भर उठता है एवं उसके दिमाग में प्रतिक्रियावादी विचार, असंतोष, बदले की भावना आदि पनपने लगती है। योग के जरिए मन में आने वाले इन विचारों को काबू किया जा सकता है। यह लेख आपको बताएगा कि कैसे योग के जरिए मानसिक विकारों पर काबू पाया जा सकता है।