Raj Express
www.rajexpress.co
अमित शाह के खिलाफ आप की चुनाव आयोग को चिट्ठी
अमित शाह के खिलाफ आप की चुनाव आयोग को चिट्ठी|Priyanka Sahu -RE
पॉलिटिक्स

अमित शाह के खिलाफ आप की चुनाव आयोग को चिट्ठी, की यह 3 मांग

दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020 के लिए भाजपा और आप में चुनावी जंग काफी तेज होती नजर आ रही है, साथ ही स्कूल वीडियो को लेकर आम आदमी पार्टी ने चुनाव आयोग को चिट्ठी लिखकर यह 3 मांग की हैं...

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

राज एक्‍सप्रेस। दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020 को लेकर सत्‍ताधारी आम आदमी पार्टी (AAP) और विपक्ष में बैठी भारतीय जनता पार्टी (BJP) इन दोनों पार्टियों की चुनावी जंग काफी तेज होती नजर आ रही है। भाजपा से अपनी सरकार बनाने के लिए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह मोर्चा संभाले हुए हैं और हर एक नए मुद्दे पर आप की केजरीवाल सरकार को घेर रहे हैं।

स्कूल वीडियो का मामला गरमाया :

अब हाल ही में बीजेपी द्वारा स्कूलों का वीडियो सोशल मीडिया पर पोस्‍ट किया है, जिस पर आप ने यह आरोप लगाया कि, भाजपा के नेताओं ने दिल्ली सरकार के स्कूलों का जो वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर किया है, वो फर्जी है।

चुनाव आयोग को चिट्ठी लिखी :

स्कूल वीडियो का यह मामला इतना अधिक गरमा गया कि, इस कथित 'फर्जी' वीडियो के खिलाफ आम आदमी पार्टी ने चुनाव आयोग को चिट्ठी लिखी है, जिसमें यह 3 मांग की गई हैं-

  1. अमित शाह समेत बीजेपी के बाकी सांसदों से कहें कि वो ये वीडियो ट्विटर से हटाएं।

  2. पुलिस इन लोगों पर केस दर्ज कर कार्रवाई करे।

  3. अमित शाह को दिल्ली चुनाव में प्रचार करने से रोक दिया जाए।

बता दें कि, ‘आप’ के राष्ट्रीय सचिव पंकज गुप्ता ने चुनाव आयोग को चिट्ठी लिखकर अमित शाह पर कार्रवाई की मांग की है।

आखिर क्‍या है मामला?

दरअसल, मामला यह है कि, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल द्वारा बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष और गृहमंत्री अमित शाह को दिल्ली के सरकारी स्कूलों को देखने की चुनौती दी गई थी, इसी को देखते हुए अमित शाह ने पार्टी के सांसदों को स्कूलों के निरीक्षण के लिए भेजा। इसके बाद सांसदों ने स्कूलों का जायजा लेते हुए इसका एक वीडियो शेयर कर केजरीवाल सरकार पर सवाल उठाया था। इसके बाद अमित शाह ने यह वीडियो ट्वीट किया था।

इसके बाद CM अ‍रविंद केजरीवाल ने अमित शाह को जवाब देते हुए कहा था- ''आपके सांसदों की रिपोर्ट झूठी है, बंद स्कूलों के वीडियो बनाकर आप ने लोगों को गुमराह किया। दिल्ली की शिक्षा क्रांति 16 लाख बच्चों, उनके पैरेंट्स और 65000 टीचर्स की मेहनत से हुई है, आप रोज उनकी मेहनत का अपमान करते हैं, आप दिल्ली के लोगों से इतनी नफरत क्यों करते हैं?''

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।