धुपगुड़ी जनसभा में शाह की हुंकार- दीदी की विदाई धूम-धाम से होनी चाहिए
धुपगुड़ी जनसभा में शाह की हुंकार- दीदी की विदाई धूम-धाम से होनी चाहिएTwitter

धुपगुड़ी जनसभा में शाह की हुंकार- दीदी की विदाई धूम-धाम से होनी चाहिए

बंगाल के धुपगुड़ी में अमित शाह ने जनसभा को संबोधित कर ये दावा किया है कि, दीदी 10 साल मुख्यमंत्री रही हैं। उनकी विदाई धूम-धाम से होनी चाहिए।

पश्चिम बंगाल, भारत। पश्चिम बंगाल में भारतीय जनता पार्टी (BJP) के तबाड़तोड़ चुनावी प्रचार कर कमल खिलने के लिए पूरा जोर लगा रही है। इसी कड़ी में एक तरफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तो वहीं, दूसरी देश केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह बंगाल के रण में उतरे है। बंगाल के धुपगुड़ी में अमित शाह ने जनसभा सभा को संबोधित किया।

दीदी की विदाई धूम-धाम से होनी चाहिए :

बंगाल के धुपगुड़ी में अमित शाह ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा- दीदी 10 साल मुख्यमंत्री रही हैं। उनकी विदाई धूम-धाम से होनी चाहिए। बंगाल में 200 से ज्यादा सीटों के साथ भाजपा की सरकार बननी चाहिए। उत्तर बंगाल के साथ दीदी ने बहुत अन्याय किया है। माताओं-बहनों की जिम्मेदारी है कि दीदी का यहां खाता न खुल पाए।

दीदी भाजपा वालों को बाहरी बोल रही :

अमित शाह ने कहा, ''बंगाल में 4 चरणों में भाजपा 92 से ज्यादा सीटों के साथ लीड पर है। 5वें चरण के चुनाव में आप कृपा कर दीजिए, भाजपा की सरकार बनने का काम हो जाएगा। दीदी ने जितना अन्याय उत्तर बंगाल पर किया है उतना अन्याय किसी ने नहीं किया है। दीदी भाजपा वालों को बाहरी बोल रही हैं। अरे दीदी आपके खिलाफ चुनाव हम नहीं लड़ रहे हैं, आपके खिलाफ चुनाव तो तेरे उत्तर बंगाल की माताएं, भाइयों, बहनों लड़ रहे हैं।''

अमित शाह के संबोधन की बातें-

  • हाल ही में, दीदी ने उत्तर बंगाल के कुछ लोगों को 'घेराव' सीआरपीएफ के लिए उकसाया। लोगों ने उसके उकसावे पर पीछा किया, जिससे हाथापाई हुई, जिससे 4 युवकों की मौत हो गई। इन मौतों के लिए कौन जिम्मेदार है, दीदी?

  • क्या मातु और नमुशुद्रों को नागरिकता नहीं मिलनी चाहिए? दीदी कहती हैं कि उन्हें नहीं करना चाहिए, क्योंकि वह अपने वोट बैंकों से डरती हैं। 2 मई को उसका निकलना निश्चित है। हम सीएए को लागू करेंगे और क्षेत्र में शरणार्थियों को भारतीय नागरिकता प्रदान करेंगे।

  • हमने सरकार बनाते ही उत्तर बंगाल में एक एम्स स्थापित करने का निर्णय लिया है। हम सिलीगुड़ी में एक आईटी पार्क और उत्तर बंगाल में एक केंद्रीय विश्वविद्यालय भी बनाएंगे।

  • हमने सरकार बनाने के बाद चाय बागान श्रमिकों की दैनिक मजदूरी को बढ़ाकर 350 रुपये प्रतिदिन करने का फैसला किया है। एक मेगा फूड पार्क और एक चाय पार्क भी स्थापित किया जाएगा।

  • एक ओर मोदी जी आपका भला चाहते हैं, दूसरी ओर दीदी भाइपो का भला चाहती हैं। आप बताइए, भाइपो को मुख्यमंत्री बनाना जरूरी है या बंगाल के युवाओं को रोजगार देना जरूरी है। दीदी को आपके रोजगार की चिंता नहीं है, भतीजे को मुख्यमंत्री बनाने की चिंता है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co