गुपकार को लेकर BJP के निशाने पर कांग्रेस- अब अमित शाह विपक्षी दल पर भड़के

गुपकार गैंग और कांग्रेस पर तंज कसते हुए अमित शाह ने कहा- गुपकार गैंग भारत के तिरंगे का अपमान करता है। क्‍या सोनिया और राहुल गुपकार गैंग के ऐसे कदमों का समर्थन करते हैं...
गुपकार को लेकर BJP के निशाने पर कांग्रेस- अब अमित शाह विपक्षी दल पर भड़के
गुपकार को लेकर BJP के निशाने पर कांग्रेस- अब अमित शाह विपक्षी दल पर भड़केSocial Media

दिल्‍ली, भारत। जम्मू-कश्मीर के राजनीतिक दलों के गुपकर घोषणापत्र गठबंधन में कांग्रेस पार्टी द्वारा हाथ मिलाने पर भाजपा लगातार मुख्य विपक्षी दल पर जोरदार हमला बोल रही है। अब केंद्रीय गृह मंत्री और बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष अमित शाह ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए ये बात कही है।

गुपकार गैंग ग्लोबल हो रहा :

जम्मू-कश्मीर में बने गुपकार अलायंस पर अमित शाह ने मंगलवार एक के बाद एक ट्वीट कर कहा कि, ''गुपकार गैंग अब ग्लोबल हो रहा है। वे जम्मू-कश्मीर में विदेशी ताकतों का दखल चाहते हैं। क्या सोनिया और राहुल गांधी इनका समर्थन करते हैं? उन्हें इस पर अपना रुख साफ करना चाहिए। भारत के लोग देश के खिलाफ किसी ग्लोबल गठबंधन को सहन नहीं करेंगे।''

गुपकार गैंग और कांग्रेस मिलकर जम्मू-कश्मीर को आतंक और बर्बादी के दौर में वापस ले जाना चाहते हैं। आर्टिकल 370 हटने से दलितों, महिलाओं और आदिवासियों को अधिकार मिले हैं। कांग्रेस और गुपकार गैंग मिलकर उनके अधिकार छीनना चाहते हैं। यही वजह है कि हर जगह लोगों ने उन्हें नकार दिया है।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह

जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न हिस्सा :

गृह मंत्री अमित शाह ने अगले ट्वीट में ये भी लिखा- जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न हिस्सा है। भारत के लोग देश के खिलाफ किसी अंतरराष्ट्रीय गठबंधन को सहन नहीं करेंगे या तो गुपकार गैंग को देश के मूड के साथ चलना होगा या फिर लोग उसे डुबा देंगे।

बता दें कि, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से पहले बीते दिन कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके गुपकार अलायंस और कांग्रेस पर हमला बोला था और भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा भी कांग्रेस पर निशाना साध चुके हैं।

क्या है गुपकार?

दरअसल, गुपकार घोषणापत्र नेशनल कॉन्फ्रेंस अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला के गुपकार स्थित आवास पर चार अगस्त, 2019 को हुई एक सर्वदलीय बैठक के बाद जारी प्रस्ताव है। इसमें कहा गया था कि, पार्टियों ने सर्वसम्मति से फैसला किया है की जम्मू-कश्मीर की पहचान, स्वायत्तता और उसके विशेष दर्जे को संरक्षित करने के लिए वे मिलकर प्रयास करेंगी। गुपकार डिक्लेरेशन को अमलीजामा पहनाने के लिए छह दलों ने हाथ मिलाया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co