Raj Express
www.rajexpress.co
Amit Shah
Amit Shah|Priyanka Sahu -RE
पॉलिटिक्स

महाराष्ट्र सियासत पर भाजपा अध्‍यक्ष का शिवसेना पर जोरदार हमला

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने शिवसेना पर हमला बोलते हुए एक सवाल के जवाब के दौरान यह खुलासा किया कि, आखिर उनकी पार्टी ने अजित पवार पर भरोसा क्यों किया?

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

राज एक्‍सप्रेस। महाराष्ट्र में 3 पार्टियां मिलकर सरकार बनाने जा रही हैं, इसी बीच भाजपा के अध्यक्ष व केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने राज्‍य की राजनैतिक स्थिति पर आज पहली बार और देवेंद्र फडणवीस सरकार के इस्तीफे के बाद अपनी प्रतिक्रिया व्‍यक्‍त करते हुए शिवसेना पर जोरदार निशाना साधा है।

क्‍या बोले अमित शाह-

दरअसल, आज एक न्यूज चैनल से बातचीत के दौरान अमित शाह से कुछ सवाल पूछे गए, तो उन्‍होंने जवाब देते हुए बताया कि, आखिर उनकी पार्टी ने अजित पवार पर भरोसा क्यों किया?

अमित शाह ने कहा- अजित पवार को एनसीपी विधायक दल का नेता चुना गया था, उनकी पार्टी (BJP) ने उन्हें सरकार गठन के लिए अधिकृत किया था। राज्यपाल ने भी सरकार गठन को लेकर उनसे ही बात की थी, जब एनसीपी ने पहली बार सरकार बनाने में असमर्थता जताई तो उस पत्र पर भी अजित पवार के ही हस्ताक्षर थे। अब हमारे पास जो समर्थन पत्र आया, उस पर भी अजित पवार के ही हस्ताक्षर थे।

शिवसेना PM मोदी का पोस्टर लगाकर जीती :

शिवसेना के सभी विधायक हमारे ही साथ लड़कर चुनाव जीते हैं, उनका एक भी विधायक ऐसा नहीं है, जिसने मोदी जी का पोस्टर ना लगाया हो, आदित्य ठाकरे से लेकर शिवसेना के हर विधायक ने मोदी जी के पोस्टर लगाए थे।
भाजपा अध्‍यक्ष अमित शाह

हालांकि, इसी के आगे भाजपा अध्‍यक्ष ने यह बात भी भी कहीं कि, ‘‘क्या ये महाराष्ट्र की जनता नहीं जानती है? शिवसेना की विधानसभाओं में बीजेपी की विधानसभाओं से भी बड़े कटआउट्स मोदी जी के लगे थे! मैं पूरे महाराष्ट्र में घूमा हूं, 16 दिन मैं महाराष्ट्र में रहा हूं, शिवसेना की विधानसभाओं में भी गया हूं।’’

CM पद पर कोई आश्वासन नहीं दिया :

शिवसेना ने महाराष्ट्र के जनादेश का अपमान करने का काम किया, विधायकों के कैंप लगाने वालों, चुनाव से पहले का गठबंधन तोड़ने वालों को दोष ना देकर आज भारतीय जनता पार्टी का दोष बताया जा रहा है। गठबंधन तोड़ने के लिए शिवसेना को जिम्मेदार ठहराते हुए अमित शाह बोले- बीजेपी और शिवसेना का गठबंधन हुआ, दोनों पार्टियों को एक-दूसरे के वोट मिले, हमारे गठबंधन को बहुमत मिला, यह जनादेश सिटिंग CM देवेंद्र जी को मिला।

‘मैं दोबारा स्पष्ट करता हूं कि, हमने शिवसेना को मुख्यमंत्री पद का कोई आश्वासन कभी नहीं दिया। हमने हर बार यहां तक कि, जिन रैलियों में शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे या उद्धव जी हमारे साथ मंच पर थे, हमने वहां भी कहा कि देवेन्द्र फडणवीस महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री बनेंगे, तब इन्होंने क्यों विरोध नहीं किया?’

इसी के आगे भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा, ‘मुख्यमंत्री पद का लालच देकर समर्थन लेना खरीद-फरोख्त नहीं है क्या? मैं शरद जी और सोनिया जी को कहता हूं कि, एक बार बोलकर देखें कि मुख्यमंत्री उनका होगा और फिर शिवसेना का समर्थन लें। लगभग 100 सीटों वाला गठबंधन 56 सीट वाली पार्टी को मुख्यमंत्री पद दे रहा है ये खरीद फरोख़्त ही है।’

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।